Humpta Pass Trek : हम्प्टा ट्रेक हिमालय के बेस्ट ट्रेकिंग जगहों में से एक

Humpta Pass Trek : हम्प्टा पास ट्रेक हिमाचल प्रदेश के कुल्लू मनाली के लाहुल के पास स्थित है. हम्प्टा ट्रेक हिमालय के बेस्ट ट्रेकिंग जगहों में से एक है. हम्प्टा ट्रेक बर्फ से घिरे पहाड़ों के बीच स्थित है. हम्प्टा ट्रेक को पूरा करने में पांच दिन लगते हैं. हम्प्टा ट्रेक तक पहुंचने के लिए मनाली सबसे बेस्ट आप्शन है.

मनाली से दिल्ली और चंडीगढ़ के लिए आसानी से बसे भी मिल जाती हैं. हम्प्टा ट्रेकिंग के दौरान आप हिमाचल प्रदेश की खूबसूरत वादियों से रूबरू होंगे.यहां के खूबसूरत व्यू पर्यटकों को भा जाते है. हम्प्टा समुद्री स्तर से करीबन 14100 की ऊंचाई पर स्थित है. इस ट्रेकिंग की शुरुआत कुल्लू से होती है और लाहुल में खत्म होती है.

Adventure Trip Near Dehradun: एडवेंचर ट्रिप कर रहे हैं Plan, तो ये हैं बेस्ट Places

हम्प्टा पास एक क्रॉसओवर ट्रेक है जहां हर कुछ दूरी पर व्यू बदलते रहते हैं क्योंकि यह ट्रेक कुल्लू क्षेत्र की हरी-भरी हरियाली से शुरू होकर स्पीति के शुष्क पहाड़ों में समाप्त होती है. यह एक ऑल इन वन ट्रेक है जहां आप (मेपल, ब्रिच, ओक, देवदार) के अल्पाइन जंगलों से गुजरते हैं और विस्तृत घास के मैदानों में प्रवेश करते हैं.

बीच-बीच में नदियों, झरनों की धाराओं के बगल में ट्रेकिंग करते हैं. एक बार जब आप स्नोलाइन की शुरुआत तक पहुंच जाते हैं तो फिर बिल्कुल सीधी खड़ी चढ़ाई चढ़नी होती है. पूरे ट्रेक में आपको बेहद कमाल के पहाड़ी जंगली फूलों की एक अनूठी किस्म दिखाई देती है.

समय और लोकेशन|| time and location

हम्पटा पास ट्रेक 5-6 दिन का ट्रेक है जो हिमाचल प्रदेश के मनाली से शुरू होता है. यह खूबसूरत ट्रेक खूबसूरत  झरनों, फूलों और मेपल के जंगलों से घिरा हुआ है. यह शुरुआती लोगों के लिए सबसे सही है क्योंकि इसमें भी काफी एडवेंचर करने को मिलता है. इसलिए, हम्पटा पास खुद मनाली नामक “देवताओं की घाटी” को “द मिडिल लैंड” से जोड़ता है जिसे स्पीति घाटी कहा जाता है.

अमूमन लोग हम्पटा पास से निकलकर चंद्रताल झील की ओर बढ़ते हैं. ट्रेक के आखिरी दिन अगर सड़कें खुली होंगी तो आपको अद्भुत चंद्रताल झील देखने का भी मौका मिलेगा.

वैसे आपको हम्पटा पास ट्रेक के लिए ज्यादा परिस्थिति-अनुकूलन ढलने के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है. हालांकि, जैसा कि आप 14000 फीट तक जा रहे हैं, हमेशा आराम करने और इस ट्रेक की सुंदरता का आनंद लेने की सलाह दी जाती है.

हम्पटा पास ट्रेक करने का सबसे अच्छा समय || Best time to trek Hampta Pass

यह ट्रेक जून से सितंबर तक चलती है, लेकिन हम्पटा पास ट्रेक के लिए जाने का सबसे अच्छा मौसम मानसून के समय को छोड़कर जून के मध्य से सितंबर तक है. जून के शुरुआती महीने में ऐसा हो सकता है कि चंद्रताल झील तक जाने वाले रास्ते न खुलें.अर्धचंद्राकार इस झील की यात्रा करना, इसकी सतह पर आकाश को चमकता देखना एक बेस्ट मेमोरी होगा और यह एक न भूलने वाला अनुभव होता है. आप इस समय के दौरान हम्पटा पास ट्रेक तो कर ही सकते हैं.

Best Place to Visit in Mussoorie: ‘पहाड़ों की रानी’ मसूरी में घूमने के लिए बेस्ट जगहें

हम्पटा पास ट्रेक का बजट || budget for humpta pass trek

हम्पटा पास ट्रेक दो तरह से हो सकती है. एक तो आप खुद से करें या किसी ट्रेकिंग कंपनी के जरिए. अगर आप बिगनर ट्रेकर हैं तो ट्रेकिंग कंपनी के जरिए ही करें. इसके लिए ट्रेकिंग कंपनियां कई ऑप्शन देती हैं.जैसे दिल्ली टू दिल्ली या चंडीगढ़ टू चंडीगढ़ या फिर मनाल टू मनाली.उसी के हिसाब से बजट तय होता है. आप मान के चलिए कि मनाल टू मनाली पैकेज में आप 7500 रुपये में हम्पटा पास ट्रेक कर सकते हैं. इसके अलावा अगर आप खुद से करते हैं तो खर्चा थोड़ा कम आएगा.

हम्प्टा पास ट्रेक के बेस कैंप की जगह||Humpta Pass Trek Base Camp

हम्पटा पास ट्रेक जोबरा से शुरू होती है जो मनाली से लगभग 30 किमी दूर है. नेचर का मजा लेने के लिए इस खूबसूरत ट्रेक पर बड़ी संख्या में ट्रेकर्स आते हैं.

हम्पटा पास का मौसम कैसा रहता है || How is the weather of Humpta Pass

गर्मी या मानसून का मौसम ट्रेक के लिए सबसे पसंदीदा समय होने के कारण, आपको हिमालय के खूबसूरत मौसम का अनुभव मिलेगा. सीजन की शुरुआत के दौरान आप उम्मीद करते हैं कि इस क्षेत्र के चारों ओर बर्फबारी होगी.

Nainital Tour Guide: नैनीताल घूमने के लिए ये हैं 8 Best जगहें

जुलाई के आसपास बर्फ पिघलने लगती है, हालांकि, आपको जुलाई के मध्य से मनाली साइड में बारिश की उम्मीद करनी चाहिए. जैसा कि हम जानते हैं, स्पीति घाटी में मानसून का अनुभव नहीं होता है और आपको इस मौसम में तेज धूप (और इंद्रधनुष, तितलियों) का अनुभव होगा.

हम्पटा पास ट्रेक पर अधिकतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस से 20 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है जबकि न्यूनतम तापमान -6 डिग्री सेल्सियस से 4 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है.

ट्रेकिंग के दौरान ये बातें बिल्कुल भी ना भूले || Do not forget these things while trekking

यह एक प्री मानसून ट्रेक है..इस दौरान खुद को बारिश से बचाने के लिए अपने पास हमेसा रेन कोट जरूर रखें. गर्मियों के दौरान ट्रेकिंग करते समय अपने पास सन ग्लास और सन्सक्रीम रखना बिल्कुल भी ना भूले -मानसून के दौरान ट्रेकिंग थोड़ी सी कठिनाई भरी होती है.अगर आप इस ट्रेकिंग को मजेदार बनाना चाहते है तो आप अपने दोस्तों को साथ इस ट्रेकिंग को और भी रोमांचकारी बनाये.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!