Honeymoon in Gulmarg : गुलमर्ग में हनीमून मनाने का मतलब है मानो आप जन्नत में आ गए हों

नई दिल्ली. Honeymoon in Gulmarg गुलमर्ग भारत में स्थित एक लोकप्रिय हिल स्टेशन है। यह शहर पश्चिमी हिमालय में पीर पंजाल रेंज में स्थित है। गुलमर्ग हिल स्टेशन इस धरती पर जिसकों जन्नत कहा जाता है राज्य जम्मू कश्मीर के बारामूला जिले में स्थित हैं। गुलमर्ग पर्यटन स्थल इतना सुदंर है कि आप जितनी बार भी जाएं उताने ही आपको कम लगेगा। गुलमर्ग Gulmarg कपल्स के लिए हनीमून  Honeymoon के स्थानों में से एक माना जाता हैं। यह मनाली और शिमला जैसी भीड़ वाले पर्यटन स्थल से बिलकुल अलग और अधिक सुंदरता का दावा करता है।

गुलमर्ग Gulmarg क्या है और कैसा हैं इसके बारे में हम आपको बताते हैं कि यह आकर्षित पर्यटन स्थल समुद्र तल से लगभग 2730 मीटर की ऊंचाई पर स्थित हैं और बर्फ से ढके पहाड़ों, हरे-भरे घास के मैदान, गहरी खाई, सदाबहार वन, आकर्षित पर्वत, पहाड़िया और घाटियों से घिरा हुआ रमणीय स्थान है।

Honeymoon in Gulmarg its a beautiful place
Honeymoon in Gulmarg its a beautiful place

Honeymoon in Manali – यही है Newly Wed Couples की पहली पसंद, रोमांस की Best जगहें

अगर आप हनीमून पर जाते हैं तो इन जगहों पर जरूर घूमें अगर आप इनमें से एक भी जगह छोड़ते हैं तो आपको ऐसा लगेगा कि आपने कुछ घूमा ही नहीं।

गोल्‍फ कोर्स Golf Course

गुलमर्ग के गोल्‍फ कोर्स विश्‍व के सबसे बड़े और हरे भरे गोल्‍फ कोर्स में से एक है। अंग्रेज यहां अपनी छुट्टियां बिताने आते थे। उन्‍होंने ही गोल्‍फ के शौकीनों के लिए 1904 में इन गोल्‍फ कोर्स की स्‍थापना की थी। वर्तमान में इसकी देख रेख जम्‍मू और कश्‍मीर पर्यटन विकास प्राधिकरण करता है।

स्कीइंग Skiing

अगर आपके साथी को स्कीइंग में रूचि  है तो यहां पर आकर स्कीइंग जरूर करें। यहां की स्कीइंग गुलमर्ग देश का ही नहीं बल्कि इसकी गिनती विश्‍व के सर्वोत्तम स्कीइंग रिजॉर्ट में की जाती है। दिसंबर में बर्फ गिरने के बाद यहां बड़ी संख्‍या में पर्यटक स्‍कींग करने आते हैं। यहां स्कीइंग करने के लिए ढ़लानों पर स्‍कींग करने का अनुभव होना चाहिए। जो लोग स्‍कींग सीखना शुरू कर रहे हैं, उनके लिए भी यह सही जगह है। यहां स्कीइंग की सभी सुविधाएं और अच्‍छे प्रशिक्षक भी मौजूद हैं।

Honeymoon in Gulmarg its a beautiful place
Honeymoon in Gulmarg its a beautiful place

 

हनीमून के लिए Lahaul-Spiti रखें पहली चॉइस क्योंकि हिमाचल में ये जगह है स्वर्ग

खिलनमर्ग Khilanmarg

खिलनमर्ग गुलमर्ग के आंचल में बसी एक खूबसूरत घाटी है। यहां के हरे मैदानों में जंगली फूलों का सौंदर्य देखते ही बनता है। खिलनमर्ग से बर्फ से ढ़के हिमालय और कश्‍मीर घाटी का अद्भुत नजारा देखा जा सकता है।

अलपाथर झील Alpather Lake

चीड़ और देवदार के पेड़ों से घिरी यह झील अफरवात चोटी के नीचे स्थित है। इस खूबसूरत झील का पानी मध्‍य जून तक बर्फ की बना रहता है।

निंगली नल्‍लाह Ningli Nallah

गुलमर्ग से आठ किमी दूर स्थित निंगली नल्‍लाह एक धारा है जो अफरात चोटी से पिघली बर्फ और अलपाथर झील के पानी से बनी है। यह सफेद धारा घाटी में गिरती है और अंत में झेलम नदी में मिलती है। घाटी के साथ बहती यह धारा गुलमर्ग का एक प्रसिद्ध पिकनिक स्‍पॉट है।

आसपास दर्शनीय स्‍‍थल Places to see nearby

श्रीनगर के डल झील में एक शिकारा

यह जम्‍मू कश्‍मीर की राजधानी है और यहां का सबसे बड़ा शहर है। समुद्र तल से 1730 मी. की ऊंचाई पर स्थित श्रीनगर नहर, हाउस बोट और मुगल गार्डन के लिए मशहूर है।

बाबा रेशी की दरगाह

यह मुसलमानों का एक प्रमुख धार्मिक केंद्र है। यह जियारत एक प्रसिद्ध मुस्लिम संत की याद में बनाई गई है जिनकी मृत्यू 1480 में हुई थी। सन्‍यास लेने से पहले वह कश्‍मीर के राजा जिया-उल-अबिदीन के दरबारी थे। प्रतिवर्ष हजारों की संख्‍या में श्रद्धालु यहां आते हैं।

कैसे पहुंचें How to Reach

वायु मार्ग

नज़दीकी हवाई अड्डा श्रीनगर (56 किलोमीटर) देश के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। दिल्‍ली से यहां के लिए नियमित उड़ानें हैं।

रेल मार्ग

गुलमर्ग से निकटतम रेलवे स्‍टेशन जम्‍मू है जहां देश के विभिन्‍न भागों से ट्रेनें चलती हैं। अब निकटतम रेलवे स्टेशन श्रीनगर है।

सड़क मार्ग

गुलमर्ग श्रीनगर से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। देश के अन्‍य भागों से श्रीनगर के लिए नियमित रूप से बसें चलती हैं।

गुलमर्ग का इतिहास History of Gulmarg

गुलमर्ग को मूल रूप से गौरी मार्ग कहा जाता है (गौरी मार्ग) जिसका अर्थ (देवी गौरी का मार्ग) था, इसका नाम बदलकर गुलमर्ग (“फूलों का मैदानी”) रख दिया गया, 16 वीं शताब्दी में चाक राजवंश के सुल्तान यूसुफ शाह ने अपनी रानी हब्बा खातून के साथ जगह की स्थापना की।  मुगल सम्राट जहांगीर ने गुलमर्ग में अपने बागानों के लिए 21 विभिन्न किस्मों के जंगली फूल एकत्र किए गए थे। 19 वीं शताब्दी में, ब्रिटिश सिविल सेवकों ने गुलमर्ग का उपयोग उत्तर भारतीय मैदानों में ग्रीष्मकाल से बचने के लिए एक वापसी के रूप में करना शुरू कर दिया।

शिकार और गोल्फ उनका पसंदीदा काम था और गुलमर्ग में तीन गोल्फ कोर्स स्थापित किए गए थे, जिनमें से एक विशेष रूप से महिलाओं के लिए था। उनमें से अभी एक ही गोल्फ कोर्स बचा हुआ है और 2,650 मीटर (8,690 फीट) की ऊंचाई पर दुनिया का सबसे ऊंचा गोल्फ कोर्स है। 1927 में, ब्रिटिश ने गुलमर्ग में एक स्की क्लब की स्थापना की और क्रिसमस और ईस्टर के दौरान दो वार्षिक स्की कार्यक्रमों की मेजबानी की गई।

1990 के दशक में, जम्मू-कश्मीर में उग्रवाद के बढ़ने से गुलमर्ग में पर्यटन प्रभावित हुआ। क्षेत्र में आतंकवाद के उन्मूलन के साथ, 1990 के दशक के बीत में पर्यटन की वसूली शुरू हुई। गुलमर्ग और अपहरवाट पीक के बीच केवल कार परियोजना पर काम, जिसे 1988 में जम्मू और कश्मीर सरकार द्वारा कमीशन किया गया था, लेकिन बाद में 1990 में उग्रवाद के कारण छोड़ दिया गया था, 1998 में फिर से शुरू किया गया। मई 1998 में, गुलमर्ग के बीच परियोजना का चरण 1, और कोंगडोरी ने अपना वाणिज्यिक संचालन शुरू किया।

 

Honeymoon in Gulmarg its a beautiful place
मई 2005 में, परियोजना के चरण 2 का भी उद्घाटन किया गया, जो इसे एशिया के सबसे लंबे और ऊंचा रोप वे में से एक बना। परियोजना के चरण 3 के एक भाग के रूप में स्थापित चेयरलिफ्ट ने 2011 में अपना परिचालन शुरू किया। राष्ट्रीय शीतकालीन खेल 1998, 2004 और 2008 में गुलमर्ग में आयोजित किए गए। 2014 में, जम्मू और कश्मीर सरकार ने एक मास्टर प्लान – 2032 का मसौदा तैयार किया। गुलमर्ग के लिए। योजना में गुलमर्ग के करीब 20 एकड़ भूमि पर एक ठोस अपशिष्ट उपचार संयंत्र का विकास शामिल है।

दोस्तों, आप भी Travel Junoon के संग जुड़ सकते हैं और अपने लेख हजारों लोगों तक अपनी तस्वीर के साथ पहुंचा सकते हैं. आप अपना लिखा कोई भी Travel Blog, Travel Story हमें भेजें – GoTravelJunoon@gmail.com पर. हम उसे आपकी तस्वीर के साथ वेबसाइट पर अपलोड करें

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे