आखिर ये Homestay है क्या और यहां क्यों ठहरना चाहिए

भारत में एक कहावत बहुत ही ज्यादा मशहूर है, अतिथि देवो भव:, जिसका मतलब होता है कि मेहमान भगवान का रूप होता है। हम भारतीय इस कहावत को सच भी मानते हैं, और मेहमाननवाजी में कभी कोई कमी ना रह जाएं इसकी पूरी कोशिश भी करते हैं। हम लोग मेहमानों का घर पर होना और उनकी सेवा करना एक सौभाग्य की तरह मानते हैं। विश्व में भारतीयों की तरह खातिरदारी कोई नहीं कर सकता है। लेकिन बहुत से विदेशी पर्यटक जो भारत में घूमने के लिए आते हैं, वो असल भारतीय खातिरदारी से दूर रह जाते हैं, क्योंकि ऐसा उन्हें होटल में नहीं मिल पाता जैसा वो किसी के घर पर रह कर महसूस कर सकेंगे। अच्छी बात तो ये है कि भारत में होमस्टे का चलन काफी ज्यादा बढ़ रहा है, जिससे विदेशी पर्यटकों को भी अब धीरे धीरे असल भारतीय खातिरदारी और मेहमाननवाजी का मौका मिल सकेगा।

आज हम ट्रैवल जुनून पर आपको होमस्टे से होने वाले फायदों के बारे में बताएंगे और साथ ही ये भी बताएंगे कि किस तरह से भारत में होमस्टे का टलन बढ़ रहा है। होमस्टे के दौरान मेहमानों को या ता परिवार अपने घर पर या फिर थोड़ी सी ही दूरी पर कहीं रुकवाता है। आजकल ज्यादातर होमस्टे में वैसी ही सुविधाएं मिल रही है जो कि किसी बड़े नामी होटल में मिलती है, साथ ही मेहमानों को घर में रहने का मजा भी मिलता है। होमस्टे में रहने के कई फायदे हैं जो कि होटल में रहने वालों को नहीं मिल पाते हैं।

  1. एक ही तरह के होटल में रहकर अक्सर लोग थक जाते हैं। तो वहीं होमस्टे आपको मौका देता है कि आप भारत के अलग अलग कोने में वहां के लोगों के साथ रहे और भारत की पुरानी और फैली हुई संस्कृति को समझ सके। होमस्टे में अनगिनत विकल्प मिलते हैं, बंगले से लेकर हवेली तक, किलो से लेकर कुटिया तक में होमस्टे किया जा सकता है। होमस्टे में एक रॉयल फैमिली से लेकर एक गरीब परिवार के साथ रहने का अवसर मिलता है।
  2. एक होमस्टे में होटल की तुलना में कम ही कमरे होते हैं, जिससे जो परिवार आपको होस्ट कर रहा है वो मेहमानों पर अच्छे से ध्यान दे सकता है। आप होस्ट परिवार के साथ चाहे जितना वक्त हो उतना बिता सकते हैं। कुछ मेहमान होते हैं जो होस्ट के साथ सिर्फ खाने का वक्त गुजारते हैं तो वहीं कुछ मेहमान होते हैं जो होस्ट के साथ गपशप करने में वक्त गुजारना पसंद करते हैं। किसी भी भारतीय परिवार के साथ रहकर आसानी से कोई भी भारतीय संस्कृति और परंपराओं को आसानी से समझ सकता है। बहुत से गेस्ट ऐसे होते हैं जो अपने होस्ट के साथ इतना घुल मिल जाते हैं कि वो लंबे वक्त तक उनके संपर्क में रहते हैं।
  3. अगर कोई अकेली महिला भारत घूमने के लिए आई है, तो उसके लिए होमस्टे एक बहुत ही अच्छा विकल्प है। क्योंकि इसमें महिला की सुरक्षा की ज्यादा गारंटी रहती है। कुछ होस्ट अपने मेहमान को एयरपोर्ट से ही पिक करते हैं और साथ में घूमने के लिए गाड़ी और ड्राइवर तक मुहैया करा देते हैं। वो आपका पूरी तरह से ध्यान रखते हैं।
  4. भारतीय खाना जो होटल में मिलता है और जो घर में बनता है, उसमें बहुत अंतर होता है। होमस्टे में रहने से आपको भारत का असल खाने का स्वाद मिलता है। होमस्टे में मिलने वाले खाने में होटल के मुकाबले ज्यादा तरह का खाना खाने को मिलता है और साथ ही ये होटल के खाने की तुलना में हल्का भी होता है।
  5. अगर आप भारत में घूमने के लिए किसी त्योहार के वक्त पर आए हैं, तो ऐसे में तो आपको जरूर ही किसी भारतीय परिवार के साथ होमस्टे करना चाहिए। क्योंकि भारतीय त्योहारों का असली मजा तो परिवार के साथ ही आता है। इसमें आपको त्योहार की अच्छा जानकारी के साथ-साथ भारतीय परंपराएं भी सीखने को मिलेंगी।

जब भी अपने होमस्टे के लिए होस्ट को चुनें तो कुछ बातों का खास ध्यान रखें। जैसे कि वो किस तरह का खाना खाते हैं, कहीं आप नॉन वेज खाने के शौकीन हों और होस्ट शुद्ध शाकाहारी हो, तो ये आपके लिए एक नुकसान हो सकता है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि अगर आपको प्राइवेसी पसंद है तो आपके होस्ट आपको किस तरह से रहने के लिए कमरा दे रहे हैं।

News Reporter
एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: