Agastyamuni है Agastya Rishi का घर, यहां सालों की थी उन्होंने तपस्या

अगस्त्यमुनि ( Agastyamuni ) 1000 मीटर की ऊंचाई पर मन्दाकिनी नदी ( Mandakini River ) के तट पर स्थित है. ये स्थान प्रसिद्ध हिन्दू मुनि अगस्त्य ऋषि ( Agastya Rishi ) का घर माना जाता है जिन्होंने यहां पर सालों तक तपस्या की थी. स्थानीय लोग इस मन्दिर को अगस्तेश्वर महादेव मन्दिर ( Agasteshwar Mahadev Mandir ) भी कहते हैं.

मन्दिर के पत्थर की दीवारों पर आगन्तुक प्रख्यात हिन्दू देवी-देवताओं के तराशे गए चित्र को देख सकते हैं. मन्दिर में आयोजित होने वाले विभिन्न प्रकार के मेलों में शामिल होने के लिए भारी संख्या में पर्यटक यहां पर आते हैं. बैसाखी का त्योहार यहां पर काफी हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है और इस दौरान मन्दिर में भक्तों की भीड़ दूर दराज के क्षेत्रों से आती है.

मन्दिर के पास की मन्दाकिनी नदी ( Mandakini River ) में मछलियों के शौकीन मछलियां पकड़ सकते हैं. ये स्थान केदारनाथ मन्दिर ( Kedarnath Mandir ) तक ले जाने वाले पवन हंस हेलीकॉप्टर सेवा के लिये आधार है. पास के ही होटल और वन विभाग के अतिथिगृह में पर्यटकों के लिए खाने और ठहरने की सुविधायें उपलब्ध हैं.

इस जगह पर आप जब भी घूमने आए तो अगस्त्यमुनि मंदिर ( Agastyamuni Mandir ) जरूर जाएं. ये यहां कि प्रमुख आकर्षण में से एक हैं. जिसे देखने के लिए हर साल हजारों की संख्या में लोग आते हैं. यहां के इतिहास और आध्यात्मिकता में आप खो जाएंगे. ये मन की शांति के लिए एकदम उचित जगह है.

यहां आकर आप यहां के लोकल फूड जरूर खाएं, जो कि गढ़वाली और कुमावनी है जैसे कि आलू के गटके, गाहत, कापा. जब भी आप यहां जाने की योजना बनाएं तो सबसे पहले सड़कों के बारे में जानकारी जरूर लें, क्योंकि यहां पर कई बार सड़कों की हालत काफी नाजुक होती है. कई बार लैंडस्लाइड की वजह से रास्ते भी बंद कर दिए जाते हैं.

कब जाएं अगस्त्यमुनि ( Best Time to Visit Agastyamuni )
साल में बस तीन महीनों को छोड़कर आप कभी भी अगस्त्यमुनि ( Agastyamuni ) जा सकती है. ये महीने जुलाई से सितंबर के हैं. बाकि पूरा साल बिलकुल ठीक है, जब आप यहां जा सकते हैं. सर्दियों के मौसम में ये जगह और भी ज्यादा ठंडी हो जाती है.

कैसे पहुंचे अगस्त्यमुनि ( How to reach Agastyamuni )
अगस्त्यमुनि ( Agastyamuni ) पहुंचने के लिए यात्री हवाई, रेल, सड़क तीनों रास्तों से जा सकते हैं. यहां का नजदीकी हवाई अड्डा देहरादून का जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है जो कि 107 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यहां से आपको आसानी से कैब या पब्लिक बसें मिल जाएंगी, जो कि अगस्त्यमुनि ( Agastyamuni ) तक जाती है.

वहीं अगर आप ट्रेन से जाना चाहते हैं तो ऋषिकेश का रेलवे स्टेशन सबसे पास है जो कि करीब 87 किलोमीटर दूर है, वहां से आपको अगस्त्यमुनि ( Agastyamuni ) के लिए टैक्सी और बसें मिल जाएंगी. जो कि आपको सीधा ऋषिकेश रेलवे स्टेशन के बाहर से ही मिल जाएगी.

अगस्त्यमुनि ( Agastyamuni ) अच्छी तरह से सड़कों के जरिये पहुंचा जा सकता है. ये उत्तराखंड के हर बड़े शहर से जुड़ा हुआ है. इसके अलावा देश के अन्य शहरों से भी यहां के लिए बसें मिल जाती है.

Taranjeet Sikka

एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।