अप्रैल में घुमक्कड़ी के लिए यें हैं TOP 5 DESTINATIONS

अप्रैल का महीना छुट्टियों का और रिलैक्स करना के महीने के रूप में देखा जाता है। इस महीने में बच्चे अपनी परिक्षाओं से फ्री हुए होते हैं, ऐसे में मां-बाप बच्चों को घुमाने की योजना बनाते हैं। जिसमें वो चाहते हैं कि 1-2 दिन वो अपने बच्चों के साथ कहीं घूम कर आए और बच्चों का मूड फ्रेश हो जाए। इसलिए ट्रैवल जुनून पर आज हम आपको देश की ऐसी कुछ जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर आप घूमने जा सकते हैं और अप्रैल महीने में छुट्टियों का मजा ले सकते हैं।

चिकमंगलूर

चिकमंगलूर को लैंड ऑफ कॉफी के नाम से भी जाना जाता है, ये जगह कर्नाटक राज्य में हैं और कॉफी के लिए काफी ज्यादा मशहूर है। चिकमंगलूर दक्षिण भारत के कर्नाटक राज्य का एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है। अपने ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों, हरे भरे जंगलों और शांत वातावरण के साथ ये जगह पर्यटकों के बीच में काफी मशहूर है। अगर आप प्रकृति के नजदीक जाकर कुछ फुर्सत का वक्त बिताना चाहते हैं तो ये जगह आपके लिए एकदम सही है। प्राकृतिक सुंदरता के अलावा आप यहां पर कई एडवेंचर गतिविधियों का भी मजा ले सकते हैं। बाबा बुदान गिरी, मुल्लायनगिरी, कुद्रेमुख, हेबेफॉल्स जैसी कई जगह यहां पर मशहूर है।

अलेप्पी

शांति और फुरसत के पल बिताने के लिए अलेप्पी को पूरब का वेनिस भी कहते हैं। यहां की नहरों और पाम के पेड़ों के बीच स्थित सुन्दर जलभराव और हरियाली आपको कल्पनाओं के नए आयाम तक पहुंचा देगी। अलेप्पी को अलाप्पुझा के नाम से भी जाना जाता है। केरल में अलेप्पी के बैकवॉटर सबसे मशहूर है। कुट्टानाड बैकवॉटर, कृष्णापुरम पैलेस, अलेप्पी बीच, करुमडी यहां के मुख्य आकर्षण के केंद्र है।

अमृतसर

भारत और पाकिस्तान बॉर्डर के पास पंजाब का ये शहर गोल्डन टेंपल (स्वर्ण मंदिर) के लिए काफी मशहूर है। स्वर्ण मंदिर पूरे विश्व में मशहूर। पंजाबी समुदाय से ताल्लुक रखने वालों के लिए ये आस्था का मुख्य केंद्र है। यहां पर देश विदेश के कोने से लोग दर्शन करने के लिए आते हैं। इसके अलावा अमृतसर कई और गुरुद्वारों के लिए भी मशहूर है। साथ ही भारत के स्वतंत्रता इतिहास में हमेशा याद किए जाने वाला जलियावालां बाग कांड भी इसी शहर में हुआ था। इसके प्रमाण अभी भी यहां पर है। इसके अलावा अमृतसर के लोकल बाजार भी काफी मशहूर है। पंजाबी संस्कृति की झलक पाने के लिए ये शहर सबसे अच्छा है। साथ ही वाघा-अटारी बॉर्डर पर हर शाम को होने वाली सेरेमनी से देशभक्ति की एक अलग ही भावना जाग उठती है।

आगरा

आगरा का नाम सुनते ही हमारे मन में ताजमहल का दृश्य बन जाता है। विश्व के 7 अजूबों में से एक ताजमहल आगरा की शान माना जाता है। इसे देखने के लिए लोग दूर-दराज से आते हैं। ताजमहल को प्यार की निशानी के रूप में देखा जाता है, क्योंकि इसे शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनाया था। वहीं ताजमहल के अलावा आगरा का पेठा भी काफी ज्यादा मशहूर है। और इस शहर में कई मकबरे भी देखने लायक है। यहां पर स्थित आगरा का किला, फतेहपुर सिकरी को भी यूनेस्को के द्वारा विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया है। इसके अलावा एतमादुद दौला का मकबरा, मरियम जमानी का मकबरा, जसवंत की छतरी, चौसठ खंभा और ताज संग्राहालय घूमना भी अच्छा अनुभव साबित हो सकता है।

ऊटी

ऊटी नीलगिरी की सुंदर पहाड़ियों में स्थित एक प्यारा सा शहर है। इस शहर का आधिकारिक नाम उटकमंड है। भारत के दक्षिण में स्थित इस हिल स्टेशन में पर्यटकों का हुजूम आता है। ये शहर तमिलनाडु के नीलगिरी जिले का एक हिस्सा है। ऊटी शहर के चारों ओर नीलगिरी पहाड़ियां हैं जो इसकी सुंदरता को और भी ज्यादा बढ़ा देती है। इन पहाड़ियों को ब्लू माउन्टेन (नीले पर्वत) भी कहा जाता है। कुछ लोगों का ऐसा विश्वास है कि इस स्थान का नाम यहां की घाटियों में 12 साल में एक बार फूलने वाले कुरुंजी फूलों के कारण पड़ा। ये फूल नीले रंग के होते हैं और जब ये फूल खिलते हैं तो घाटियों को नीले रंग में बदल देते हैं। बोटेनिकल गार्डन, डोडाबेट्टा पार्क, ऊटी झील, कलहट्टी प्रपात और फ्लॉवर शो आदि कई कारण हैं जिनके लिए ऊटी पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। एवलेंच, ग्लेंमोर्गन का शांत और प्यारा गांव मुकुर्थी राष्ट्रीय उद्यान आदि ऊटी के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थल हैं।

 

  

Taranjeet Sikka

एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।