Amravati Tourist Destinations : अमरावती के ये 5 बेस्ट डेस्टिनेशन जरूर जाएं घूमने

Amravati Tourist Destinations  : अगर आप घूमने के शौकीन हैं तो अमरावती आपके लिए अच्छा ट्रेवल डेस्टिनेशन हो सकता है. यहां का मौसम इतना सुहाना होता है कि यहां कई सैलानी घूमने आते हैं. अमरावती अपनी खूबसूरत झील, धार्मिक मंदिर और ऐतिहासिक जगहों के लिए अच्छा टूरिस्ट माना जाता है. मुंबई से लगभग 675 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अमरावती अंबादेवी मंदिर, छत्री तालाब और भीम कुंड जैसे कई आकर्षण जगहों के लिए जाना जाता है. तो चलिए जानते हैं अमरावती के 5 बेस्ट डेस्टिनेशन के बारे में.

इस शहर का अपना अलग इतिहास भी है और माना जाता है कि इसका नाम प्राचीन अंबादेवी मंदिर से लिया गया है. पर्यटन के लिहाज से यह एक महत्वपूर्ण स्थल है, जहां आप एक छुट्टी का प्लान अपने परिवार या दोस्तों के साथ बना सकते हैं. अमरावती के आसपास भी कई खूबसूरत पर्यटन स्थल मौजूद हैं, जिनका प्लान वीकेंड पर बनाया जा सकता है. इस लेख में हमारे साथ जानिए कि वीकेंड के दौरान अमरावती की कौन-कौन सी जगहों पर आप घूम सकते हैं.

चिकलधारा ।। Chikhaldara

आप अमरावती से चिकलधारा हिल स्टेशन का प्लान बना सकते है, जो अमरावती जिले के अंतर्गत ही आता है. यह स्थल प्राकृतिक महत्व के साथ-साथ पौराणिक महत्व भी रखता है. माना जाता है कि यह वो स्थान है जहां बलशाली भीम ने कीचक नाम के राक्षस का वध किया था और इस घाटी में फेंक दिया था.

इस पहाड़ी स्थल का नाम भी कीचक के नाम से प्रभावित है. यह हिल स्टेशन समुद्र तल से 1118 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जहां से आप शानदार प्राकृतिक नजारों का लुत्फ उठा सकते हैं. यह एकमात्र महाराष्ट्र का स्थल है जहां कॉफी का उत्पादन किया जाता है. यहां आने का सबसे बेस्ट समय अक्टूबर से लेकर जून के मध्य का है.

पेंच ।। Pench

अपनी यात्रा को खास बनाने के लिए आप पेंच टाइगर रिजर्व की सैर का प्लान बना सकते हैं. यह आरक्षित वन क्षेत्र महाराष्ट्र के साथ-साथ मध्य प्रदेश के एक बड़े भाग में फैला हुआ है. मध्यप्रदेश के अंतर्गत आने वाला पेंच का भाग सतपुड़ा की पहाड़ियों में फैला हुआ है.इस क्षेत्र का नाम यहां की पेंच नदी से कारण पड़ा है.

यहां विभिन्न वनस्पतियों, जीव जन्तुओं और पक्षियों की कई प्रजातियों को देख सकते हैं. जंगली जीवों में आप बाघ, तेंदुआ, जंगली बिल्ली, भेड़िया, नीलगाय, सांभर, जंगली सूअर आदि को देख सकते हैं. अगर आप नेचर फोटोग्राफी का शौक रखते हैं, तो यहां के शानदार व्यू को अपने कैमरे में कैद कर सकते हैं.

यवतमाल ।। Yavatmal

आप अमरावती से यवतमाल की सैर का प्लान बना सकते हैं. यह शहर अमरावती मुख्य शहर से लगभग 91 कि.मी की दूरी पर स्थित है. इस शहर का नाम मराठी शब्द यवत (पर्वत) और मई (पंक्ति) से लिया गया है.

इस शहर का भी अपना गौरवशाली इतिहास है, माना जाता है कि यह कभी बेरार सल्तनत का अहम नगर था. प्राचीन लेखों में इसे विश्व का सबसे सुरक्षित जगह कहा गया है. यहां कई पर्यटन स्थल मौजूद हैं, जहां आप शहर भ्रमण के दौरान जा सकते हैं. एक शानदार यात्रा के लिए आप यहां जरूर आएं.

Tadoba-Andhari National Park (ताडोबा नेशनल पार्क)

आप अमरावती से ताडोब अंधेरी टाइगर रिजर्व की रोमांचक सैर के लिए आ सकते हैं. यह बाघ आरक्षित क्षेत्र महाराष्ट्र राज्य के चंद्रपुर जिले में स्थित है. यह भारत के सबसे पुराने और बड़े राष्ट्रीय उद्यानों में गिना जाता है, जिसे 1995 में आरक्षित किया गया था. इस वन क्षेत्र 625.40 वर्ग कि.मी में फैला है, जिसमें ताडोबा राष्ट्रीय उद्यान और अंधेरी वन्यजीव अभयारण्य आते हैं.

अधेरी को 1986 में स्थापित किया गया था. जंगली जीवों में आप यहां बंगाल टाइगर, तेंदुआ, स्लोथ भालू, नीलगाय, हायना, जंगली बिल्ली, सांभर आदि को देख सकते हैं. इसके अलावा आप यहां पक्षी विहार का आनंद भी ले सकते हैं.

मेलघाट ।। Melghat

उपरोक्त स्थलों के अलावा आप महाराष्ट्र के मेलाघाट टाइगर रिजर्व की सैर के लिए आ सकते हैं. यह टाइगर प्रोजेक्ट के अतर्गत एक महत्वपूर्ण बाघ आरक्षित क्षेत्र है, जहां आप वन्यजीवन को काफी करीब से देख और महसूस कर सकते हैं. यह वन क्षेत्र राज्य के अमरावती जिले के अंतर्गत स्थित है.

यहां से बहती ताप्ती नदी इसे खास बनाने का काम करती है. आप यहां विभिन्न वनस्पतियों, जंगली जीवों और पक्षियों की प्रजाती को देख सकते हैं. जंगली जीवों में आप यहां बंगाल टाइगर, तेंदुआ, स्लोथ भालू, सांभर, गौर, भौंकने वाली हिरण, नीलगाय आदि को देख सकते हैं.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!