Malana Village : यहां हैं सिकंदर के वंशज, ‘अछूत’ रहते हैं टूरिस्ट

1952 में वेल्श के मानवविज्ञानी कोलिन रोसर मलाना (Malana) आए और उन्होंने हरमित गांव पर अपने सेमिनल पेपर लिखे. मलाना (Malana) आने के लिए उन्हें नगर से 45 किलोमीटर पैदल चलना पड़ा था.

Read more