शिलांग ( Shillong ) की Umiam Lake के सामने फेल है अमेरिका की बरमूडा झील

Umiam Lake – उमियम झील मेघालय की सबसे बड़ी कृत्रिम झीलों में से एक है जो शिलांग से लगभग 15 किमी दूर स्थित है. इसे ज्‍यादा आसानी से बारा पानी या बड़े पानी के रूप में पहचाना जाता है, और यह झील लगभग 220 वर्ग किमी क्षेत्र में पसरी है. चारों और की सिल्वन पहाड़ियों और हरे खासी चीड़ के पेड़ इस विशाल झील के खूबसूरती को बढ़ाते हैं. पनबिजली उत्पादन के लिए पानी का भंडारण करने के लिए उमियम नदी पर बांध बांधते समय इसे बनाया गया था. हालांकि इसे शुरू में बांध या जलाशय के रूप में स्थापित किया गया था, लेकिन अब यह एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है. यह पानी के खेल और एडवेंचर सुविधाओं जैसे कायॅकिंग, वॉटर साइकिलिंग, स्कूटिंग और बोटिंग के लिए भी जाना जाता है.

मेघालय की वो रहस्यमयी गुफा जहां मिली थी डायनासोर की हड्डियां

झील के सुरम्य और भव्‍य पर्यावरण के चलते इसकी तुलना अक्सर स्कॉटलैंड की खूबसूरत झीलों से होती है. इसके तट के निकट एक सुंदर बगीचा है लुम नेहरू पार्क, जो पक्षी-अध्‍येताओं के लिए एक अनिवार्य स्थल है. एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल होने के अलावा, यह पार्क अपने ऑर्किड-घर, पक्षीशाला और विशाल घास-मैदानों के लिए भी जाना जाता है. यह दोनों ओर विशाल देवदार के पेड़ों के साथ पटा पड़ा है और यहां खूब खुली जगह है, जहां बच्‍चे खूब मज़े से खेल सकते हैं.

भारत का सबसे अनोखा गांव है Mawlynnong Village, यहां बेटी होती है जायदाद की मालिक

Umiam Lake  मानव निर्मित होने के साथ अमेरिका की बरमूडा झील से भी बड़ी है. इसे निहारने पर इसकी सुंदरता व भव्यता के साथ इंसान के प्राकृतिक प्रेम, साहस व निष्ठा का भी अनूठा परिचय होता है. चेरापूंजी के पास नोहकलिकाई झरना को भारत के सबसे ऊंचे झरने होने का दर्जा प्राप्त है. इसकी केवल एक धारा जो लगभग 75 फीट चौड़ी है, सीधे 1115 फीट यानी 340 मीटर की ऊंचाई से गिरती है. इसे देखकर रोमांचित होना स्वाभाविक है.

मेघालयः एशिया का सबसे स्वच्छ गांव, जो भारत के शहरों को मुंह चिढ़ाता है

इस झील के आसपास पर्यटक कई वाटर स्पोर्ट्स का मजा ले सकते हैं, जिसमे नौकायन, मछली पकड़ने, पानी के सायकलिंग और कयाकिंग शामिल हैं. झीलों का ऐसा नजारा भारत के अलावा कहीं और नहीं मिलेगा. पर्यटक वाटर स्पोर्ट्स के अलावा यहां खासी पहाड़ियों पर ट्रैकिंग का मजा भी ले सकते हैं. अगर आप फोटोग्राफी के शौकीन हैं तो, यहां के मनमोहक नजारों को अपनी बेहतरीन फोटोग्राफी की कला से कैमरे में कैद करना न भूलें.

शिलांग कैसे पहुंचें | How to Reach Shillong

By Air – सबसे पास बड़ा हवाई अड्डा गुवाहाटी है जो 128 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यहां से आप शेयर्ड टैक्सी करके शिलांग पहुंच सकते हैं. इसके आलावा यहां से रविवार को छोड़ कर बाकी दिन शिलांग के लिए हेलीकॉप्टर सेवा भी उपलब्ध है.

By Train – सबसे नज़दीकी रेलवे स्टेशन गुवाहाटी ही है जो 104 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यहां से शिलांग पहुंचने के लिए मेघालय ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन की बसें उपलब्ध हैं. इसके आलावा आप यहां से प्राइवेट टैक्सी भी ले सकते हैंय

By Road – शिलांग सड़क मार्ग से बाकी देश से जुड़ा हुआ है और यहां पहुंचने के लिए अच्छी सड़कें हैं.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे