Bike Tour – बाइक से दूर की ट्रिप कर रहे हैं प्लान तो इन बातों का रखें ध्यान

Bike Tour: इस साल कोरोना के कारण लम्बे समय से कई लोग घूमने-फिरने नहीं जा पाएं हैं. कई लोगों के जीवन में घूमना-फिरना शौक मात्र नहीं बल्कि आदत होता है, ऐसे लोग हर परिस्थिति में घूमने के लिए कोई न कोई उपाय खोज ही लेते हैं. (Bike Tour) उचित परिवहन सुविधा न मिल पाना घुमंतुओं के लिए कभी भी न घूमने का बहाना नहीं हो सकता है.

इन दिनों ऐसे ही लोग अपनी बाइक उठाकर आराम से 300-400 किमी घूमने निकल जाते हैं. लेकिन जब हम बाइक से लम्बी ट्रिप के लिए जाते हैं तो ऐसी बहुत सारी बातें हैं, जो ध्यान रखने योग्य हैं नहीं तो पूरे सफर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.  जानिए बाइक से की जाने वाली लम्बी यात्रा के दौरान वे कौनसी बातें हैं जिनका ध्यान रखना है बहुत जरूरी है.

Do not cut short

जल्दी पहुंचने या पेट्रोल बचाने के चक्कर में कभी भी अचानक से कोई शॉर्ट कट न लें. पहले जो रास्ता तय किया है या जिसकी जानकारी है, उसी से अपने गंतव्य तक जाएं. अचानक रास्ता बदल डालना आपको मुश्किल में डाल सकता है. जल्दी पहुंचाने वाले रास्ते अधिकतर सुनसान होते हैं और पूरी संभावना है कि अपरिचित रास्तों पर आप भटक जाओ.

First aid kit

गाड़ी में एक छोटी सी फर्स्ट एड किट जरूर रखें. फर्स्ट एड किट में बैंडेज, बेटाडीन, कॉम्बिफ्लेम, जफर आदि दवाइयां जरूर रखें. जो भी दवाएं रख रहे हैं, उन्हें एकबार डॉक्टर को जरूर दिखा दें. हवा-पानी के बदलने से बैचेनी, सिर दर्द होना बहुत सामान्य है इसलिए इनकी दवाएं जरूर रखें ताकि आप रास्ते में परेशान न हों और खुद से ही प्रारंभिक उपचार कर सकें.

Drive a vehicle

रात हो या दिन, किसी भी प्रकार की बाइक को चलाते समय ये जरूरी है कि अपने आगे वाले वाहन से नियमित दूरी बनाकर चलें क्योंकि पता नहीं आगे वाला कब अचानक से ब्रेक मार दे और आपका नुकसान हो जाए. हाईवे पर अधिकतर दुर्घटनाएं इस तरह से होती हैं। यदि आप अपने आगे वाले वाहन से दूरी बनाकर ड्राइविंग करेंगे तो गाड़ी को संभालने में आपको थोड़ा ज्यादा समय मिल जाएगा

Tool box

वैसे तो गाड़ियों में टूल बॉक्स होता ही है, लेकिन यदि आपकी गाड़ी में नहीं है या फिर उसमें गाड़ी से जुड़े आवश्यक टूल्स नहीं हैं तो अपनी तरफ से आवश्यक औजार जरूर रख लें, रात-बिरात यदि गाड़ी खराब हो जाती है तो इनसे कुछ तो सहायता मिल ही जाएगी. वैसे तो लंबी दूरी की यात्रा करने जा रहे हैं तो गाड़ी को एक बार मैकेनिक को जरूर दिखा दें.

Essential paper

एक राज्य से दूसरे राज्य की ओर यात्रा के लिए यदि जा रहे हैं तब तो जरूरी कागज अपने साथ रखना बेहद आवश्यक हो जाता है. गाड़ी से संबंधित सम्पूर्ण दस्तावेज, स्वयं का आधार कार्ड, पेन कार्ड आदि सबसे पहले रखें नहीं तो किसी भी परेशानी में फंस सकते हैं.

Take a break

गाड़ी नई हो या पुरानी, एक ही रफ्तार पर लंबा चलने से गर्म हो ही जाती है इसलिए 100-125 किमी की दूरी तय करने के बाद 10-15 मिनट का ब्रेक जरूर लें. गाड़ी के साथ ही आप खुद को भी ब्रेक दें. चाय-पानी करके ताजा हो लें और फिर नई ऊर्जा के साथ अपनी रोड ट्रिप के लिए आगे बढ़ें.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे