Tata Limited Group बनाएगा देश की नई संसद, ऐसा होगा प्रोजेक्ट

एक बार फिर नए तरीके से संसद ( Parliament House ) का निर्माण कार्य शुरू होने जा रहा है. जिसकी जिम्मेदारी टाटा लिमिटेड ( Tata Limited ) को सौंपी गई हैं. बताया जा रहा है कि टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ( Tata Project Limited ) द्वारा होने जा रहे संसद भवन ( Parliament House ) की नई इमारत (Building) के निर्माण में लगभग 861.90 करोड़ रुपये का खर्च आएगा.

जानकारी के अनुसार इसे सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत तैयार किया जाएगा. बनने जा रही संसद भवन ( Parliament House ) की इस नई इमारत (New Building) को मौजूदा इमारत ( Building) के नजदीक ही बनाया जाएगा. इसका निर्माण कार्य 21 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है .

इस मंदिर की नकल कर अंग्रेजों ने बनाया था संसद भवन, जानें कहानी

संसद भवन ( Parliament House ) और इसके नवीनीकरण में शामिल कुल क्षेत्र 21.25 एकड़ है जिसमें 1,09,940 वर्ग मीटर का निर्मित क्षेत्र है. और इसके साथ ही साथ इसमें करीब 233 पेड़ों के प्रत्यारोपण की आवश्यकता भी होगी.

नई संसद (Parliament House) की इमारत (Building) का निर्माण 60,000 स्कॉयर मीटर क्षेत्र (Area) में होगा.

लॉकडाउन में जो भी Flight Ticket बुक किए गए, उनका होगा पूरा रिफंड

मौजूदा संसद भवन ( Parliament House ) गोलाकार है. बता दें मास्टर प्लैन (Master Plan)  के अनुसार बनने जा रही संसद भवन ( Parliament House ) की नई इमारत (Building) का आकार तिकोना (Triangle) होगा.

नई संसद भवन ( Parliament House ) इमारत (Building) के निर्माण में दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा के लिए एक-एक इमारत (Building) होगी, वहीं अब यहां सेंट्रल हॉल (Central Hall) नहीं बनेगा.

संसद भवन ( Parliament House ) की नई इमारत ( Building ) को बनाने का जिम्मा एचसीपी (HCP) डिजाइन प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड को सौंपा गया है.

लगाई गई बोली में टाटा (Tata) ने लार्सन और टुब्रो को हराया है, जिन्होंने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी.

केंद्रीय लोक निर्माण (Construction) विभाग ने बनने जा रहे संसद भवन (Parliament House) की नई इमारत (Building) के निर्माण के लिए वित्तीय बोलियां (Bid) खोलीं.

ये परियोजना एक साल तक में पूरा होने की संभावना है.

संसद ( Parliament House ) की नई इमारत (Building) के लिए सरकारी नागरिक निकाय ने 940 करोड़ रुपये की लागत लगने का अनुमान लगाया था.

संसद भवन ( Parliament House ) की बनने वाली नई इमारत (Building) को संसद भवन (Parliament House) के “प्लॉट नंबर 118” के रूप में वर्णित किया गया है.

Rishikesh-Karnaprayag Rail Project – सिर्फ ढाई घंटे में पहुंचेंगे ऋषिकेश से कर्णप्रयाग

ब्रिटिश काल के समय बनी वर्तमान संसद भवन (Parliament House) , गोलाकार (Round shape) है और भारत के सबसे प्रशंसित स्मारकों में से एक है. अधिकारियों का कहना है कि इस इमारत ( Building ) की पूरी तरह से मरम्मत हो जाने के बाद ही इसे इस्तेमाल में लाया जा सकेगा. बता दें संसद भवन (Parliament House) का निर्माण (Construction) 1921 में शुरू हुआ और यह छह सालों में पूरा हुआ था. 1956 में इसमें दो मंजिलों को और जोड़ा गया था.

आपको बता दें इस साल की शुरुआत में ही सरकार (Government) ने एक संसद भवन निर्माण (Parliament House Construction) के अपने फैसले को सही ठहराया था. जिसमें सरकार (Government) द्वारा कहा गया था कि संसद (Parliament) का मौजूदा ढांचा “संकट और अति-उपयोग के संकेत दिखा रहा है”.

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है कि मैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ, मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ, ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से, जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ। कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं। "कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोये ऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"