Naukuchiatal में क्या क्या करें, आसपास की जगहें, कैसे पहुंचें?

नौकुचियाताल (Naukuchiatal) की दूरी नैनीताल (Nainital) से करीब 26.2 किलोमीटर की है। नैनीताल से नौकुचियाताल (Naukuchiatal) का रास्ता खूबसूरत नजारों से भरा हुआ है। इस झील के टेढ़े-मेढ़े कुल 9 कोने हैं जिसकी वजह से ही इस झील का नाम नौकुचियाताल (Naukuchiatal) पड़ गया है। चारों तरफ से हरे भरे पहाड़ियों से घिरी झील की गहराई 175 फीट है और ये झील नैनीताल जिले की सभी झीलों में सबसे गहरी है।

वैसे तो हमारे देश के लोग काफी धार्मिक हैं। भगवान में हमारी आस्था है वैसी ही इस झील का भी धार्मिक महत्व भी है। नौकुचियाताल (Naukuchiatal) के लिए लोगों की ये मान्यता है कि अगर इस ताल के नौ कोनों को कोई इंसान एक नजर में देख ले तो उसे मोक्ष प्राप्त होगा और वो हमेशा के लिए अमर हो जाएगा। लेकिन झील के किसी भी कोने से खड़े हो कर देखने पर झील के केवल 7 कोने ही दिखाए देते हैं।

झील की सुन्दरता और यहां पर की जाने वाली साहसिक गतिविधियां नौकुचियाताल (Naukuchiatal) को एक प्रमुख पर्यटन स्थल बनाते हैं। बर्डिंग यहां की प्रसिद्ध गतिविधियों में से एक है क्योंकि यहां पर पक्षियों और तितलियों की अनेक प्रजातियां पाई जाती हैं। यात्री यहां पर कई रोचक गतिविधियों में भाग ले सकते हैं जैसे कि बोटिंग, स्विमिंग, फिशिंग आदि। इसके अलावा माउंटेन बाइकिंग भी एक एड्वेंचर्स स्पोर्ट है जो कि बहुत से पर्यटकों को इस गांव में आकर्षित करता है और नौकुचियाताल (Naukuchiatal) के प्राक्रतिक स्थानों को खोजने का मौका देता है।

नौकुचियाताल में क्या क्या कर सकते हैं (What to do in Naukuchiatal)

बोटिंग (Boating in Naukuchiatal): इस खूबसूरत झील के नौ कोने होना सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र है, वहीं यहां पर बोटिंग भी बड़े पैमाने पर की जाती है। ये पर्यटकों और हनीमून कपलस के बीच में काफी मशहूर है।

मछली पकड़ना (Fishing in Naukuchiatal): जिन लोगों को मछली पकड़ने का शौक होता है, उनके लिए ये जगह काफी पसंदीदा होती है। यहां पर 20-25 पोण्ड तक की मछली आसानी से पकड़ी जाती है।

माउंटेन बाइकिंग (Mountain Biking in Naukuchiatal): ये यहां पर एक एड्वेंचर्स स्पोर्ट है जो कि बहुत से पर्यटकों को इस गांव में आकर्षित करता है और नौकुचियाताल के प्राक्रतिक स्थानों को खोजने का मौका देता है।

पैराग्लाइडिंग (Paragliding in Naukuchiatal): नौकुचियाताल में यात्रियों द्वारा की जाने वाली साहसिक गतिविधियों में सबसे प्रसिद्ध है इसीलिए इसे ‘पैराग्लाइडर्स का स्वर्ग’ भी कहा जाता है। ये गतिविधि यात्रियों को सुन्दर हरे जंगल और झील का पक्षी की आंख की तरह लुक का आनंद लेने का मौका देती है। मार्च से जून और अक्टूबर से दिसम्बर के महीने में इस स्पोर्ट के लिए सबसे उत्तम समय हैं।

कैसे जाएं नौकुचियाताल (How to Reach Naukuchiatal)

इस झील वाले गांव में एयर, रेल और सड़क के द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है। पंत नगर नौकुचियाताल के लिए सबसे नजदीकी हवाईअड्डा है जो कि यहां से करीब 55 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से कैब या बसों के द्वारा आसानी से नौकुचियाताल पहुंचा जा सकता है। वहीं काठगोदाम रेलवे स्टेशन सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। जहां से आप कैब लेकर जा सकते हैं। इसके अतिरिक्त यहां के लिए आपको आसानी से बसें नैनीताल आदि नजदीकी शहरों से मिल जाएंगी।

नौकुचियाताल जाने का सबसे अच्छा समय (Best Time to Visit Naukuchiatal)

पर्यटक इस सुन्दर गांव में गर्मियों में और मानसून के बाद यात्रा करते हैं जो कि नौकुचियाताल घूमने के लिए सबसे अच्छा समय रहता है।

आसपास घूमने की जगह (Naukuchiatal nearby Travelling Places)

नौकुचियाताल की प्राकृतिक सुन्दरता, झीलें और जंगलों आदि को खोजने के बाद पर्यटक इस नगर के आसपास की जगहों को भी घूम सकते हैं। जिसमे कई प्राचीन मंदिर और बाकी ऐतिहासिक जगहें शामिल हैं। इन प्रमुख स्थानों में भगवान हनुमान, सात-ताल, नैनीताल, अल्मोड़ा, हल्दवानी, भीमताल और 52-फीट ऊंची मूर्ति के साथ हनुमान मंदिर शामिल है। ये जगह पर्यटकों को अपने पहाड़ी इलाकों और सुस्त घास के मैदानों में ट्रेकिंग, कैम्पिंग और हाइकिंग के अवसर प्रदान भी करता है।

News Reporter
एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: