https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

Google Map कितने काम का? फायदे और नुकसान जान लें

Google Map benefits – आज की तारीख में कहीं पर भी जाने के लिए हर कोई बस एक ही चीज का इस्तेमाल करता है और वो है गूगल मैप्स ( Google Map ) । ये हमारी रोजमर्रा का एक बेहद ही अहम हिस्सा बन गया है। अब किसी को भी सड़क किनारे गाड़ी लगाकर पनवाड़ी से या रिक्शेवाले से रास्ता नहीं पूछना पड़ता है, बस सीधा मैप्स में लोकेशन डालों और अपनी मंजिल पर पहुंच जाओ। गूगल मैप्स ( Google Map ) सिर्फ आपको रास्ता ही नहीं बताती बल्कि ये भी बताती है कि आप अपनी मंजिल में कितनी देर में पहुंचेंगे किस तरफ आपको कितना जाम मिलेगा, आपके एक पॉइंट से दूसरे पॉइंट के बीच में कितनी दूरी है। ये हमारी लाइफ का इतना अहम हिस्सा बन गया है कि अब सड़क पर बने साइन बोर्ड देखने की तो आदत ही खत्म सी हो गई है बस गूगल मैप ( Google Map ) में बोलने वाली औरत की आवाज सुनते हुए रास्ता कट जाता है और अपनी मंजिल पर पहुंच जाते हैं।

गौरतलब है कि गूगल मैप्स ( Google Map ) में एक और दिलचस्प फीचर है जो आपके तब काम आता है जब आपको अपनी यात्रा के बीच में अलग अलग जगहों पर रुकना है। ये काम बेहद ही आसानी से गूगल मैप्स ( Google Map ) पर किया जा सकता है। आप गूगल मैप्स ( Google Map ) पर मल्टीपल स्टॉप को जोड़ सकते हैं। इससे आपको एक पॉइंट से दूसरे तक पहुंचने में कितना वक्त लगेगा उसे जानने में आसानी हो गई है और साथ ही बार-बार अलग-अलग स्टॉप डालने की भी जरूरत नहीं है।

तो आज हम ट्रैवल जुनून के इस आर्टिकल में आपको गूगल मैप्स की इस ट्रिक के बारे में भी बताएंगे कि कैसे आप अपनी यात्रा में अलग-अलग स्टॉप जोड़ सकते हैं। ये विकल्प एंड्रॉइड और एप्पल दोनों तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए उपलब्ध है। तो चलिए जानते है स्टेप-बाय-स्टेप कि कैसे मल्टीपल स्टॉप को मैप में जोड़ें।

  1. सबसे पहले तो अपने गूगल मैप को ओपन करें और फिर अपनी आखिरी की डेस्टिनेशन को डालें। इसके बाद स्क्रीन में नीचे की तरफ दिखने वाले डायरेक्शन बटन को दबाएं।
  2. डायरेक्शन को चुनने के बाद आपको अपनी स्क्रीन में ऊपर दाई तरफ 3 डॉट वाला मेन्यू दिख रहा होगा, उसे चुन लें। इसमें आपको एक एड स्टॉप का विकल्प मिलेगा। उसे चुनने के बाद आप अपनी एक ट्रिप में 9 बार स्टॉप जोड़ सकते हैं।
  3. अगर आपको अपने स्टॉप की जगह को बदलना है तो एड स्टॉप को ऊपर या नीचे की तरफ ड्रैग भी कर सकते हैं। इससे आप आसानी से अपने रास्ते को सुविधाजनक बना सकते हैं।
  4. आपको बता दें कि ये वर्जन सिर्फ ड्राइविंग और साइक्लिंग मोड में ही काम करता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल वेब वर्जन में भी किया जा सकता है।

आप सबको लगता होगा कि गूगल मैप ( Google Map ) के कई सारे फायदे हैं, जैसे कि इसमें आप आसानी से अपनी जगह पर पहुंच जाते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है इसके कई नुकसान भी है। तो चलिए अब जानते हैं गूगल मैप्स के फायदे और नुकसान के बारे में।

गूगल मैप के फायदे – Benefit of Using Google Map

  1. गूगल मैप ( Google Map ) आपको शहरों, सिटी, कस्बों, के साथ-साथ रेस्तरां के रिव्यू का भी विकल्प देता है। साथ ही आपको अपने आस-पास की दूकानों के बारे में भी पता चलता है। गूगल मैप में जानकारी का भंडार है। इसके अलावा गूगल मैप में कई हवाईअड्डों, संग्रहालय औऱ अन्य जगहों के अंदर की भी जानकारी है।
  2. आप गूगल मैप ( Google Map ) के जरिये शेयरिंग भी कर सकते हैं, जिससे की आपकी पार्टी, मिलना काफी आशान हो जाता है। इसके अलावा आप अफनी लोकेशन को शेयर कर सकते हैं, जिससे अगर आफ कहीं रास्ता भटक गए हैं तो उसमें आपको आशानी होगी।
  3. गूगल मैप ( Google Map ) आपको कई तरह के ड्राइविंग विकल्प देता है, जैसे कि गाड़ी, बाइक, पैदल या फिर पब्लिक ट्रांस्पोर्ट।

गूगल मैप के नुकसान – Disadvantages of Google Maps

  1. कई बार गूगल मैप ( Google Map ) गलत रास्ते भी बता देता है जिस वजह से यात्रा में दिक्कत हो जाती है। साथ ही कई बार गूगल मैप ( Google Map ) रास्ता बताने में कंफ्यूजन भी पैदा कर देता है। वहीं कुछ रिमोट लोकेशन के बारे में गूगल मैप्स ( Google Map ) में कोई जानकारी नहीं है।
  2. गूगल मैप में हर एक मिनट का अपडेट नहीं होता है। मान लो कि कहीं पर बारिश आ गई है, जिस वजह से सड़क पर पानी भर गया है और जाम लग गया है तो इसके बारे में हो सकता है कि आपको गूगल मैप पर जानकारी नहीं मिलेगी। वहीं कहीं पर कंस्ट्रकशन का काम चल रहा है तो वो भी गूगल मैप बताने में फेल हो सकता है।  

Taranjeet Sikka

एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।