Mulayam Singh Yadav’s Village Saifai : जहां जन्मे मुलायम, कैसा है वो गांव सैफई

Mulayam Singh Yadav’s Village Saifai : दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं, जो देश की प्रमुख राजनीतिक पार्टी समाजवादी पार्टी (एसपी) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का गांव है. इस गांव का नाम सैफई है. हम आपको इस गांव के बारे में डिटेल जानकारी देंगे.

सैफई गांव में क्या क्या सुविधाएं हैं, क्या क्या विकास के काम है और ऐसी क्या बातें हैं जो इसे मॉडर्न गांव बनाती हैं, आप इस वीडियो में जानेंगे. आइए सैफई गांव के बारे में करीब से जानते हैं.

सैफई गांव, इटावा जिले में स्थित है. आज यह गांव कम एक छोटा शहर ज्यादा है. इस गांव में एयरपोर्ट हैं, यूनिवर्सिटी और हॉस्पिटल भी हैं. इस गांव में एक छोटी हवाईपट्टी भी है. अगर हम ये कहें कि यह देश का इकलौता ऐसा गांव है जहां यह सब सुविधाएं हैं तो गलत नहीं होगा.

सैफई, मैनपुरी और इटावा के बीच स्थित है. इसके और मैनपुरी के बीच की दूरी 33 किलोमीटर है और इटावा से इसकी दूरी 20 किलोमीटर है.

मुलायम सिंह यादव ने जिस तरह से अपनी राजनीति शुरू की और जिस तरह से वह आगे बढ़े और साथ ही साथ इस गांव को भुला नहीं पाए. हम कई कहानियां सुनते हैं कि कोई व्यक्ति बाहर निकलता है तो वह कभी पीछे मुड़कर अपने गांव को नहीं देखता है, लेकिन यहां पर आपको अलग तस्वीर दिखाई देती है, एक अलग कहानी दिखाई देती है. जिस तरह से मुलायम की राजनीति आगे बढ़ी, उस राजनीति के साथ-साथ करवटे बदलता रहा सैफई का ये गांव भी. यहां के स्विमिंग पूल के बारे में तो हमें ये भी बताया गया कि वह हर मौसम के हिसाब से काम करने वाला स्विमिंग पूल है.

Panchur: चलिए, Uttar Pradesh के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गांव की सैर पर

आइए जानते हैं सैफई गांव के बारें में विस्तार से.

मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स कॉलेज कैंपस

Saifai International Cricket Stadium सैफई ही नहीं, यूपी की शान है. ये cricket stadium अंतरराष्ट्रीय स्तर का है.

ये स्टेडियम मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स कॉलेज कैंपस में स्थित है. इसकी सिटिंग कैपिसिटी 43 हजार लोगों की है.

यह भारत के बड़े क्रिकेट स्टेडियम में से एक है. इसी कैंपस में ऑल वेदर स्विमिंग पूल (All-weather Swimming Pool), ऐथलेटिक्स स्टेडियम (Athletics Stadium) भी है.

यहां एक इंडोर स्टेडियम भी है.

मास्टर चंदगी राम स्पोर्ट्स स्टेडियम

सैफई में हरियाणा के पहलवान चंदगी राम के नाम पर बना “मास्टर चंदगी राम स्पोर्ट्स स्टेडियम” नाम का एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का हॉकी स्टेडियम है. यहां कई राष्ट्रीय स्तर के हाकी टूर्नामेंट आयोजित हो चुके हैं.

सैफई स्टेडियम || Saifai Stadium

सैफई में हरियाणा के पहलवान चंदगी राम के नाम पर बना “मास्टर चंदगी राम स्पोर्ट्स स्टेडियम” नामक एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का हांकी स्टेडियम है जो कई राष्ट्रीय स्तर के हाकी टूर्नामेंट का होस्ट रह चुका है. इस परिसर में एक बैडमिंटन हाल और स्वीमिंग पूल भी है. इस संकुल के परिसर में क्रिकेट के साथ आल-वेदर स्वीमिंगपूल (तरणताल) एथलेटिक्स स्टेडियम एवं इनडोर स्टेडियम भी मौजूद हैं. इस स्टेडियम में एक बार में 20 हजार से ज्यादा लोग बैठ सकते हैं. पूरे उत्तर प्रेदश के खिलाड़ी सैफई के इस स्टेडियम आकर क्रिकेट और बैडमिंटन सीख पा रहे हैं अपने आप को डेवलप कर पा रहे हैं इसके साथ ही आगे बढ़ पर रहे हैं.

Vrindavan Travel Blog : डिटेल में जानें वृंदावन के बारे में पूरी जानकारी

अपना बाजार || (Mini Connaught Place)

सैफई में अनाज मंडी के पास स्थित है अपना बाजार. इसे दिल्ली के कनॉट प्लेस की तर्ज पर बनाया गया है. यहां एक से बढ़कर एक रेस्टोरेंट हैं. यहां एक क्लॉक टावर भी है.

सैफई महोत्सव ||Saifai Festival

सैफई महोत्सव (आधिकारिक नाम रणवीर सिंह स्मृति सैफई महोत्सव) उत्तर प्रदेश के स्थानीय कलाकारों को बढ़ावा देने के मकसद से आयोजित किया गया महोत्सव रहा है.

इसकी शुरुआत 1997 में मुलायम सिंह यादव के भतीजे और तेज प्रताप सिंह यादव (मैनपुरी से पूर्व सांसद) के पिता स्वर्गीय रणवीर सिंह यादव ने सैफई महोत्सव नामक एक छोटे से गांव के मेले के रूप में की थी, जिसे उनकी मृत्यु के बाद रणवीर सिंह स्मृति सैफई महोत्सव का नाम दिया गया था.

यह अपने रंगारंग कार्यक्रम के साथ साथ सितारों की शिरकत के लिए भी जाना जाता है. हालांकि, बीते कई सालों से ये महोत्सव बंद है.

सैफई में विश्वविद्यालय || University In Saifai

उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान यूनिवर्सिटी (पूर्व में उत्तर प्रदेश ग्रामीण आयुर्विज्ञान और रिसर्च इंस्टीट्यूट) एक मेडिकल रिसर्च सार्वजनिक विश्वविद्यालय है जिसकी स्थापना 2016 के अधिनियम 15 के तहत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा की गई थी. विश्वविद्यालय पूर्ण रूप से मेडिकल कॉलेज, पैरामेडिकल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज चला रहा है. फार्मेसी कॉलेज, मल्टी स्पेशलिटी 850 बिस्तरों वाला अस्पताल और 150 बिस्तरों वाला ट्रॉमा एंड बर्न सेंटर भी यहां है.

कॉलेज|| Collage

फार्मेसी कॉलेज सैफई, 2015 में स्थापित किया गया. यूपी सरकार द्वारा संचालित पहला सरकारी सहायता प्राप्त फार्मेसी कॉलेज है. यह पहले यूपीटीयू से संबद्ध था अब उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय का हिस्सा है.

चौधरी चरण सिंह पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज, हियोनरा, सैफई

चौधरी चरण सिंह पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज, हेओनरा-सैफई, इटावा या चौधरी चरण सिंह डिग्री कॉलेज सैफई में एक सरकारी सहायता प्राप्त पोस्टग्रेजुएट कॉलेज है. कॉलेज पास के ही ओनरा गांव में स्थित है.

यह 6 वीं से 12 वीं कक्षा तक शिक्षण और क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी, कुश्ती, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, तैराकी और कबड्डी में खेल ट्रेंनिग देता है.

चौधरी चरण सिंह कॉलेज ऑफ लॉ, हेओनरा-सैफई, इटावा लॉ फैकल्टी में अंडर ग्रेजुएट कोर्स चला रहा है.  कॉलेज हेओनरा गाँव में स्थित है जो सैफई ब्लॉक (क्षेत्र पंचायत) और सैफई गाँव के पड़ोसी गांव का हिस्सा है.
एसएस मेमोरियल एजुकेशनल एकेडमी, सैफई 2 वर्षीय बी.टी.सी. जिसे अब उत्तर प्रदेश में डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन (D.El.Ed.) के नाम से जाना जाता है.

सैफई एयरस्ट्रिप || Saifai Airstrip

सैफई हवाई पट्टी भी सैफई गांव में एक किया गया ऐसा काम है जो भारत के शायद दूसरे गांव में दिखाई नहीं देता है. हालांकि, यहां सिर्फ चार्टर्ड फ्लाइट्स ही उतर सकती हैं. इस हवाई पट्टी का मौजूदा क्षेत्रफल 370 एकड़ है.

2015 में, इंडियन एयरफोर्स ने मिराज 2000 एयरक्राफ्ट के साथ यहां एक रिहर्सल किया था.

2018 में, भारतीय वायु सेना ने ऑपरेशन गगन शक्ति 2018 के दौरान सैफई हवाई पट्टी पर अपना दूसरा अभ्यास किया.

अगर आपको हमारी दी गई जानकारी पसंद आई है तो हमारे ब्लॉग को फॉलो करें. Youtube पर हमारे दिलचस्प वीडियो देखने के लिए हमें सब्सक्राइब करें.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!