घुमक्कड़ी की सीरीज में ट्रेड फ़ेयर (Trade Fair) भी जोड़ लें

घुमक्कडों को अक्सर बहाना चाहिए होता है घर से निकलने और घूमने का। दिल्ली एनसीआर में रहने वाले जिन लोगों को नई नई जगह घूमना, नए अनुभव करना, खाने पीने और शॉपिंग का शौक होता है उनके लिए दिल्ली का ट्रेड फ़ेयर (Trade Fair) एक अच्छा ऑप्शन है।

दिल्ली के प्रगति मैदान में हर साल 14 नवंबर से 27 नवंबर तक इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फ़ेयर लगता है। जिसमें देश विदेश से प्रतिभागी हिस्सा लेते हैं। इस मेले की रौनक देखते ही बनती है। लोग दूर दूर से भारी संख्या में इस मेले को देखने आते है। यहाँ भारत के सभी राज्यों और प्रान्तों की स्थानीय विशिष्ट कला का प्रदर्शन किया जाता है जिससे लोग निश्चित तौर से प्रभावित होते हैं। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक एप्लायंसेज, खाद्य सामग्रियां, कपड़े, जूते, फर्नीचर, हैंडलूम, कॉस्मेटिक्स आदि काफी कुछ होता है देखने और खरीदने के लिए। विदेशी स्टॉल्स पर काफी कुछ नया देखने को मिलता है।

Travel Junoon संग जुड़ें, Like करें हमारा Facebook पेज

इस मेले में हर चीज़ की इतनी वैरायटी होती कि कोई खरीदारी किये बिना नहीं रह पाता। बहुत सी चीज़ों पर यहां अच्छी ऑफर भी चलती हैं। यहाँ पर खाने पीने की भी बहुत सी ऑप्शन्स होती है। यहाँ आप भारत के अलग अलग प्रांतों के विभिन्न पारंपरिक पकवानों के ज़ायके का लुत्फ उठा सकते हैं। आपकी सुविधा के लिए मेले में जगह जगह पीने के पानी का इंतज़ाम भी किया गया है। यहाँ शौचालय की भी सुविधा है। लोगों में खासी एक्साइटमेन्ट रहती है इस मेले को लेकर। यहाँ बच्चों से लकेर बुज़ुर्गों तक हर किसी के लिए कुछ न कुछ होता है। भारतीय राज्यों के पविलियन में जानकारी से भरपूर झांकिया भी लगाई जाती है जिसे देख कर खास तौर से बच्चे बहुत खुश होते हैं।

इस बार भी यह ट्रेड फेयर 14 नवंबर से आरंभ हो गया है। लेकिन 14 से 17 नवंबर के दिन व्यापारियों के लिए तय किये गए थे और 18 नवंबर से यह मेला आम जनता के लिए खुल जायेगा। क्योंकि प्रगति मैदान के कुछ भाग में निर्माण कार्य चल रहा है इसलिए इस बार 800 प्रतिभागी ही हिस्सा ले रहे हैं लेकिन मेले की रौनक वैसी ही है।

इस बार इस मेले में 16 देश हिस्सा ले रहे हैं जिसमें नेपाल, चीन, हॉन्ग कॉन्ग, म्यांमार, अफ़ग़ानिस्तान, किर्गिस्तान, ईरान, अफ्रीका, साउथ कोरिया, थाईलैंड, टर्की, ट्यूनीशिया, विएतना, यूएई और नीदरलैंड शामिल हैं। इस 38वें ट्रेड फ़ेयर की थीम ‘रूरल एंटरप्राइज इन इंडिया’ रखी गयी है। अफ़ग़ानिस्तान को इस बार अंतराष्ट्रीय व्यापार मेले में भारत की पार्टनर कंट्री और नेपाल को फोकस कंट्री बनाया गया है। इस मेले में झारखंड को फोकस राज्य बनाया गया है।

मेले में दिल्ली के पंडाल में सिग्नेचर पुल और मोहल्ला क्लिनिक की झलक भी देखने को मिलेगी। इस पंडाल में शिक्षा क्षेत्र में उठाये गए नए कदमों को भी प्रदर्शित किया गया है।

इस बार ट्रेड फ़ेयर में कुछ बदलाव किए गए हैं। इस बार मेले में गेट नंबर 1, 8 और 10 से एंट्री दी जाएगी। टिकेट की व्यवस्था लगभग 66 मेट्रो स्टेशन पर की गई है। इस बार प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन से ट्रेड फ़ेयर की टिकट नही मिलेगी।

टिकेट का शुल्क: 18 से 27 नवंबर तक आम जनता के लिए शनिवार, रविवार और सार्वजनिक छुट्टी वाले दिन बच्चों की टिकेट 60 रुपये की और बड़ों की 120 रुपए की होगी। वर्किंग डे में बच्चों की टिकेट 40 रुपये और बड़ों की 60 रुपये की रहेगी।

ट्रेड फ़ेयर का समय: फ़ेयर प्रतिदिन सुबह 9.30 बजे से शाम 7.30 बजे तक खुला रहेगा। लेकिन वीकेंड में दोपहर 2 बजे और वीक डेज़ में शाम 4 बजे के बाद टिकेट नही मिलेगी।

इस बार मथुरा और भैरों मार्ग पर पार्किंग और हॉलटिंग की अनुमति नही है। अवैध पार्किंग वालों को 600 रुपये का चालान का भुगतान करना पड़ेगा। मथुरा रोड़ से यु-टर्न भी वर्जित रहेगा। लोधी रोड़ और राजघाट से पार्क एंड राइड की सुविधा उपलब्ध रहेगी। यहाँ पर आप अपनी गाड़ी पार्क कर के डी टी सी की शटल सेवा से प्रगति मैदान पहुंच सकते हैं। इसके अलावा आई टी ओ और मंडी हाउस से प्रगति मैदान के लिए निःशुल्क डी टी सी सेवा भी मिलेगी। आपकी सहूलियत के लिए प्रगति मैदान के गेट नंबर 1 और 2 पर प्री पेड ऑटो रिक्शा की सुविधा भी दी जा रही है। क्योंकि ट्रेड फेयर के दौरान ट्रैफिक और पार्किंग की समस्या ज़्यादा रहती है इसलिए बेहतर होगा अगर आप डी टी सी बस या मेट्रों से प्रगति मैदान जाएं।

तो आगर घूमने का मन है तो ट्रेड फेयर घूम आईये। मौका भी है और दस्तूर भी।