Darjeeling Hill Station : Darjeeling भारत के सबसे खूबसूरत शहरों में से एक

Darjeeling Hill Station : दार्जिलिंग की हसीन वादियों के साथ ही साथ यहां पर घूमने की भी कई जगह मिलेंगीं। ख़रीदारी का शौक़ रखने वालों के लिए यहां पर शॉपिंग के भी कई बढ़िया विकल्प हैं। इसी कारण हर महीने लाखों की संख्या में लोग दार्जिलिंग की सैर करने पहुंचते हैं।

दार्जिलिंग जिसे कहा जाता है Queen of Hills ( Darjeeling also known as Queen of Hills )

दार्जिलिंग समुद्र तल से लगभग 2 हजार 200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित पश्चिम बंगाल का प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। यहां के मनमोहक मौसम को देखने के लिए साल भर पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है। दार्जिलिंग की खूबसूरती केे कारण ही इसे क्वीन ऑफ हिल्स के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर आपको हरे-भरे चाय के बागान, चारों ओर फैली हरियाली, बर्फ़ से ढंके कंचनजंगा का बेहतरीन दृश्य आपका मन मोह लेगा।

दार्जिलिंग भारत के सबसे खूबसूरत शहरों में से एक ( One of the most beautiful city in India )

इस शहर की जितनी तारीफ़ की जाये उतना ही कम होगा। यहां से उगते सूरज के खूबसूरत नजारे के साथ ही यह बर्फ के बदलते रंगों नज़ारा देखने लायक है। आप अपनी टकटकी भरी निगाहें हटा नहीं पायेंगें। यहां पर स्थित विश्वविख्यात ‘कंचनजंघा’ एवं घने जंगल, पहाड़ियां, मंदिर, गुफा व रहस्यमयी झीलों से घिरा ये बेहद हसीन शहर पर्यटकों के लिए हमेशा से ही आकर्षण का प्रमुख केंद्र रहा है।

 

Mount Abu Hill Station : Mount Abu सनसेट देखने के लिए उमड़ती है सैलानियों की भारी भीड़

 

 

 

चाय का स्वर्ग देखना है तो चले आएं दार्जिलिंग ( If you want to see the Paradise of Tea then come to Darjeeling )

चाय प्रेमियों के लिए है दार्जिलिंग। चाय के लिए ही दार्जिलिंग विश्‍व स्‍तर पर जाना जाता है। यहां के प्रत्‍येक चाय उद्यान का अपना-अपना इतिहास है। इसी तरह प्रत्‍येक चाय उद्यान के चाय की किस्‍म भी अलग-अलग होती है। दार्जिलिंग में दूर-दूर तक फैले हरी चाय के खेत देखने में ऐसे लगतेे हैं जैसे ज़मीन पर हरी चादर फैली हो। यहां आकर आप चाय की चुस्की के मज़े ले सकते हैं।

किस मौसम में करें दार्जिलिंग की यात्रा ( Best time to visit Darjeeling )

अगर आप दार्जिलिंग घूमने प्लैन बना रहें हैं तो यहां जाने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून के महीनों के बीच होता है। इस दौरान जब देश के अन्य भागों में चिलचिलाती गर्मी पड़ती है तब दार्जिलिंग का तापमान 14 से 8 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है। यही कारण है कि इस दौरान यहां भारी संख्या में पर्यटक आते हैं। यदि आप ठंडे मौसम का मज़ा उठाना चाहते हैं तो यहां नवंबर से दिसंबर के बीच भी आ सकते हैं।

दार्जिलिंग के आसपास भी है बहुत कुछ घूमने को ( Some places to visit around Darjeeling )

दार्जिलिंग में आपको घूमने लायक बहुत सी जगह मिलेंगीं। जिनमे से कुछ खास जगह हैं – घूम रॉक, टाइगर हिल, बतासिया लूप, संदकफू, विक्टोरिया जलप्रपात, लेबांग रेसकोर्स, सेनथल झील, रॉक गार्डन, सिंगला, घूम मठ, तादाख, मजितार, लायड वनस्पति उधान, जापानी मंदिर, नेचुरल हिस्ट्री संग्राहलय, गोरखा दुख निवारक संघ, हिमालय पर्वतारोहण, शाक्या मठ, चाय के बागान, रोपवे, श्रवरि, गर्ग वर्ल्ड एम्यूज़मेंट पार्क, हिमालय हिन्दी भवन व सुखिया पोखरी ये जगह आपकी यात्रा को यादगार बना देंगीं। इन सभी सुंदर और शांत स्थलों को देखने का एकमात्र मौका आपको दार्जिलिंग में ही मिलेगा।

 

Goa Beach : Goa की Beach यहां आने वाले सैलानियों की पहली पसंद है

 

कैसें जायें दार्जिलिंग ( How to visit Darjeeling )

दार्जिलिंग के आसपास के शहरों में हवाई जहाज, ट्रेन और बस से आने जाने की सुविधा मौजूद है। दार्जिलिंग जाने के लिए सबसे नजदीकी एयरपोर्ट बागडोगरा है। जो यहां से लगभग 67 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसके अलावा यहां से नजदीकी रेलवे स्टेशन न्यू जलपाइगुरी है। जो यहां से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से भी आप आसानी से दार्जिलिंग पहुंच सकते हैं।

 

दोस्तों, आप भी Travel Junoon के संग जुड़ सकते हैं और अपने लेख हजारों लोगों तक अपनी तस्वीर के साथ पहुंचा सकते हैं. आप अपना लिखा कोई भी Travel Blog, Travel Story हमें भेजें – GoTravelJunoon@gmail.com पर. हम उसे आपकी तस्वीर के साथ वेबसाइट पर अपलोड करेंगे .

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है किमैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ,मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ,ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से,जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ।कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं।"कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोयेऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"