देश का सबसे लंबा सस्पेंशन ब्रिज पर्यटकों के लिए खुला, जानिए पुल की खासियत

Suspension bridge-हाल के महीनों में देश पर्यटकों के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर के तौर पर कई सौगातें मिली हैं. अटल टनल का उद्घाटन, सी-प्लेन सेवा की शुरुआत, रोप-वे की शुरुआत और फिर से पीएम मोदी ने सूरत में फेरी सर्विस की शुरुआत की है. इसी के साथ उत्तराखंड की खूबसूरती को चार चांद लगाने वाले सस्पेंशन ब्रिज (झूला पुल) का उद्घाटन कर जनता को समर्पित किया गया है. यह देश का सबसे लंबा सस्पेंशन ब्रिज है.

जानकारी के मुताबिक, टिहरी झील पर नव निर्मित देश के सबसे लंबे डोबरा-चांठी सस्पेंशन ब्रिज का उद्घाटन रविवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कि‍या. इस ब्रिज से टिहरी जिले के प्रतापनगर क्षेत्र की करीब ढाई लाख की आबादी को लाभ मिलेगा.

दीवाली में ऐसे करेंगे पूजा तो जमकर बरसेगा धन, कभी नहीं होंगे कंगाल

डोबरा-चांठी पुल देश का पहला ऐसा झूला पुल है, जिसकी लंबाई 725 मीटर है और जो भारी वाहन चलाने लायक बना है. यह पुल समुद्रतल से 850 मीटर की ऊंचाई पर बना है. इसके बनने के बाद भी टिहरी झील को अधिकतम आरएल 830 मीटर तक भरा जा सकता है.

Benefit of two and a half million people

इस ब्रिज के निर्माण का काम 2006 में शुरू हुआ था. डिजाइन फेल होने समेत तमाम कारणों के चलते लंबे समय तक निर्माण कार्य रुका रहा. ब्रिज की कुल लंबाई 725 मीटर है. इसमें सस्पेंशन ब्रिज 440 मीटर लंबा है, जबकि 260 मीटर आरसीसी डोबरा क्षेत्र की ओर और 25 मीटर स्टील गार्डर चांठी की ओर है. इस पर 15 टन तक भारी वाहन गुजर सकते हैं.

Benefits of tourism

लोकर्पण के मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि डोबरा पुल सिर्फ प्रतापनगर ओर टिहरी ही नहीं, बल्कि पूरे प्रदेश में पर्यटन की नई परिभाषा है. इससे दुनिया भर के पर्यटक यहां आएंगे और डोबरा नया पर्यटक स्थल बनेगा. इस अवसर पर कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, संसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, प्रभारी मंत्री धन सिंह रावत, विधायक विजय सिंह पंवार, धन सिंह नेगी, विनोद रतूड़ी आदि मौजूद रहे.

घर बैठे घूमिए भारत के प्रमुख Tourist places, जीतिए Prize

This is Quality

यह पुल समुद्रतल से 850 मीटर की ऊंचाई पर बना है. इसके बनने के बाद भी टिहरी झील को अधिकतम आरएल 830 मीटर तक भरा जा सकता है. पुल की चौड़ाई सात मीटर है, जिसमें से साढ़े पांच मीटर पर वाहन चलेंगे.

बाकी के डेढ़ मीटर पर पुल के दोनों तरफ 75-75 सेंटीमीटर फुटपाथ बनाए गए हैं. पुल की कुल लंबाई 725 मीटर है, जिसमें से 440 मीटर झूला पुल है. वहीं 260 मीटर डोबरा साइड और 25 मीटर का एप्रोच पुल चांठी की तरफ बनाया गया है. पुल के दोनों किनारों पर 58-58 मीटर ऊंचे चार टॉवर निर्मित हैं.  इस पुल को आकर्षक भी बनाया गया है. जिससे ये पर्यटन का केंद्र भी बनेगा. इस पुल पर आधुनिक तकनीकी से मल्टी कलर लाइटिंग भी की गई है. जिससे यह बेहद ही खूबसूरत नजर आता है.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे