Nanda Devi National Park में Trekking, कैसे पहुंचे? क्या है BEST TIME

नंदा देवी ( Nanda Devi ) (7817 मीटर) के आसपास के क्षेत्र में, भारत की दूसरी सबसे ऊंची चोटी, नंदादेवी राष्ट्रीय पार्क ( Nanda Devi National Park ) स्थित है, जिसमें दुनिया की सबसे अनोखी ऊंचाई वाली वनस्पतियां और जीव हैं. शानदार दृश्य, सिल्वन वातावरण और जीवमंडल की समृद्धि इसे भारत के अन्य वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी से काफी अलग बनाती है. इसके आसपास के क्षेत्र में फूलों की घाटी ( Valley of Flower ) , बद्रीनाथ मंदिर ( Badrinath Mandir ) और हेमकुंड साहिब (Hemkund Sahib) हैं.

नंदा देवी राष्‍ट्रीय पार्क ( Nanda Devi National Park ) एक लोकप्रिय पर्यटन स्‍थल है जो कि जोशीमठ से लगभग 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ये नेशनल पार्क, 630 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है जो कि चारों तरफ से नंदा देवी पर्वत से घिरा हुआ है. नंदा देवी पर्वत, देश की दूसरी सबसे ऊंची पर्वत श्रृंखला है. साल 1988 में इस पार्क को संयुक्‍त राष्‍ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्‍कृतिक संगठन (यूनेस्‍को) के द्वारा विश्‍व विरासत स्‍थल घोषित किया गया था.

इसके अलावा, ये पार्क वेस्‍टर्न हिमालय एंडेमिक बर्ड एरिया (ईबीए) के अंतर्गत भी आता है. नंदा देवी राष्‍ट्रीय पार्क ( Nanda Devi National Park ) में आकर पर्यटक, हिम तेंदुआ, हिमालयन काला भालू, सिरो, भूरा भालू, रूबी थ्रोट, भरल, लंगूर, ग्रोसबिक्‍स, हिमालय कस्‍तूरी मृग और हिमालय तहर को देख सकते हैं. इस राष्‍ट्रीय पार्क में लगभग 100 प्रजातियों की चिड़ियों का प्राकृतिक आवास है. यहां पर आमतौर पर देखी जाने वाली चिड़ियां औरेंज फ्लैंक्‍ड बुश रॉबिन, ब्‍लू फ्रांटेड रेड स्‍टार्ट, येलो बिल्‍लाइड फेनटेल फ्लाईकैचर, इंडियन ट्री पिपिट और विनासिॅयास ब्रेस्‍टेड पिपिट हैं. इस पार्क में चिड़ियों के अलावा, लगभग 312 प्रजातियों के सुंदर फूल और खूबसूरत ति‍तलियां भी देखी जा सकती हैं.

यात्रा करने का सबसे अच्छा समय ( Best Time to Visit Nanda Devi National ParK )
ज्यादा ऊंचाई पर होने के कारण, नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क ( Nanda Devi National Park ) की जलवायु अलग है। साल के 6 महीनों के लिए, क्षेत्र एक बर्फ की चादर के नीचे रहता है। बाकी साल के लिए, इस क्षेत्र में जून से अगस्त तक भारी बारिश के साथ शुष्क जलवायु होती है. अप्रैल से जून ऐसे महीने होते हैं जब तापमान थोड़ा बढ़ जाता है और वो ऐसे महीने होते हैं जब कोई भी इस जगह पर जा सकता है.

यहां तक कैसे पहुंचे ( How to Reach Nanda Devi National Park )
आप यहां पर हवाई जहाज के द्वारा आ सकते हैं. यहां का सबसे निकटतम हवाई अड्डा देहरादून के जॉली ग्रांट हैं. जो कि नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क से लगभग 295 किलोमीटर की दूरी पर है. इस हवाई अड्डे से आपको आसानी से बसें मिल जाएंगी जो कि जोशीमठ तक जाती है फिर वहां से आप टैक्सी से जा सकते हैं. नहीं तो आप सीधा देहरादून से ही टैक्सी ले सकते हैं.

वहीं ट्रेन के द्वारा अगर आप जाना चाहते हैं तो निकटतम रेल हेड ऋषिकेश का है जो कि यहां से 276 किलोमीटर की दूरी पर है. यहां से भी ठीक उसी तरह जाएंगे जैसे हवाईअड्डे से जाना हैं, बस लेकर आपको जोशीमठ औऱ फिर वहां से कैब या फिर सीधा हरिद्वार से ही कैब लेकर जा सकते हैं. जोशीमठ हर तरह की बसें पहुंचती है और ये जगह अच्छे से सड़क रास्तों से जुड़ा हुआ है औऱ जोशीमठ से आप काफी आसानी से नंदा देवी पहुंच सकते हैं.

ट्रेकिंग ( Nanda Devi National Park Trek )
नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क ( Nanda Devi National Park ) अडवेंचर लवर्स के लिए एक आदर्श जगह है, यहां से ट्रेकिंग और हाईकिंग का मजा ले सकते हैं. यहां की ट्रेकिंग काफी मुश्किल मानी जाती है. इस ट्रेक का बेस कैंप लिलम होता है, जहां से आप बुगडियर, गौरी गंगा, मिलम गांव, ल्वानी और फिर नंदा देवी पहुंचते हैं. इस ट्रेकिंग को विश्व की सबसे मुश्किल ट्रेकिंग में से एक माना जाता है.

आपको बता दें कि नंदा देवी पार्क ( Nanda Devi National Park ) में कई तरह की मनाही है आप पहले ही उनके बारे में जानकारी लेकर और उन्हें समझ कर वहां जाएं क्योंकि यहां पर एक साथ सभी को जाने की अनुमति नहीं है पहले आपको यहां जाने के लिए अनुमति लेनी होती है. वहीं ट्रेकिंग के लिए भी आपको अनुमति लेनी होती है और सिर्फ फिट लोग ही इस ट्रेक को करें.

Taranjeet Sikka

एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।