मध्यस्थता से सुलझेगा अयोध्या विवाद, SC ने तय किए तीन नाम
  • Ayodhya Case Supreme Court Verdict अयोध्या भूमि विवाद में मध्यस्थता को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट अहम फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले का हल मध्यस्थता के जरिए निकाला जाए. इसके लिए रिटायर्ड जस्टिस इब्राहिम खलीफुल्लाह की अगुवाई में तीन सदस्यीय मध्यस्थता कमेटी गठित की गई है. इसमें श्रीश्री रविशंकर और श्रीराम पंचू शामिल हैं.
  • सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि यह पूरी मध्यस्थता की प्रक्रिया अयोध्या में होगी. इसकी कोई मीडिया रिपोर्टिंग नहीं होगी. मध्यस्थता की प्रक्रिया एक हफ्ते में शुरू हो जाना है. मध्यस्थता शुरू होने के चार हफ्ते बाद एक प्रगति रिपोर्ट मांगी है. आठ हफ्ते में मध्यस्थता की प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी. इसके बाद कमेटी को अपनी फाइनल रिपोर्ट सौंपनी होगी.
  • अदालत की निगरानी में मध्यस्थता की कार्यवाही
  • सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में फैसला सुनाते हुए CJI रंजन गोगोई ने कहा कि अदालत की निगरानी में मध्यस्थता की कार्यवाही गोपनीय तरीके से होगी. मध्यस्थता की कार्यवाही ऑन-कैमरा आयोजित की जानी चाहिए. मध्यस्थता प्रक्रिया फैजाबाद में आयोजित की जाएगी.  
  • मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि बातचीत से हल हो जाए तो बेहतर है. हम मामले में फैसला चाहते हैं.
  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर मध्यस्थों को लगता है कि इस पैनल में कुछ लोगों को शामिल किया जाए, तो वह शामिल कर सकते हैं. उत्तर प्रदेश सरकार, फ़ैज़ाबाद में मध्यस्थों को सभी सुविधाएं प्रदान करेगी. मध्यस्थ आवश्यकतानुसार और अधिक कानूनी सहायता ले सकते हैं.  

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: