Kartarpur Corridor Journey : कैसे पहुंचे करतारपुर साहिब , Tips to Know

Kartarpur Corridor Journey : कैसे पहुंचे करतारपुर साहिब , Tips to Know

On

करतारपुर कॉरिडोर ( Kartarpur Corridor ) की यात्रा मेरी लाइफ में अब तक की सबसे यादगार यात्रा बनी. इस यात्रा ने मुझे ऐसे अनुभव दिए जो जीवनभर मेरे साथ चलेंगे. मैं इस यात्रा से जुड़ी हर बातें आपसे शेयर करूंगा. मेरे लेख अलग अलग हिस्से में आएंगे.

Devprayag Travel Guide : कब जाएं , कहां घूमें , कैसे पहुंचे – Travel Tips

Devprayag Travel Guide : कब जाएं , कहां घूमें , कैसे पहुंचे – Travel Tips

On

समुद्री तट से 2723 मीटर की ऊंचाई पर स्थित देवप्रयाग (Devprayag), उत्तराखण्ड के टिहरी गढ़वाल (Tehri Garhwal) जिले का प्रमुख धार्मिक स्थान है। अलकनंदा (Alaknanda) और भागीरथी (Bhagirathi) नदियों के संगम पर स्थित, इस शहर को संस्कृत में पवित्र संगम के नाम से संबोधित किया गया है।

Chhath Pooja : वो नदी, जिसे आज ‘छठ’ का इंतजार है…!

Chhath Pooja : वो नदी, जिसे आज ‘छठ’ का इंतजार है…!

On

हमारे देश में नदियों का जुड़ाव त्योहारों से बरसों से रहा है. नदीं और जल से जुड़ाव का ही एक पावन पर्व है छठ (Chhath). हर साल देश में करोड़ों लोग इस पावन पर्व को मनाते हैं. इस पर्व के लिए नदी, घाट या छोटा टैंक का खासा महत्व है. लेकिन तब क्या हो जब एक नदी का जुड़ाव इससे होकर भी खत्म होता सा हो.

Dharchula Travel Guide : ओम पर्वत , जौलजिबी , चिरकिला डैम घूमिए

Dharchula Travel Guide : ओम पर्वत , जौलजिबी , चिरकिला डैम घूमिए

On

धारचूला (dharchula) एक सुंदर शहर है जो उत्‍तराखंड (Uttarakhand) राज्‍य के पिथौरगढ़ (Pithoragarh) जिले में भारत और नेपाल की सीमा पर स्थित है। इस जगह का नाम हिन्‍दी भाषा के दो शब्‍दों धार और चूला से मिलकर बना हुआ है जिनका मतलब होता है धार यानी की चोटी और चूला यानी की स्‍टोव…

Chakrata Travel Guide : भूल जाएंगे स्विट्जरलैंड और यूरोप!

Chakrata Travel Guide : भूल जाएंगे स्विट्जरलैंड और यूरोप!

On

प्रकृति की सुंदरता से भरा हुआ चकराता (Chakrata) एक छावनी क्षेत्र है। यहां की खूबसूरती आपके मन में बस जाएगी। ये क्षेत्र 24 घंटे सेना की देखरेख में रहता है। टौंस नदी (Tons River) और यमुना नदी (Yamuna River) के बीच बसा हुआ ये क्षेत्र ब्रिटिश इंडियन आर्मी (British Indian Army) का छावनी क्षेत्र हुआ करता था।

Rudraprayag Travel Guide : क्यों घूमने जाएं रूद्रप्रयाग? कब जाएं? कहां जाएं?

Rudraprayag Travel Guide : क्यों घूमने जाएं रूद्रप्रयाग? कब जाएं? कहां जाएं?

On

रूद्रप्रयाग (Rudraprayag) उत्तराखंड (Uttarakhand) का एक छोटा सा कस्बा है, इसका ये नाम हिंदुओं के देवता भगवान शिव के एक अवतार ‘रूद्र’ के नाम से उत्पन्न हुआ है।

Guptkashi Travel Guide: घूमने की Best जगहें, कैसे पहुंचे, Weather Info

Guptkashi Travel Guide: घूमने की Best जगहें, कैसे पहुंचे, Weather Info

On

समुद्रतट से 1319 मीटर की ऊंचाई पर स्थित भगवान शिव के पवित्र धाम केदारनाथ (Kedarnath) से गुप्‍तकाशी (Guptkashi) सिर्फ 47 किलोमीटर नीचे स्थित है। ये शहर काफी ज्यादा धार्मिक महत्‍व रखता है और यहां पर 2 शानदार मंदिर जैसे कि अर्धनारीश्‍वर मंदिर (ArdhNarishwar Mandir) और भगवान शिव का प्रसिद्ध विश्‍वनाथ मंदिर (Vishwanath Mandir) स्‍थापित है।

Nainital-Mukteshwar Journey: मैंने दोस्त से कहा- पहाड़ छोड़कर तुमने बड़ी गलती की!

Nainital-Mukteshwar Journey: मैंने दोस्त से कहा- पहाड़ छोड़कर तुमने बड़ी गलती की!

On

मुक्तेश्वर (Mukteshwar) और मैं… नैनीताल (Nainital) की इस छोटी सी जगह के बारे में मैंने पहले काफी सुना हुआ था, खासतौर से अपने दोस्त अमित से, जिनका बचपन मुक्तेश्वर (Mukteshwar) में ही बीता था. उनके पिता आईवीआरआई में जॉब करते थे. उन्होंने मुझे मुक्तेश्वर (Mukteshwar) में बिताए अपने बचपन से जुड़ी कई बातों को साझा किया था.

Ghalib ki Haveli: गालिब की हवेली में मैंने क्या देखा?

Ghalib ki Haveli: गालिब की हवेली में मैंने क्या देखा?

On

गालिब की हवेली (Ghalib ki Haveli) में मैंने क्या देखा? ये एक ऐसा सवाल है जिसे मैंने अपने आपसे पूछा, वो भी तब जब गालिब की हवेली गए हुए मुझे 3 दिन बीत चुके थे. मुझे याद आया मैं चांदनी चौक की सड़क पर चलते हुए बल्लीमारान पहुंचा था. जूतियों की एक दुकान पर हवेली का रास्ता मैंने पूछा था. 

सेठ चुन्नामल हवेली (Chunnamal Haveli): दीवार पर आज भी 1864 वाली उर्दू लिखी है!

सेठ चुन्नामल हवेली (Chunnamal Haveli): दीवार पर आज भी 1864 वाली उर्दू लिखी है!

On

हवेली को दूर से देखकर ही मैं समझ गया था कि यही चुन्नामल हवेली (Chunnamal Haveli) होगी. पास गया तो मुख्य दरवाजे के पास संतोष सिंह नाम के शख्स मिले जो हवेली के दरवाजे पर ही थे. मैंने उनसे अंदर जाने की अनुमति मांगी तो उन्होंने कहा कि आप हवेली के मालिकों से पहले बात कर लीजिए…

Pauri, Garhwal: क्यों जाएं उत्तराखंड की इस जगह, कहां कहां घूमें?

Pauri, Garhwal: क्यों जाएं उत्तराखंड की इस जगह, कहां कहां घूमें?

On

पौड़ी (Pauri), गढ़वाल ( Garhwal) क्षेत्र का सबसे मशहूर जिला है, जो कि प्राकृतिक सुंदरता से भरा हुआ है। ये एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है जो कि समुद्र तल से 1650 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। ये स्थान उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल (Pauri Garhwal) जिले के जिला मुख्यालय है। देवदार के जंगलों से ढका हुआ और कंडोलिया पहाड़ी के उत्तरी ढलानों पर स्थित ये स्थान पर्यटकों के लिए एक दिल को छू लेने वाला नजारा लिए बैठा है।

Pithoragarh Travel Guide: आपको क्यों घूमनी चाहिए Uttarakhand की ये जगह

Pithoragarh Travel Guide: आपको क्यों घूमनी चाहिए Uttarakhand की ये जगह

On

पिथौरागढ़ (pithoragarh) उत्तराखंड (Uttarakhand) का सबसे पूर्वी जिला है, जो कि पूर्व में नेपाल (Nepal) और उत्तर में तिब्बत (Tibet) से घिरा हुआ है। ये अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए लोकप्रिय है और इसे “लिटिल कश्मीर” (Little Kashmir) भी कहा जाता है।

Mount Everest : ये फैक्ट्स नहीं जानते होंगे आप?

Mount Everest : ये फैक्ट्स नहीं जानते होंगे आप?

On

माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) पर चढ़ना हर किसी के लिए एक बड़ी बात होती है। ये दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत है जिसकी समुंद्र तल से ऊंचाई 8,850 मीटर है और नेपाल में स्थित है। जिसकी पूरे विश्व में लोकप्रियता है।

Amarnath Yatra: कैसे करें रजिस्ट्रेशन? यात्रा रूट, पूरी जानकारी

Amarnath Yatra: कैसे करें रजिस्ट्रेशन? यात्रा रूट, पूरी जानकारी

On

बाबा बर्फानी के दर्शन यानी कि अमरनाथ यात्रा की शुरुआत हर साल जुलाई महीने में होती है. अमरनाथ यात्रा के लिए यात्रियों के रजिस्ट्रेशन की शुरुआत 1 अप्रैल से होती है. इसमें यात्रा के दोनों मार्ग बालटाल और पहलगाम से यात्रा करने वाले श्रद्धालु आवेदन कर सकते हैं.

Naukuchiatal में क्या क्या करें, आसपास की जगहें, कैसे पहुंचें?

Naukuchiatal में क्या क्या करें, आसपास की जगहें, कैसे पहुंचें?

On

नौकुचियाताल (Naukuchiatal) की दूरी नैनीताल (Nainital) से करीब 26.2 किलोमीटर की है। नैनीताल से नौकुचियाताल (Naukuchiatal) का रास्ता खूबसूरत नजारों से भरा हुआ है। इस झील के टेढ़े-मेढ़े कुल 9 कोने हैं जिसकी वजह से ही इस झील का नाम नौकुचियाताल (Naukuchiatal) पड़ गया है।

Mukteshwar Travel Guide: कहां घूमें, कैसे पहुंचें, Mukteshwar Mahadev Mandir भी

Mukteshwar Travel Guide: कहां घूमें, कैसे पहुंचें, Mukteshwar Mahadev Mandir भी

On

मुक्तेश्वर (Mukteshwar) उत्तराखंड राज्य के नैनीताल जिले में स्थित एक ग्राम पंचायत है। ये समुन्द्र तल से 2286 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। अंग्रेजी दौर में बने खूबसूरत हिल स्टेशन मुक्तेश्वर (Mukteshwar) को “मुक्ति के ईश्वर”, संसार की बुरी शक्तियों के संहारक “भगवान शिव का घर” भी कहा जाता है।

Bageshwar Travel Guide – बागेश्वर टूरिज्म, ट्रैवल Tips, कैसे पहुंचें

Bageshwar Travel Guide – बागेश्वर टूरिज्म, ट्रैवल Tips, कैसे पहुंचें

On

बागेश्वर (Bageshwar) हिमालय का एक खूबसूरत गहना है, जो कि बर्फीली घाटियों, पहाड़ और आरामदायक मौसम के लिए जाना जाता है। एक शानदार छुट्टी के लिए ये जगह एक आदर्श विकल्प है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव यहां पर बाघ के रूप में रहने आए थे।

Kausani Tourism – ट्रैवल गाइड, देखने के लिए BEST PLACES, बागेश्वर भी

Kausani Tourism – ट्रैवल गाइड, देखने के लिए BEST PLACES, बागेश्वर भी

On

समुद्र तल से 6075 फीट की ऊंचाई पर बसा कौसानी (Kausani) एक खूबसूरत पर्वतीय पर्यटक स्थल है। विशाल हिमालय के अलावा यहां से नंदाकोट, त्रिशूल और नंदा देवी पर्वत का भव्य नजारा देखने को मिलता है।

Munsiyari Travel Guide: कब जाएं, कैसे जाएं, Best Places to Visit

Munsiyari Travel Guide: कब जाएं, कैसे जाएं, Best Places to Visit

On

मुनस्‍यारी (Munsyari) विशाल हिमालय की तलहटी पर स्थित उत्तराखंड का खूबसूरत हिल स्टेशन है। राज्य के पिथौरागढ़ जिले के अंतर्गत ये पहाड़ी जगह अपने मनमोहक वातावरण के लिए पूरे विश्व में प्रसिद्ध है।

Joshimath Tourism, Uttarakhand – कहां कहां घूमें, कैसे पहुंचे, Auli Ropeway भी खास

Joshimath Tourism, Uttarakhand – कहां कहां घूमें, कैसे पहुंचे, Auli Ropeway भी खास

On

जोशीमठ (Joshimath) एक पवित्र शहर है जो कि उत्‍तराखंड (Uttarakhand) के चमोली (Chamoli) जिले में स्थित है। समुद्र स्‍तर से 6000 फीट की ऊंचाई पर स्थित ये शहर बर्फ से ढकी हिमालय पर्वतमालाओं से घिरा हुआ है। ये स्‍थल हिंदू धर्म के लोगों के लिए प्रतिष्ठित जगह है और यहां पर कई मंदिर भी स्‍थापित हैं।

Chandigarh, A Delightful Visit To The Green City Of India 

Chandigarh, A Delightful Visit To The Green City Of India 

On

India is one of the most famous travel destinations in the world. With so much to offer, this place is like a paradise for every interest. The rich history of the country attracts millions of travelers every year. It’s not only the history of India but, so much more you can experience here.

Rajaji National Park, ऋषिकेशः क्या करें, कैसे जाएं? Tickets और Entries की जानकारी

Rajaji National Park, ऋषिकेशः क्या करें, कैसे जाएं? Tickets और Entries की जानकारी

On

राजाजी नेशनल पार्क (Rajaji National Park) ऋषिकेश (Rishikesh) से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और 820.42 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। साल 1983 में बना ये पार्क मोतीचूर अभ्यारण, चिल्ला अभ्यारण्य और राजाजी अभ्यारण्य नाम के अभ्यारण्यों से मिलकर बना है।

Bhimtal, Nainital: कब जाएं, कैसे पहुंचे, भीमताल में क्या क्या देखें

Bhimtal, Nainital: कब जाएं, कैसे पहुंचे, भीमताल में क्या क्या देखें

On

भीमताल (Bhimtal) उत्‍तराखंड के नैनीताल (Nainital) जिले में स्थित एक सुंदर सा शहर है जो कि समुद्र तल से 1370 मीटर की ऊंचाई पर बसा हुआ है। ऐतिहासिक किस्सों के अनुसार एंग्‍लो-नेपाली युद्ध के बाद साल 1814 से साल 1816 के दौरान इस शहर पर ब्रिटिश लोगों का शासन था।

गढ़वाल रेजिमेंट का गढ़ है लैंसडाउन (Lansdowne), घूमने के लिए है बहुत कुछ

गढ़वाल रेजिमेंट का गढ़ है लैंसडाउन (Lansdowne), घूमने के लिए है बहुत कुछ

On

उत्तराखंड के गढ़वाल में स्थित लैंसडाउन (Lansdowne) एक बेहद ही खूबसूरत सा हिल स्टेशन है। समुद्र तल से इसकी ऊंचाई लगभग 1706 मीटर है।

उत्तराखंडः गढ़वाल के कानाताल (Kanatal) में कहां घूमें, कैसे जाएं?

उत्तराखंडः गढ़वाल के कानाताल (Kanatal) में कहां घूमें, कैसे जाएं?

On

कानाताल (Kanatal) एक छोटा सा गांव है जो कि उत्तराखंड के टेहरी गढवाल जिले में चंबा – मसूरी हाइवे पर स्थित है। ये सुंदर गांव समुद्र तल से 8500 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। आसपास रहने वाले लोगों के लिए ये एक प्रसिद्द सैरगाह है।

धनौल्टी (Dhanaulti) में Trekking, Camping, Mountain Biking के अलावा भी है काफी कुछ

धनौल्टी (Dhanaulti) में Trekking, Camping, Mountain Biking के अलावा भी है काफी कुछ

On

उत्तराखंड के मशहूर हिल स्टेशन मसूरी से सिर्फ 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित खूबसूरत हिल स्टेशन धनौल्टी जो कि यहां पर आने वाले पर्यटकों को काफी ज्यादा पसंद आता है। और इन पर्यटकों के लिए ये हिल स्टेशन किसी जन्नत से कम नहीं है।

Yamunotri Dham: कहां-कहां घूमें, कैसे पहुंचे, BEST TREK SPOTS

Yamunotri Dham: कहां-कहां घूमें, कैसे पहुंचे, BEST TREK SPOTS

On

उत्तर भारत में 4 धाम काफी मशहूर है जो कि उत्तराखंड के अंदर है, जिनमें बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री शामिल है। ये छोटे धाम के नाम से भी जाने जाते हैं और इनका हिंदू धर्म में अलग ही महत्व है।

Gangotri Travel Guide: कैसे जाएं, कहां घूमें, Trekking का भी ले मजा

Gangotri Travel Guide: कैसे जाएं, कहां घूमें, Trekking का भी ले मजा

On

उत्तराखंड के उत्तरकाशी (Uttarkashi) जिले में स्थित गंगोत्री (Gangotri) एक लोकप्रिय तीर्थस्थल है।यह समुद्र तल से 3750 मीटर की ऊंचाई पर हिमालय पर्वतमाला में स्थित है।

Auli Travel Tips: कब जाएं, कहां घूमें, जोशीमठ-छत्राकुंड को भी जानें

Auli Travel Tips: कब जाएं, कहां घूमें, जोशीमठ-छत्राकुंड को भी जानें

On

औली (Auli) एक बहुत ही खूबसूरत पर्यटन स्थल है जो कि पूरी दुनिया में स्कीइंग के लिए काफी ज्यादा फेमस है। ये खूबसूरत जगह समुद्रतल से लगभग 2800 मी की ऊंचाई पर स्थित है। ये जगह ओक धार वाली ढलानों और सब्ज शंकुधारी जंगलों के लिए पहचानी जाती है।

गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ, बद्रीनाथ… क्या है इनकी पौराणिक कथा!

गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ, बद्रीनाथ… क्या है इनकी पौराणिक कथा!

On

उत्तराखंड के चार धाम या फिर छोटे 4 धाम का हिंदू धर्म में काफी महत्व है।ये उत्तराखंड की 4 सबसे पवित्र जगहों से बना है, इनमें बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री शामिल है। ये चारों जगह एक टूरिस्ट प्लेस के रूप में सामने कब आई ये कोई नहीं जानता है।

Badrinath Travel Guide: Gomukh और Yamunotri के अलावा कहां घूम सकते हैं?

Badrinath Travel Guide: Gomukh और Yamunotri के अलावा कहां घूम सकते हैं?

On

बद्रीनाथ मंदिर जिसे बद्रीनारायण मंदिर भी कहते हैं। ये अलकनंदा नदी के किनारे में बसा है। ये मंदिर भगवान विष्षु के रूप बद्रीनाथ को समर्पित है। ये मंदिर हिंदूओं के 4 धामों में से एक है।

Binsar Travel: How to Reach? Where to Travel? Key Points

Binsar Travel: How to Reach? Where to Travel? Key Points

On

उत्तराखंड के अल्मोड़ा स्थित बिनसर (Binsar), एक खूबसूरत पहाड़ी पर्यटन स्थल है, जिसके वन्य जीवन को देखते हुए अब इसे एक वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी में ही तब्दील कर दिया गया है। झांडी ढार नाम की पहाड़ी पर स्थित ये पर्वतीय स्थल, अपने रोमांचक दृश्यों के लिए मशहूर है।

Chopta Travel: Tungnath, Chandrashila Trek, Other Best Places to visit

Chopta Travel: Tungnath, Chandrashila Trek, Other Best Places to visit

On

जब बात आत्मिक और मानसिक शांति की आती है, तो इंसान प्रकृति की तरफ अपना रूख करता है। भारत का उत्तरी राज्य उत्तराखंड कुछ ऐसा ही है, जो अपनी तरोताजा कर देने वाली आबोहवा और अद्भुत भौगोलिक विविधताओं के लिए पहचाना जाता है। प्रकृति के खूबसूरत नजारें यहां पर काफी करीब से देखें जा सकते हैं।

<font color=”#DC143C”>PROMOTION:</font> अपनों से बांटे प्यार, दीजिए ये BEST GIFTS

PROMOTION: अपनों से बांटे प्यार, दीजिए ये BEST GIFTS

On

आज कल की इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी मे जहाँ हमारे पास खुद के लिए भी वक़्त नहीं हैं, ऐसे मे अपने चाहने वालों को स्पेशल फील करवाने के लिए उन्हें समय देना और बिना किसी मौके के गिफ्ट देना बहुत ज़रूरी हैं.

चमोली (Chamoli) में घूमने के लिए ये जगहें है BEST, Valley of Flower भी है यहीं

चमोली (Chamoli) में घूमने के लिए ये जगहें है BEST, Valley of Flower भी है यहीं

On

दूर-दूर तक नम घास की चादर, पहाड़ी घाटियों से होकर गुजरती शीतल हवा और साथ में बहती नदियों का संगीतमय आगाज।

Pithoragarh Travel Blog: पिथौरागढ़ जिसे प्रकृति ने अपने हाथों से सजाया है भाग -3

Pithoragarh Travel Blog: पिथौरागढ़ जिसे प्रकृति ने अपने हाथों से सजाया है भाग -3

On

कल हम चम्पवात से बाहर निकल गए थे! चम्पवात जिला मुख्यालय से वैसे लोहाघाट १३ किलोमीटर दूर है लेकिन कल हमने जहाँ यात्रा को विराम दिया था वहां से ८ किलोमीटर की दूरी है लोहाघाट की! अब तक हमारे दोनों तरफ देवदार के वृक्षों की एक भरी पूरी शृंखला शुरू हो गयी थी !

अलमोड़ा में ये हैं BEST TRAVEL DESTINATIONS, आप कहां जाएंगे?

अलमोड़ा में ये हैं BEST TRAVEL DESTINATIONS, आप कहां जाएंगे?

On

अल्मोड़ा जहां पर दूर दूर तक फैले हुए है बर्फ के पहाड़, उनपर बिखरी हुई है रुई जैसी सफेद बर्फ, फूलों से भरे हुए खुशबूदार पेड़, मुलायम घास, चांदी की तरह गिरते हुए झरने और मन को मोह लेने वाले प्राकृतिक दृश्य। इन्हें देख कर ऐसा महसूस होता है जैसे अल्मोड़ा खूबसूरत विशाल पहाड़ों की गोद में आराम कर रहा है।

%d bloggers like this: