Jaipur Tour Guide – पिंक सिटी में घूमने लायक 12 जगहें, यहां के Forts की दुनिया है दीवानी

Jaipur Tour Guide – अगर आपको प्राचीन महलों और शाही जीवनशैली को करीब से देखने की चाहत हैं तो आप राजस्थान की राजधानी जयपुर जिसे पिंक सिटी के नाम से जाना जाता है, यहां जरूर आएं. Jaipur Tour Guide शुरू करने से पहले हम आपको बताएंगे कि राजसी ठाठ से भरा ये शहर भारत की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है. यहां कई राजा-महाराजाओं के किले हैं जिनमें उनके इतिहास छिपे हैं. कला-संस्कृति और विशेषकर वास्तुकला में दिलचस्पी रखने वालो को यहां जरूर आना चाहिए.

जयपुर को गुलाबी नगरी भी कहा जाता है. यहां देखने लायक जयगढ़. जंतर-मंतर और नाहरगाढ़ किला है. इनके अलावा यहां हवामहल भी लोगों के आकर्षण का केंद्र है. इस महल में बहुत सारी खिड़कियां हैं जिस वजह से यहां बिना एयर कंडीशनर के ही काफी ठंडी हवा आती है. जयपुर अपनी वास्तुकला के लिए दुनियाभर में जाना जाता है. यहां कला, संस्कृति और सभ्यता का अनोखा संगम देखने को मिलता है.

यह पिंक सिटी जिस स्थान पर स्थित है वहां पहले सूखी झील का मैदान था.  यह मैदानी भाग तीन दिशाओं में अरावली पर्वत श्रृंखला द्वारा गिरा हुआ था. राजस्थान रमन हेतु आए पर्यटकों में जयपुर का विशेष आकर्षण रहा है. 18 नवंबर सन 1727 में सवाई राजा जयसिंह ने इस शहर को बसाया था.

इन्हीं के नाम पर शहर का नाम जयपुर पड़ा है. महाराजा जयसिंह के राजदरबार में एक बांग्लाभाषी वास्तुकार द्वारा इस नगर की सुनियोजित रूपरेखा तैयार की गई और उसी आधार पर इस नगर को बसाया गया. 1876 में प्रिंस ऑफ वेल्स के स्वागत में पूरे शहर को गुलाबी रंग का कर दिया गया था. Jaipur Tour Guide से जुड़े इस आर्टिकल में हम आपको जयपुर में घूमने के लिए 12 जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं.

City Palace, Jaipur

एक बार जब आप गुलाबी शहर में होते हैं, तो आप स्वाभाविक रूप से सिटी पैलेस की यात्रा करने के लिए इच्छुक होंगे. इसका निर्माण सवाई जय सिंह द्वितीय ने 1729 और 1732 ईके बीच करवाया था. महल परिसर में चंद्र महल और मुबारक महल शामिल हैं. अब, चंद्र महल को संग्रहालय में परिवर्तित कर दिया गया है, जिसमें विशेष रूप से दस्तकारी उत्पाद और अन्य उत्पाद हैं जो राज्य की सांस्कृतिक विरासत को दर्शाते हैं.  यहां आप न केवल आप वास्तुकला का आनंद लेंगे, आप यहां से गुलाबी शहर के शानदार दृश्य से देखने को मिलेंगे.

ओपनिंग टाइमिंग: सभी दिन, 9:30 बजे से शाम 5:00 बजे तक खुला रहता है

टाइमिंग: 1-2 घंटे.
प्रसिद्ध: इतिहास, वास्तुकला और फोटोग्राफी.
टिकट: भारतीयों के लिए 200, और 100 रुपए छात्रों के लिए (आईडी के साथ) विदेशियों पर्यटकों के लिए 700 रुपए.
एक्स्ट्रा: आप एक समग्र टिकट भी खरीद सकते हैं जो 2 दिनों के लिए वैध होता है और इसमें जयपुर के कई अन्य आकर्षणों में प्रवेश शुल्क शामिल है.

Amer Fort

आमेर का किला जयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थलों और प्रमुख आकर्षण में से एक है जो अरावली पहाड़ी की चोटी पर स्थित है. यह किला अपनी वास्तुशिल्प कला और इतिहास की वजह से लोकप्रिय है. आमेर का किला इतना ज्यादा प्रसिद्ध है कि यहां पर हर रोज करीब पांच हजार पर्यटक आते हैं.

Jaipur Tour Guide jaipur tourist places to visit in jaipur
Jaipur Tour Guide jaipur tourist places to visit in jaipur

यह किला जयपुर से सिर्फ 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जो गुलाबी और पीले बलुआ पत्थरों से मिलकर बना हुआ है. आमेर का किला पर्यटकों और फोटोग्राफरों के लिए जन्नत के सामान है, अगर आप जयपुर शहर के प्रमुख पर्यटन स्थलों की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं तो इस किले को अपनी लिस्ट में जरूर शामिल करें.

प्रसिद्ध : इतिहास, वास्तुकला, फोटोग्राफी
टिकट: भारतीयों के लिए 25 रुपए और विदेशियों के लिए 200 रुपए
ओपनिंग टाइमिंग: 10:00 AM – 5:00 PM से सभी दिन खुला रहता है
टाइमिंग: 1.5-2 घंटे

Things to Do In Amber Fort

हाथी की सवारी करें.
शाम को लाइट एंड साउंड शो का आनंद लें.
सिला देवी के मंदिर जाएं.

Nahargarh Fort

नाहरगढ़ किला राजस्थान का एक बहुत ही आकर्षक किला है जो अपने पीले रंग के साथ गुलाबी नगरी जयपुर में बहुत आकर्षक दिखाई देता है. इस किले को सवाई राजा मान सिंह ने अपनी रानियों के लिए बनवाया था, लेकिन राजा की मृत्यु के बाद नाहरगढ़ किले को भूतिया कहा जाने लगा था.लोगों का मानना है कि इस किले में राजा का भूत रहता है.

यहां के स्थानीय लोगों अनुसार यहां पर एकदम से तेज हवाएं चलने लगती है और कई बार दरबाजे के कांच टूट कर गिर जाते हैं. यहां कभी-कभी एक दम से गर्मी और एक दम से ठण्ड महसूस होने लगती है. किले में जाने वाले कई लोगों को कुछ अजीब चीजों का एहसास हो चुका है.

बताया जाता है कि इस किले के पुनर्स्थापना संगठन के मालिक को अपने घर में रहस्यमय तरीके से मारा हुआ पाया गया. नाहरगढ़ एक सुंदर इंडो-यूरोपियन आर्किटेक्चर है, जिसके अंदर कई खूबसूरत संरचनाओं का संग्रह है. जब आप इस किले के “ताड़गीट” नामक प्रवेश द्वार से किले में प्रवेश करेंगे तो आपको को बाईं ओर जयपुर शासकों समर्पित एक मंदिर मिलेगा. इस किले के परिसर में राठौर राजकुमार को समर्पित एक और मंदिर स्थित है. इसके साथ ही आपको एक परिसर में सवाई माधोसिंह द्वारा निर्मित एक “माधवेन्द्र भवन” भी देखने को मिलेगा.

 प्रसिद्ध: इतिहास, वास्तुकला, फोटोग्राफी
टिकट: प्रवासी पर्यटकों के लिए 85 रुपए और भारतीयों के लिए 35 रुपए
ओपनिंग टाइमिंग: सुबह 9:00 – 4:30 बजे
टाइमिंग: 1-1.5 घंटे

Things to Do at Nahargarh Fort

जयपुर वैक्स म्यूजियम जाएं.
किले के रेस्तरां में शहर के रात के दृश्य का आनंद लें.
अपने परिवार के साथ पिकनिक मनाएं.

Jaigarh Fort

जयगढ़ किला मध्ययुगीन भारत के कुछ सैनिक इमारतों में से एक. महलों, बगीचों, टांकियों, अन्य भन्डार, शस्त्रागार, एक सुनोयोजित तोप ढलाई-घर, अनेक मंदिर, एक लंबा बुर्ज और एक विशालकाय चढी हुई तोप-जय बाण जो देश की सबसे बड़ी तोपों में से एक है, इसमें अपना प्राचीन वैभव सुरक्षित करके रखा हुआ है. जयगढ़ के फैले हुए परकोटे, बुर्ज और प्रवेश द्वार पश्चिमी द्वार क्षितिज को छूते हैं.

प्रसिद्ध: इतिहास, फ़ोटोग्राफ़ी, हथियार
टिकट: विदेशी पर्यटकों के लिए 200 रुपए और भारतीयों के लिए 50 रुपए
ओपनिंग टाइमिंग: सभी दिन सुबह 10 बजे से शाम 5:30 बजे तक खुले रहते हैं
टाइमिंग: 45 मिनट

Things to Do at Jaigarh Fort

आर्टिलरी संग्रहालय जाएं
लेक पैलेस के शानदार दृश्य का आनंद लें.

Hawa Mahal

हवा महल जयपुर के सबसे प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षणों में से एक है, जो राजपूतों की शाही विरासत, वास्तकुला और संस्कृति के अद्भुत मिश्रण का प्रतीक है. हवा महल को राज्स्थान की सबसे प्राचीन इमारतों में से एक माना जाता है. इसकी आकर्षक झरोखे और खिड़कियों की वजह से इस महल को “पैलेस ऑफ विंड्स” भी कहते हैं, आपको अपनी जयपुर यात्रा के समय घुमें जाने वाले पर्यटन स्थलों की लिस्ट में हवा महल का नाम भी शामिल करना चाहिए.

प्रसिद्ध: इतिहास, वास्तुकला, फोटोग्राफी.
टिकट: विदेशी पर्यटकों के लिए 50 और भारतीयों के लिए 10 रुपए
ओपनिंग टाइमिंग: सुबह 9:30 से शाम 4:30 तक.
टाइमिंग: 1 घंटे

Things to Do at Hawa Mahal

पुरातात्विक संग्रहालय जाएं
पिंक सिटी बाजार में खरीदारी करें

Jal Mahal

जलमहल को बाकि सभी महलों में सबसे अलग और सबसे सूंदर महल कहा जाता है. यह महल राजस्थान की राजधानी जयपुर के मानसागर झील के मध्‍य स्थित प्रसिद्ध ऐतिहासिक महल है. यहां महल आधा पानी में डूबा हुआ है. पानी के बीचों बीच होने से इसे ‘आई बॉल’ ,’रोमांटिक महल’ भी कहा जाता है.

इस जलमहल तक पहुंचने के लिए नाव का इस्तेमाल किया जाता है. महल के चारो तरफ फैले पानी में आपको तरह-तरह की बतख, हंस, मछली आदि देखने को मिल सकते हैं. जो एक बहुत ही सूंदर दृश्य होता है. महल के पीछे पर्वतों के होने से महल का शाम का दृश्य बहुत ही अद्भुत हो जाता है. शायद इसलिए जलमहल जयपुर के सबसे बेशकीमती टूरिस्ट स्पोर्ट्स में से एक है.

प्रसिद्ध: फोटोग्राफी, प्रकृति, पक्षी पर्यटन स्थल
टिकट: विदेशी पर्यटकों के लिए 50 रुपए और भारतीयों के लिए 10 रुपए
ओपनिंग टाइमिंग: सुबह 9 से शाम 5 बजे खुला रहता है
टाइमिंग:1-2 घंटे.

Things to Do at Jal Mahal

जल महल वस्त्र और कालीन की दुकान
ऊंट की सवारी के लिए जाओ
रास्तों में लंबी पैदल यात्रा करें
बर्डवॉचिंग

Jantar Mantar

जयपुर का जंतर मंतर, राजा सवाई जयसिंह द्वारा निर्मित कराये गए चार वेधशालाओं में से एक है. अन्य वेधशालाएं दिल्ली, वाराणसी, उज्जैन एवं मथुरा में स्थापित हैं. जयपुर की वेधशाला इस कड़ी की अंतिम, सर्वोत्तम वेधशाला है. जंतर मंतर हवा महल के पास ही है. सिटी पैलेस अर्थात् जयपुर के मुख्य राजनिवास के ऊपर गर्व से फहराते, राजा सवाई जयसिंह के ध्वज को आप जंतर-मंतर में कहीं भी खड़े होकर निहार सकते हैं.

 प्रसिद्ध: खगोल विज्ञान, वास्तुकला,
टिकट: भारतीयों के लिए 40 रुपए और विदेशियों के लिए 200 रुपए
ओपनिंग टाइमिंग: सोमवार से शुक्रवार सुबह 9 बजे से शाम 4.30 बजे तक
टाइमिंग: 1 घंटे

Pink City Bazaar

पिंक सिटी बज़ार चार मुख्य बाज़ारों-जोहरी बाज़ार, बापू बाज़ार, नेहरू बाज़ार, किशनपोल बाज़ार और त्रिपोलिया बाज़ार से बना है. प्रत्येक बाजार अलग-अलग चीजों के लिए प्रसिद्ध है जैसे जोहरी बाजार कीमती रत्नों के लिए जाना जाता है, जयपुर के वस्त्र सामानों के लिए बापू बाजार, लकड़ी की मूर्तियों के लिए नेहरू बाजार और जूटियों के लिए किशनपोल. इस खूबसूरत बाजार घूमने के लिए आपको पूरे एक दिन लग सकते हैं.

Things to Do at Pink Bazaars

लक्ष्मी मिष्ठान भंडार में मुंह में पानी के व्यंजन रखें.
पास के आकर्षण जैसे हवा महल, सिटी पैलेस आदि घूमें

प्रसिद्ध: खरीदारी, वास्तुकला, फोटोग्राफी
टिकट: कोई प्रवेश शुल्क नहीं
ओपनिंग टाइमिंग: रविवार को छोड़कर सभी छह दिन बाजार खुले रहते हैं. सुबह 11 बजे से रात 10 बजे तक.

Albert Hall Museum

ओल्ड सिटी के फाटकों की अदला-बदली और प्रसिद्ध राम निवास गार्डन, अल्बर्ट हॉल संग्रहालय, इंडो-सरैसेनिक शैली की वास्तुकला का एक अद्भुत उदाहरण है. वेल्स के राजकुमार, अल्बर्ट एडवर्ड के नाम पर और वर्ष 1887 में पूरा हुआ यह संग्रहालय कला और संस्कृति अन्वेषण के लिए भारत के सबसे पुराने केंद्रों में से एक है. संग्रहालय में कई कलाकृतियां, भारत के विभिन्न हिस्सों और यहां तक ​​कि मिस्र की एक मम्मी के चित्र हैं जो बहुत लोकप्रिय हैं. हाल के दिनों में, अल्बर्ट हॉल संगीत कार्यक्रमों, रैलियों और त्योहारों जैसी कई गतिविधियों का केंद्र बन गया है. या पास के रेस्तरां में भी आराम करें.

Things to Do nearby Albert Hall

चिड़ियाघर की सैर करें
रेस्तरां में लंच करें
रास्ते के चारों ओर घोड़े की सवारी करें
राम निवास गार्डन में टहलें.

प्रसिद्ध : इतिहास, वास्तुकला, फोटोग्राफी
टिकट: भारतीय पर्यटकों के लिए 40 रुपए और छात्रों के लिए विशेष छूट के साथ विदेशी पर्यटकों  के लिए 300 रुपए
खुलने का समय: सुबह 9.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक और शाम 7.00 से 10.00 बजे (दैनिक). अक्टूबर से मार्च (अंतिम मंगलवार) और अप्रैल से सितंबर (प्रत्येक सोमवार) के महीनों में विशिष्ट रखरखाव दिनों पर बंद रहता है.
टाइमिंग: 1-2 घंटे

Galtaji

अरावली के पहाड़ी क्षेत्रों में स्थित, गलताजी या खोले के हनुमान जी एक महत्वपूर्ण हिंदू तीर्थस्थल है. मंदिर वनस्पति और प्राकृतिक झरनों से भरी पहाड़ी श्रृंखलाओं से घिरा हुआ है जो सात पवित्र कुंडों (पानी की टंकियों) को भरते हैं. मंदिर की अनूठी वास्तुकला, सुंदर मंडप और बेमिसाल जगह किसी भी पर्यटकों अच्छे जगहों में से एक है. भगवान हनुमान को समर्पित एक मंदिर के अलावा, इसमें भगवान राम, ब्रह्मा, सूर्य और भगवान विष्णु को समर्पित कई मंदिर भी हैं. मंदिर से जुड़ी एक पौराणिक कथा यह भी कहती है कि यह वही स्थान है जहां  तुलसीदास ने रामचरितमानस का कुछ अंश लिखा था.

Things to Do nearby Galtaji

नीले मिट्टी के बर्तनों की खरीदारी करें.
तेजस्वी अरावली रेंज देखें.

प्रसिद्ध: तीर्थयात्रा, वास्तुकला, पर्यटन स्थल
टिकट: कोई शुल्क नहीं
ओपनिंग टाइमिंग: ,सुबह 5 से11.30 बजे रात तक खुला रहता है
टाइमिंग : 1 घंटे

Birla Temple

लक्ष्मी मंदिर उर्फ़ बिरला मंदिर भारत के राजस्थान के जयपुर शहर में बना एक मंदिर है. बिरला मंदिर मोती डूंगरी किले के निचे बना हुआ है. जो विष्णु भगवान का एक हिन्दू मंदिर है. जयपुर शहर के मुख्य आकर्षणों में से यह मंदिर एक है. बिरला मंदिर का निर्माण शुद्ध सफ़ेद मार्बल से आधुनिक कला को ध्यान में रखकर किया गया है. मंदिर में दोनों देवताओ की मूर्ति को बेहतरीन रूप से सजाया और आभूषित किया गया है. बिरला मंदिर के भीतर देवताओ की मूर्ति के अलावा प्राचीन शिलालेख, हिन्दू सिंबल, आभूषण और भित्तिचित्र भी देखने मिलते है.

 

Jaipur Tour Guide jaipur tourist places to visit in jaipur
Jaipur Tour Guide jaipur tourist places to visit in jaipur

Things to Do nearby Birla Temple

मोती डूंगरी मंदिर (केवल भारतीय) पर जाएं
बिड़ला मंदिर शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में खरीदारी करें.
शाम को शहर के दृश्य का आनंद लें.

प्रसिद्ध: तीर्थयात्रा
टिकट: कोई शुल्क नहीं
ओपनिंग टाइमिंग: सभी दिनों में सुबह 5 बजे से 11:30 बजे तक और शाम को 5:30 बजे से रात 9 बजे तक खुला रहता है
टाइमिंग : 5 घंटे

Govind Dev ji Temple

गोविंद देव जी मंदिर एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है, खासकर उन लोगों के लिए जो भगवान कृष्ण को मानते हैं और भक्ति करते हैं. मंदिर के देवता को राजा सवाई जय सिंह द्वारा वृंदावन से मुगल सम्राट औरंगजेब द्वारा अपने विनाश को रोकने के लिए लाया गया था. एक लोकप्रिय हिंदू कथा के अनुसार, यहां की मूर्ति उनके अवतार के दौरान भगवान कृष्ण की वास्तविक उपस्थिति के सबसे करीब है. मंदिर में हर दिन, विशेष रूप से जन्माष्टमी और होली के दौरान भक्तों की भीड़ देखी जाती है.

Popular places to visit near Jaipur

यदि आपके पास कुछ समय है तो आप जयपुर के आस-पास कई जगहों पर घूम सकते हो. हम आपको नीचे कुछ जगहों के बारे में बता रहें हैं जहां पर जा सकते हैं.

Abhaneri Chand Baori

जयपुर से दूरी: 1 घंटा 56 मिनट (96.1 किमी)
चांद बावड़ी राजस्थान के अभनेरी गांव का एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण स्थल है जो 10 वीं शताब्दी के स्मारकों से संबंधित है. अभनेरी गांव राजस्थान की राजधानी जयपुर के पास स्थित है. आपको बता दें कि चांद बाउरी बेहद अदभुद स्टेप वेल है. जिसमें तीन तरफ सीढ़ियां हैं, जो जल स्टोर करने का काम करती हैं. बता दें कि यह स्टेप वेल 13 मंजिला से ज्यादा गहरी हैं, जिसमें 3500 से ज्यादा सीढ़ियां बनी हुई हैं.

Sariska National Park

जयपुर से दूरी: 2 घंटा 48 मिनट (121 किमी)
सरिस्का नेशनल पार्क अलवर जिले में अरावली की पहाड़ियों में है और इसे साल 1958 में Wildlife Sanctuary घोषित किया गया था. इसे सन 1979 में टाइगर रिजर्व के रूप में ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ में शामिल किया गया था. इस पार्क में 800 वर्ग किलोमीटर का विशाल इलाका है और यहां विविध प्रकार के जीव, वनस्पति और पक्षी पाए जाते हैं.

 Ajmer

जयपुर से दूरी: 2 घंटा 15 मिनट (134.6 किमी)

अरावली पहाड़ियों से घिरा हुआ अजमेर इस्लाम के इतिहास और विरासत के मामले में राजस्थान का सबसे महत्वपूर्ण शहर है. अजमेर के दर्शनीय स्थल का ऐतिहासिक रूप से काफी महत्त्व है , चाहे बात भारत के सबसे प्रसिद्ध मुस्लिम तीर्थस्थलों में से एक ख्वाजा मुइन-उद-दीन चिश्ती दरगाह की हो या फिर अकबर के महल की अजमेर में घूमने की जगह की कोई कमी नहीं है.

Pushkar

जयपुर से दूरी: 2 घंटे 28 मिनट (145.0 किमी)

दुनिया में एकमात्र ब्रह्मा मंदिर के लिए प्रसिद्ध, पुष्कर में लगभग 300 पुराने मंदिर हैं जो अपने परिदृश्य को दर्शाते हैं. पुष्कर झील के आसपास के 52 पवित्र घाट भी एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल हैं. तीर्थयात्रा केंद्र होने के अलावा, पुष्कर नवंबर में एक प्रसिद्ध ऊंट मेले की मेजबानी भी करता है.

Ranthambore National Park Sawai Madhopur

जयपुर से दूरी: 3 घंटा 27 मिनट (161.6 किमी)
रणथंबोर नेशनल गार्डन उत्तरी भारत के सबसे बड़े राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है. यह अद्भुत नेशनल गार्डन सवाई माधोपुर में स्थित है. पार्क में मुख्य आकर्षण बाघ ट्रेल्स की सफारी करना है. सवारी दिन के दो अलग-अलग समय पर किया जाता है. प्रत्येक सवारी में तीन घंटे लगते हैं. पूरे पार्क क्षेत्र को कई क्षेत्रों में विभाजित किया गया है और सफारी वाहन इन क्षेत्रों में से एक पर जाते हैं. रणथंबोर किला पार्क के अंदर एक और आकर्षण है. किले जमीन से 700 फीट ऊपर की ऊंचाई पर स्थित है.

Keoladeo National Park Bharatpur Sanctuary

जयपुर से दूरी: 3 घंटा (188 किमी)।

केवलादेव नेशनल गार्डन भरतपुर का सर्वाधिक प्रसिद्द पर्यटन आकर्षण केंद्र है. यह पार्क जिसे केवलादेव घना नेशनल गार्डन भी कहा जाता है. केवलादेव घाना राष्ट्रीय उद्यान भरतपुर से बस और ऑटोरिक्शा से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. विशेष अनुरोध पर इलेक्ट्रिक गाड़ियां भी उपलब्ध हैं. हालांकि इस पार्क की सैर का सबसे अच्छा तरीका यह है कि पैदल, साईकिल या साईकिल रिक्शे द्वारा इसकी सैर की जाए. पर्यटक गार्डन अधिकारियों की अनुमति से किफ़ायती दाम पर किराये की साईकिल ले सकते हैं.

जयपुर सिर्फ एक पर्यटक स्थल नहीं है. यह सीखने, आनंद लेने, आश्चर्य करने, अनुभव करने, विचार करने और रोमांच प्राप्त करने की एक जगह है. जयपुर में घूमने के लिए और भी बहुत सी जगहें हैं जिनकी आपको यात्रा करने की आवश्यकता है लेकिन अगर आपके पास समय कम है, आप इन जगहों पर घूम सकते हैं जो हमने ऊपर आपको विस्तार से बताया है.  जपुर के अलावा, राजस्थान में कई और लोकप्रिय घूमने कि लिए जगह है.

Conclusion

मैं आशा करती हूं कि इस आर्टिकल में आपकी जयपुर यात्रा के सभी सवालों का जवाब आपको मिल गया होगा. हालांकि, अगर अभी भी आपके कुछ सवाल हैं तो आप कमेंट बॉक्स में हमसे पूछ सकते हैं. और हां, वीडियो प्लेटफॉर्म पर हमसे जुड़ने के लिए youtube.com/traveljunoonvlog पर जरूर विजिट करें.

दोस्तों, आप भी Travel Junoon के संग जुड़ सकते हैं और अपने लेख हजारों लोगों तक अपनी तस्वीर के साथ पहुंचा सकते हैं. आप अपना लिखा कोई भी Travel Blog, Travel Story हमें भेजें – GoTravelJunoon@gmail.com पर. हम उसे आपकी तस्वीर के साथ वेबसाइट पर अपलोड करें.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे