Jim Corbett National Park : ये हैं टाइगर रिजर्व एरिया के 5 जोन, Full Information

कॉर्बेट नेशनल पार्क को 5 ईकोटूरिज्म जोन में बांटा गया है. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि इस टाइगर रिजर्व एरिया में टूरिज्म एक्टिविटीज को लेकर सही व्यवस्था बनाई जा सके. ये 5 जोन हैं, ढिकाला जोन (Dhikala Zone), बिजरानी जोन (Bijrani Zone), झिरना जोन (Jhirna Zone), ढेला जोन (Dhela Zone) और दुर्गा देवी जोन (Durga Devi Zone). कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में फॉरेस्ट अधिकारियों द्वारा सभी इकोटूरिज्म जोन में सफारी टूर 2 शिफ्टों में ऑर्गनाइज किया जाता है. सभी जोन में टूरिस्ट फ्लो समान रूप से बना रहे इसके लिए लिमिटेड नंबर में ही जीप सफारी को अंदर जाने की अनुमति मिलती है. हर जोन का अपना नेचरल चार्म है, हर किसी का एक वाइल्डलाइफ और ब्यूटी है. आइए हम आपको इन 5 जोन के बारे में जानकारी देते हैं

Dhikala Zone – एंट्री गेट: Dhangadi Gate , Ramnagar से 32 किलोमीटर दूर : 
  • Open Period for Safari Tour : 15th November to 15th June
  • Safari Offered : Day Canter Safari Only (No Jeep Safari)
  • Maximum Number Of Canter Safari Seats : 32 Seats in One Shift
  • Forest Rest House : Dhikala FRH, Gairal FRH, Sarpduli FRH, Sultan FRHOfficial Website- https://www.corbettonline.uk.gov.in

ढिकाला जोन को सभी जोन में सेलिब्रिटी जैसा स्टेटस हासिल है. डे सफारी और ढिकाला फॉरेस्ट रेंट हाउस में नाइट स्टे के लिए इस जोन की सबसे ज्यादा डिमांड रहती है. यह पाटील दून वैली की परिधि में स्थित ढिकाला जोन जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का सबसे बड़ा जोन है. इस जोन के लैंडस्केप में बड़ी ग्रासलैंड्स हैं जिसे चॉर कहा जाता है, साथ ही यहां रामगंगा नदी की कई धाराएं प्रवाहित होती हैं. कंडा रिज से वैली का पैनोरोमिक व्यू बेहतरीन दृश्य पैदा करता है. वाइल्ड लाइफ लवर्स का ये बेस्ट स्पॉट है और यहां का नाइट स्टे सभी की पहली पसंद रहता है. हाथी, स्पॉटेड डियर, जंगली सुअर, हॉग डिअर, बार्किंग डिअर, इस रीजन में सबसे ज्यादा दिखाई देते हैं. अगर आप भाग्यशाली हैं तो क्या पता आपको हिरण के पीछे दौड़ता हुआ टाइगर नजर आ भी जाए. पक्षिओं की भी विभिन्न प्रकार की प्रजातियां यहां देखने को मिलती है.

For Travel Queries/Booking- [email protected]

ढिकाला जोन में जीप सफारी अवेलेबल नहीं होती है. यहां कैंटर सफारी होती है. कैंटर एक तरह की खुली बस होती है जिसमें 16 लोगों के बैठने की व्यवस्था होती है. यहां एक शिफ्ट में 2 बसें ही अलाउड होती हैं. आपको अगर ढिकाला जोन में सफारी करनी है तो अडवांस में कैंटर सफारी की बुकिंग करानी होगी, जिसके बाद आप ढिकाला जोन के गेट पर जा सकते हैं.

Bijrani Zone, एंट्री गेट: Amdanda Gate, Ramnagar से दूरी : 2 km 
  • Open Period for Safari Tour : 15th October to 30th June
  • Safari Offered : Day Jeep Safari
  • Maximum Number Of Safari : 30 Jeeps in One Shift
  • Forest Rest House : BIJRANI FRH, MALIAN FRH

जब बात प्राकृतिक सौंदर्य और कॉर्बेट के किंग, रॉयल बंगाल टाइगर की आती है तो बिजरानी जोन कहीं से भी पीछे नजर नहीं आता है. ढिकाला जोन के बाद ये जोन सबसे ज्यादा मशहूर है और डे सफारी टूरिस्ट द्वारा सबसे ज्यादा विजिट किया जाने वाला जोन भी है. आंखों को भा जाने वाला लैंडस्केप आपको दीवाना कर देता है, इसके साथ ही इसका एंबिएंस भी दिलचस्प है. इस जोन में जंगली पौधों की कई प्रजातियां मौजूद हैं. ग्रासलैंड्स, साल फॉरेस्ट और कई जलधाराएं इसे ढिकाला जैसा ही आकर्षक बनाती हैं. 

बिजरानी जोन में जीप सफारी सिर्फ दिन के लिए अवेलेबल रहती है. कोई भी अपनी डे सफारी को ऑनलाइन बुक कर सकता है. डे विजिटर्स एलिफेंट सफारी का आनंद भी ले सकते हैं, जिसके लिए ऑन द स्पॉट फर्स्ट कम, फर्स्ट सर्व की तर्ज पर एक फीस निर्धारित है. डे सफारी दो शिफ्ट्स में होती हैं. एक शिफ्ट में 30 जीपों को ही अंदर जाने की अनुमति है. एक जीप पर अधिकतम 6 अडल्ट और 2 बच्चें (एक्सक्लूडिंग ड्राइवर-गाइड) बैठ सकते हैं. हर जीप के साथ गाइड का होना आवश्यक है.

Jhirna Zone, एंट्री गेट : Dhela Gate, Ramnagar से दूरी 15 किलोमीटर
  • Open Period for Safari Tour : Throughout the year (subject to weather condition)
  • Safari Offered : Day Jeep Safari
  • Maximum Number Of Safari : 30 Jeeps in One Shift
  • Forest Rest House : Jhirna FRH, Dhela FRH

कॉर्बेट नेशनल पार्क के दक्षिणी छोर पर स्थिति ये जोन, टाइगर रिजर्व जोन की लिस्ट में सबसे बाद में, साल 1994 में जोड़ा गया. आज यह वाइल्डलाइफ प्रेमियों की पसंद बन चुका है. झिरना जोन सालभर टूरिस्ट्स के लिए डे सफारी के लिए खुला रहता है इसलिए यह Corbett Reserve forest में सबसे ज्यादा विजिट किए जाने वाला जोन है. टाइगर साइटिंग इस जोन में अक्सर होती है और यहां आप वाइल्डलाइफ की खासी प्रजातियां देख सकते हैं. टाइगर के अलावा, जंगली भालू भी यहां के मुख्य आकर्षण हैं. अन्य जानवरों में हाथी, सांभर, हिरण की अलग अलग प्रजातियां और पक्षियों की प्रजाति भी आप यहां देख सकते हैं.

इस जोन में डे सफारी दो शिफ्ट में चलती है, जिसमें एक शिफ्ट में 30 जीप ही अलाउड रहती हैं. आप डे सफारी की बुकिंग ऑनलाइन कर सकते हैं.  एक जीप पर अधिकतम 6 अडल्ट और 2 बच्चें (एक्सक्लूडिंग ड्राइवर-गाइड) बैठ सकते हैं. हर जीप के साथ गाइड का होना आवश्यक है.

Dhela Zone, एंट्री गेट : Dhela Gate, Ramnagar से दूरी- 15 किलोमीटर 
  • Open Period for Safari Tour : Throughout the year (subject to weather condition)
  • Safari Offered : Day Jeep Safari
  • Maximum Number Of Safari : 15 Jeeps in One Shift
  • ढेला जोन को कॉर्बेट नेशनल पार्क के जोन की लिस्ट में सबसे आखिर में, दिसंबर 2014 में जोड़ा गया.  यह जोन भी सफारी के लिए सालभर खुला रहता है. हालांकि सफारी टूर मौसम पर निर्भर करता है. इस जोन में मिक्स टोपोग्राफी है जिसमें साल, बहेड़ा, रोहिणी और कुसुम के पेड़ हैं. लॉयल बंगाल टाइगर के साथ साथ यहां तेंदुआ, जंगली हाथी, नीलगाय, हिरण की अलग अलग प्रजातियां, जंगली भालू, रेंगने वाले जंतु और पक्षी यहां देखने को मिलते हैं. बर्डिंग के लिए ये बेस्ट जोन हैं. यहां सफारी एंट्री परमिट के साथ साथ आपको जीप और गाइड भी बुक करने होते हैं, जिसके बिना अंदर जाने की अनुमति नहीं मिलती है.

    Durga Devi Zone, एंट्री गेट : Durga Devi Gate, Ramnagar से दूरी 28 किलोमीटर
    • Open Period for Safari Tour : 15th November to 15th June
    • Safari Offered : Day Jeep Safari
    • Maximum Number Of Safari : 11 Jeeps in One Shift
    • Forest Rest House : Lohachaur FRH

    अपने हिली लैंडस्केप की वजह से दुर्गा देवी जोन नेचर लवर्स के लिए किसी पैराडाइज से कम नहीं है. ये जोन कॉर्बेट फॉरेस्ट के उत्तर पूर्वी हिस्से पर है. रामगंगा नदी और मंडल नदी की धाराएं इसमें प्रवाहित होती हैं. टाइगर्स, तेंदुए, जंगली हाथी और अन्य के साथ साथ यहां फेमस मशीर फिश भी है जो यहां की नदियों में रहती है.

    इस जोन में पक्षियों की कई प्रजातियां हैं, जो बर्डिंग के बेहतरीन अनुभव देती हैं. यहां ग्रे हेडेड फिशिंग ईगल, 

    मैरून ओरिले, ब्लैक चिनहट युहिना, लॉन्ग टेल्ड ब्राडबिल, स्लेटी ब्लू फ्लाइकैचर, बार टेल्ड ट्री क्रीपर दिखाई देते हैं. बर्ड वाचर्स के लिए ये जगह एक पैराडाइज हैं.

    For Travel Queries/Booking- [email protected]

    Sitabani Forest Zone (Buffer Zone), एंट्री गेट : Near Teda Village (Private Vehicle Allowed), Ramnagar से दूरी- लगभग 4 किलोमीटर
    • Exit Gate : Paulgarh Gate
    • Open Period for Safari Tour : All Round the Year
    • Safari Offered : Day Jeep Safari , Day Elephant Safari
    • Maximum Number Of Safari : Unlimited
    • Forest Rest House : Few Hotels and Resorts run privately

    Sitabani forest zone कॉर्बेट टाइगर रिजर्व एरिया के बाहर एक रिजर्व फॉरेस्ट जोन है. ये जोन टाइगर रिजर्व के लिए बफर एरिया के तौर पर ट्रीट किया जाता है और यह हर किसी के लिए खुला रहता है. इस जोन के लैंडस्केप में घना जंगल, नदियां और कई पुराने मंदिर हैं. आप यहां हाथी, हिरण, नीलगाय और अन्य जानवरों को विचरते देख सकते हैं. क्योंकि यह बफर जोन है इसलिए टाइगर और तेंदुए यहां नजर आना नामुमकिन जैसा ही है, लेकिन कई बार ऐसा भी हुआ है जब शिकार की तलाश में आए टाइगर्स यहां नजर आए हैं.

    यहां लगभग 600 पक्षियों की प्रजाति है. जिसमें से अधिकतर माइग्रेटरी बर्ड्स हैं. बर्ड वाचर्स के लिए ये एक मुफीद जगह है. इस एरिया में कई गांव हैं.  टूरिस्ट इस जगह को अक्सर मिस कर बैठते हैं. यहां पुराना सीताबनी मंदिर है जिसकी देखरेख आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया करती है. इसके साथ ही, यहां भगवान शिव का एक और प्राचीन मंदिर है. 

    यहां की नाइट सफारी आपके लिए एक यादगार अनुभव साबित होगी. विजिटर्स यहां जीप सफारी, हाथी सफारी या पैदल एक्सप्लोर कर सकते हैं, इस जोन में निजी वाहन भी अलाउड हैं. एंट्री के लिए टेडा विलेज में बने एंट्री गेट पर फीस देनी होती है. एग्जिट पौलगढ़ गेट से होती है, जो एंट्री गेट से 60 किलोमीटर दूर है. 

News Reporter
%d bloggers like this: