दौलत बेग ओल्डी को कहां से मिला ये नाम ? क्यों डरते हैं दुश्मन यहां से

दौलत बेग ओल्डी ( Daulat beg oldy ) , आज जितनी चर्चा लद्दाख की है उससे ज्यादा चर्चा इस जगह की हो रही है. ज्यादातर भारतीय इस जगह के बारे में आज से पहले जानते भी नहीं होंगे. आज जब ये जगह फिर चर्चा में है आइए जानते हैं कि ये दौलत बेग ओल्डी जैसी जगह है क्या चीज

दौलत बेग ओल्डी ( Daulat beg oldy ) क्या है ? : केंद्रीय शासित प्रदेश लद्धाख की एक ऐतिहासिक जगह दौलत बेग ओल्डी…ये इलाका भी बड़ी बड़ी पहाड़ियों से घिरा हुआ है। दौलत बेग ओल्डी को डीबीओ भी कहा जाता है। दौलत बेग ओल्डी के दक्षिण से चिप चाप नदी भी बहती है। यहां पर भारतीय सेना की ताकत दुनिया की सबसे ऊंची हवाई पट्टी है। ये हवाई पट्टी 5065 मीटर की ऊंचाई पर बनाई गई है।

पढ़ें- Lipulekh Pass की यात्रा कैसे करें, पूरी जानकारी यहां लें 

कराकोरम रेंज में स्थित दौलत बेग इस इलाके का सबसे ठड़ा इलाका है। जहां से चीन सीमा यानी लाइफ ऑफ एक्चुयल कंट्रोल सिर्फ 8 किलोमीटर की दूरी पर है। ये क्षेत्र पूरी तरह से नागरिकों के लिए बंद है। इस इलाके में आज भी मोबाइल फोन नहीं चलता है। यहां सिर्फ सैटेलाइट फोन के जरिए ही बात की जा सकती है। पुराने जामने में यहीं से व्यापार होता था, लेकिन 1962 की भारत चीन जंग के बाद इस रास्ते को बंद कर दिया गया है।

दौलत बेग ओल्डी कैसे मिला नाम ?: माना जाता है कि 16वीं सदी में तुर्किस्तान के यारकन्द शहर के एक धनवान दौलत बेग यहां से गुजर रहे थे, लेकिन काराकोरम दर्रे से उतरने के बाद उसने यहीं पर दम तोड़ दिया। जिसके बाद इस इलाके को दौलत बेग ओल्डी यानी की दौलत बेग मृत्यु के नाम से रख दिया गया। कहते है कि सुल्तान बेग को खजाने के साथ यहीं दफना दिया गया । हालांकि आजतक कोई उनकी कब्र और खजाने को ढूंढ नहीं पाया है

पढ़ें- LAC की Galwan Valley का कैसे पड़ा नाम ? क्या है गुलाम रसूल गलवान से रिश्ता ? 

1962 में क्या हुआ था?: भारतीय सेना ने यहां पर 1962 के युद्ध के दौरान दौलत बेग ओल्डी पर अपनी चौकी बनाई थी । समुद्र तल से 16,614 फीट की ऊंचाई पर स्थित, डीबीओ दुनिया का सबसे ऊंचा हवाई क्षेत्र है। DBO में C-119G फेयरचाइल्ड पैकेट विमान उतारने वाले पहले IAF पायलट स्क्वाड्रन लीडर C.K.S. राजे थे। जिन्होंने यहां पर विमान उतारने का रिकॉर्ड बनाया था। लेकिन साल 1966 में भूकंप के बाद डीबीओ में हवाई अड्डा और सैन्य चौकी को बंद कर दिया गया। लेकिन फिर 2008 में भारतीय वायुसेना ने DOP को दोबारा शुरू किया । उसके बाद 2013 में वायुसेना ने सबसे ऊंची हवाई पट्टी पर C-130 J Super Hercules जहाज उतारा

कैसा रहता है DBO का तापमान ?: दौलत बेग ओल्डी के दक्षिण में मुर्गो नाम का भारतीय गांव है। जहां पर बलती समुदाय के लोग रहते हैं, जो खुबानी उगाने और याक पालन से गुजारा करते हैं। दौलत बेग ओल्डी का तापमान जाड़े में –30 डिग्री तक रहता है। यहां पर बर्फ गिरना आम बात है।

 

Sandeep Jain

पत्रकार की नजर से.....चलो घूम आते हैं