फ्लाइनेस 1 जुलाई से रियाद और नई दिल्ली के बीच सीधी उड़ानें शुरू करेगा

फ्लाइनेस 1 जुलाई से रियाद और नई दिल्ली के बीच सीधी उड़ानें शुरू करेगा

On

रियाद, सउदी अरब. सऊदी अरब की राष्ट्रीय विमान कंपनी और मध्य पूर्व की कम बजट की एयरलाइन कंपनी, “फ्लाइनेस” ने सउदी अरब की राजधानी रियाद और भारत की राजधानी नई देल्ही के बीच 1 जुलाई से सीधी विमान सेवा की घोषणा की है.

RISHIKESH में RIVERSIDE CAMPING, ट्रिप का पूरा खर्च 1500 रुपये

RISHIKESH में RIVERSIDE CAMPING, ट्रिप का पूरा खर्च 1500 रुपये

On

ऋिषेकेश एक आध्यात्मिक नगरी है. यहां आश्रम, आरतियां, मां गंगा का स्वरूप तो है ही लेकिन साथ में एडवेंचर टूरिज्म का भी ये एक बेहतरीन स्पॉट हैं.

क्या सचमुच छोटा GOA बनता जा रहा है RISHIKESH, या मुझे ही लग रहा है!

क्या सचमुच छोटा GOA बनता जा रहा है RISHIKESH, या मुझे ही लग रहा है!

On

ऋषिकेश से हमेशा से ही मेरा एक जुड़ाव रहा है. पहाड़ का ये पहला शहर था जहां मैं कॉलेज में रहते हुए स्टडी टूर पर गया था. मां गंगा, आरतियां और पर्वतों की चोटी सब कुछ तो है इस जगह पर. पोस्ट ग्रेजुएशन में डिप्लोमा करते हुए मैं भारतीय विद्या भवन के स्टडी टूर पर पहली बार इस शहर में आया था.

Old Goa Church: इसपर क्यों नहीं टिका कोई भी क्रॉस, ड्राइवर ने सुनाया हैरत भरा इतिहास

Old Goa Church: इसपर क्यों नहीं टिका कोई भी क्रॉस, ड्राइवर ने सुनाया हैरत भरा इतिहास

On

गोवा की राजधानी पणजी में एक चर्च है जिसका नाम ‘बेसिलिका ऑफ बॉम जीसस’ है। यहां पर सेंट फ्रांसिस जेवियर का शरीर 450 साल से सुरक्षित रूप से रखा गया है। ऐसा कहते हैं कि फ्रांसिस जेवियर की डेड बॉडी में आज भी दिव्य शक्तियां मौजूद हैं, जिस वजह से ये आज तक खराब नहीं हुई है।

बाबा काशी विश्वनाथ के दर्शन का अद्भुत Travel Blog

बाबा काशी विश्वनाथ के दर्शन का अद्भुत Travel Blog

On

मंदिरों में वीआईपी सिस्टम (खासकर पैसे देकर दर्शन करना) का हमेशा से विरोधी रहा हूँ। आज से लगभग 2 साल पहले उज्जैन के महाकाल ज्योतिर्लिंग में सौगंध ली थी कि जिस मंदिर में पैसे देकर इंसान उसके सामने ‘वीआईपी’ बन जाता हो, जिसने उसे बनाया है, वहां कभी नहीं जाऊंगा।

केरल का वह कॉम्युनिस्ट नाविक कांग्रेसी भी है और भाजपाई भी

केरल का वह कॉम्युनिस्ट नाविक कांग्रेसी भी है और भाजपाई भी

On

हम नाव पर बैठे ही थे कि नाविक ने सवाल किया, ‘आपने ब्रेकफ़ास्ट किया?’ सवाल जायज़ था और ज़रूरी भी क्योंकि दिन के साढ़े नौ बज रहे थे और अगले दो घंटे हमें पानी के बीच ही रहना था जहाँ हमें कुछ नहीं मिलना था। हमने कहा, ‘हाँ, खाकर आए हैँ।’

पतंजलि नर्सरी में वह बुजुर्ग

पतंजलि नर्सरी में वह बुजुर्ग

On

हरिद्वार के पास पतंजलि हर्बल गार्डन। शाम के 6 बजे हैं। अंधेरा होने को है। गार्डन के औषधीय पौधों, झरने, गुफा, तालाब, बर्ड हाउस और ट्री हाउस का आनंद लेने के बाद हम वहाँ की नर्सरी में थे।

केरल का जटायु पर्वतः कभी सुना है इस जगह के बारे में

केरल का जटायु पर्वतः कभी सुना है इस जगह के बारे में

On

फुर्सत मिले तो केरल जटायु अर्थ सेंटर घूमने चला जाए। कोई फिल्मकार ही जटायु को इस तरह याद कर सकता है।

क्या आपने प्राकृतिक स्वास्थ्यवर्धक पेय- नीरा पीया है?

क्या आपने प्राकृतिक स्वास्थ्यवर्धक पेय- नीरा पीया है?

On

देशभर के गांधी आश्रमों में कभी अलसुबह नीरा मिल जाया करता था। अब मिलता है या नहीं? नीरा तोडी के पेड़ से निकाला जाता है, प्राकृतिक तरीके से।

1200 किमी का सफ़र अपनी बुलेट के साथ (दिल्ली से गया)

1200 किमी का सफ़र अपनी बुलेट के साथ (दिल्ली से गया)

On

हमेशा की तरह इस बार भी होली में घर नहीं जा सका. मलाल तो था, मगर मज़बूरी थी. ख़ैर, इस बार चुनाव के कारण रामनवमी में घर जाना भी असंभव लग रहा था.

%d bloggers like this: