Chhath Puja : कोरोना की वजह से इस बार की छठ होगी कुछ अलग, आप भी पढ़ें ये नियम

Chhath Puja  :  दिवाली के बाद सबसे बड़ा महापर्व आता है छठ पूजा का. लोग कई दिन पहले से ही इसकी तैयारियों में लग जाते हैं. इस साल कोरोना के कारण परिस्थितयां कुछ अलग हैं. इसलिए राज्य सरकारों ने कई तरह के नए (Chhath Puja ) नियमों के लिए इस पर्व को मनाने की छूट दी है.

Chhath Puja 2020 : छठ पूजा में इन बातों का रखें खास ख्याल, कहीं हो न जाए अपशकुन

इसी कड़ी में झारखंड सरकार ने कोरोनो वायरस महामारी फैलने की आशंका के मद्देनजर सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा पर्व पर प्रतिबंध लगा दिया है. (Chhath Puja) त्यौहार के लिए जारी किए गए राज्य सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार, श्रद्धालु नदियों, तालाबों, झीलों और अन्य जल निकायों में छठ पूजा नहीं कर पाएंगे.

Chhath Puja 2020 : छठ पूजा का महाप्रसाद ठेकुआ बनाने की जानकारी यहां से लें

गृह, कारागार और आपदा प्रबंधन विभाग के दिशानिर्देशों ने तालाबों और नदियों के किनारे स्टॉल या बैरिकेड्स लगाने पर भी प्रतिबंध लगा दिए हैं. साथ ही छठ घाटों पर किसी भी तरह की सजावट पर भी पाबंदी है.विभाग ने सार्वजनिक स्थानों पर पटाखे फोड़ने, सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करने पर भी रोक लगाई है.

Chhath Puja 2020 : छठ त्यौहार मनाने के पीछे ये है पौराणिक कथा

मुख्य सचिव सुखदेव सिंह की अध्यक्षता वाली एक समिति ने कहा कि सरकार को लगा कि छठ के दौरान नदियों के किनारे धार्मिक अनुष्ठान करते समय सामाजिक दूरी और चेहरे पर मास्क लगाने के नियमों का पालन करना संभव नहीं होगा. नदियों में स्नान वगैरह करने से संक्रमण के फैलने का खतरा भी हो सकता है.

Chhath Puja 2020 : छठ पर्व को देखते हुए रेलवे चला रही है स्पेशल ट्रेनें, यहां देखिये लिस्ट

समिति ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग और सवाधानी संबंधी अन्य नियमों का पालन करते हुए निजी परिसरों, छत इत्यादि पर छठ पूजा करने की सलाह दी है.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे