Joshimath Tourism, Uttarakhand – कहां कहां घूमें, कैसे पहुंचे, Auli Ropeway भी खास

जोशीमठ (Joshimath) एक पवित्र शहर है जो कि उत्‍तराखंड (Uttarakhand) के चमोली (Chamoli) जिले में स्थित है। समुद्र स्‍तर से 6000 फीट की ऊंचाई पर स्थित ये शहर बर्फ से ढकी हिमालय पर्वतमालाओं से घिरा हुआ है। ये स्‍थल हिंदू धर्म के लोगों के लिए प्रतिष्ठित जगह है और यहां पर कई मंदिर भी स्‍थापित हैं। जोशीमठ (Joshimath) आदि शंकराचार्य (Adi Shankaracharya) द्वारा 8वीं सदी में स्‍थापित किए जाने वाले चार मठों में से एक है। यहां पर हिंदू धर्म के लिखित वेद अथर्ववेद का पाठ पवित्र माना जाता है। इस शहर को पूर्व काल में कार्तिकेयपुरा के नाम से जाना जाता था। उत्‍तराखंड आकर जोशीमठ (Joshimath) की सैर के लिए अवश्‍य आना चाहिए। ये जगह कामाप्रयाग क्षेत्र में स्थित है जहां नदी धौलीगंगा और नदी अलकनंदा मिलती हैं। जोशीमठ चमोली जिले के ऊपरी क्षेत्रों में ट्रैकिंग का अवसर भी प्रदान करता है। क्षेत्र का सबसे प्रसिद्ध ट्रैकिंग मार्ग जोशीमठ से शुरू होते हैं और पर्यटकों को फूलों की घाटी की ओर ले जाते हैं।

हिमालय वनस्पतियों से घिरा जोशीमठ (Joshimath) उत्तराखंड का एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। ये चार धाम तीर्थ स्थानों और औली के बहुत ही करीब है। यही कारण है कि उत्तराखंड के इन धार्मिक नगरों की सैर करने वाले ज्यादातर ट्रैवलर्स यहां रुककर आराम फरमाना ज्यादा पसंद करते हैं। ये खूबसूरत स्थल अपने आकर्षणों के साथ हर तरह के सैलानियों का स्वागत करता है। ये एक खास स्थान इसलिए भी है क्योंकि यहां आप धार्मिक यात्रा के साथ-साथ विभिन्न एडवेंचर गतिविधियों का आनंद भी ले सकते हैं। जोशीमठ (Joshimath) एक कम भीड़ वाला शहर है जहां पर आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ आकर आरामदायक छुट्टियां बीता सकते है।

कैसे जाएं जोशीमठ (How to Reach Joshimath)

पर्यटक जोशीमठ तक वायु मार्ग, रेल मार्ग और सड़क मार्ग के द्वारा आराम से पहुंच सकते हैं। जोशीमठ के लिए नजदीकी एयरपोर्ट जॉली ग्रांट हवाई अड्डा, देहरादून और नजदीकी रेलवे स्टेशन ऋषिकेश रेलवे स्‍टेशन है। जहां से आप आसानी से जोशीमठ तक पहुंच सकते हैं।

जोशीमठ जाने का सबसे अच्छा समय (Best Time to Visit Joshimath)

जोशीमठ क्षेत्र में सर्दियों के दौरान भयंकर बर्फबारी और मानसून के दौरान मूसलाधार बारिश होती है। जो पर्यटक जोशीमठ आने का शौक रखते हैं उन्‍हे गर्मियों के दौरान ही इस जगह पर आने की सलाह दी जाती है, क्‍योंकि इस दौरान मौसम खुशनुमा और घूमने के लिए आर्दश होता है।

जोशीमठ में क्या क्या देखें (Where to Travel in Joshimath)

ज्योतिर्मठ (Jyotirmath)
जोशीमठ घूमने की शुरूआत आप यहां के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल ज्योतिर्मठ से कर सकते हैं, ये वो स्थान है जहां से इस शहर को अपना नाम प्राप्त हुआ है। ये स्थल मूल रूप से शंकरचार्य मठ के लिए जाना जाता है। इस मठ की स्थापना आदि शंकराचार्य ने की थी। इस मठ के अलावा भारत में तीन और मठ मौजूद हैं जो सामूहिक रूप से चार मठ कहलाते हैं। इस प्रसिद्ध मठ के पीछे एक कथा भी जुड़ी हुई है, ऐसा माना जाता है कि इन मठ का निर्माण 8वीं सदी के दौरान आदि शंकराचार्य के एक अनुयायी ने जगतगुरू के दिशा निर्देश पर किया था। इस मठ के अंदर लक्ष्मी नारायण मंदिर और एक 200 साल पुरान एक वृक्ष (कल्पप्रकाश) भी मौजूद है।

नरसिंह मंदिर (Narsingh Mandir)
जोशीमठ के निचले बाजार में स्थित नरसिंह मंदिर हिंदू भगवान विष्णु के नरसिम्हा अवतार को समर्पित पवित्र मंदिर है। इस पवित्र मंदिर के बारे में एक दिलचस्प तथ्य ये है कि भगवान का शीतकालीन निवास है। यहां पर सर्दियों के दौरान बद्रीनाथ मंदिर की मूर्ति नरसिंह अवतार में भगवान विष्णु की मूर्ति के साथ रखी जाती है। इस प्रकार नरसिंह मंदिर जोशीमठ में एक महत्वपूर्ण स्थान है। अगर आप भगवान विष्णु के चौथे अवतार के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं तो यहां की यात्रा का प्लान जरूर बनाएं।

औली रोपवे (Auli Ropeway)
अगर आप स्वाभाविक रूप से हिमालय की खूबसूरती को देखना चाहते हैं तो औली रोपवे से सबसे अच्छा गंतव्य और कोई नहीं हो सकता है। ये एशिया और भारत का सबसे ऊंचा और सबसे लंबा रोपवे केबल है जिसकी कुल दूरी 4 किलोमीटर से अधिक है। कुदरत की अनमोल सौंदर्यता को करीब से निहारने के लिए आप यहां की यात्रा का प्लान कर सकते हैं। आप यहां पर अपने परिवार और दोस्तों के साथ आ सकते हैं।

नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान (Nanda Devi National Park)
नंदा देवी नेशनल पार्क उत्तराखंड की वनस्पतियों और जीवों को देखने का एक शानदार गंतव्य है। अपनी अलग जलवायु, भौगोलिक संरचना के साथ ये एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है। आप यहां पर जंगल सफारी का रोमांचक आनंद भी ले सकते हैं। इसके अलावा आप यहां पर अलग अलग पक्षी और जीव प्रजातियों को भी देख सकते हैं। प्राकृतिक सुंदरता के साथ अगर आप थोड़ा साहसिक अनुभव चाहते हैं तो यहां की सैर का प्लान बना सकते हैं।

स्लीपिंग ब्यूटी माउंटेन (Sleeping Beauty Mountain)
हिमालय के एक और करिश्माई गहनों में आप स्लीपिंग ब्यूटी माउंटेन को देख सकते हैं जो कि बालों को फैलाए किसी लेटी हुई महिला समान दिखता है। ये हिमालय का एक आकर्षक भाग है जो पिकनिक, वीकेंड गेटवे के साथ उत्तराखंड की गोद में पूरा दिन व्यतीत करने का मौका सैलानियों को प्रदान करता है।

 

News Reporter
एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: