Dhenkanal Hill Station : ढेंकानाल की खूबसूरती, यहां पर स्थित पहाडियों, घाटियों और नदियों में बसी है

Dhenkanal Hill Station : ढेंकानाल हिल स्टेशन जो अपने घने जँगलों, पहाड़ो, हसीन वादियों और सुहावने मौसम के लिए जाना जाता है। यहां पर हिन्दू धर्म के देवी-देवताओं के मंदिर भी देखने को मिलेंगें। जहाँ आप भगवान की पूजा-अर्चना भी कर सकते हैं।

कहां स्थित है ढेंकानाल ( Where is Dhenkanal Hill Station Situated )

ढेंकानाल भारत के ओड़िशा राज्य के ढेंकानाल ज़िले में स्थित एक सुंदर नगर है। ढेंकानाल ज़िले का मुख्यालय भी है।
ढेंकानाल, राज्‍य की राजधानी भुवनेश्‍वर से करीब 99 किमी. की दूरी पर स्थित है। इससे पहले ये राज्य का करद राज्य था। देशी राज्यकाल में भी ढेंकानाल राज्य का प्रधान केंद्र था और यहीं पर नरेश रहते थे। यहाँ पर ब्राह्मनी नदी पश्चिम से पूर्व की ओर बहती है। इस नदी की घाटी उपजाऊ मानी जाती है तथा यहां की नदियां आपको स्वच्छ देखने को मिलेंगीं। ढेंकानाल में लोह खनिज पर्याप्त रूप से पाया जाता है। यहाँ की इमारती लकड़ी, चावल और तिलहन का व्यापार बड़ी मात्रा में होता है।

 

Horsley Hills : इस Monsoon में लीजिये Horsley Hills की खूबसूरत पहाड़ियों का मज़ा

 

 

ढेंकानाल मुख्‍य रूप से घने जंगलों और जंगली जानवरों के लिए है प्रसिद्ध ( Dhenkanal famous for it’s forest and animals )

ढेंकानाल को वनस्‍पतियों और जीवों का प्राकृतिक खजाना माना जाता है। यहां की खूबसूरती, यहां पर स्थित पहाडियों, हसीन वादियों, घाटियों और नदियों में बसी हुई है। ढेंकानाल को मुख्‍य रूप से यहां के घने और विशालकाय जंगलों और बड़े जंगली जानवरों जैसे – टाइगर और हाथी आदि के लिए जाना जाता है। ढेंकानाल यहां की प्रकृति की बनावट का लोहा मनवाता है। ढेंकानाल की भूमि में बेहद प्राकृतिक सुंदरता, मोहक घाटियां, सुंदर वन और मनोरम वास्‍तुशिल्‍प के साथ पनपती है।

ज़रूर करें यहां के प्राचीन कपिलश मंदिर के दर्शन  ( Do visit in Kapilash Temple )

ढेंकानाल में कई हिंदू देवी-देवताओं के मंदिर स्थित हैं। लेकिन यहां का सबसे मशहूर मंदिर है कपिलश मंदिर। इस मंदिर को प्राचीन कलिंग वास्तुकला के हिसाब से बनाया गया है। यहां की प्राकृतिक खूबसूरती को आपके दिल में हमेशा के लिए बस जाएगी। इस मंदिर के शांत माहौल में आपको बेहद सुकून मिलेगा। इस मनोरम स्थान की तुलना किसी से भी नहीं की जा सकती है। अगर आप अपने परिवार के साथ किसी हिल स्टेशन जाना चाहते हैं तो एक बार ढेंकानाल जाने का प्लान ज़रूर बनायें। ये आपके लिए एक यादगार जगह रहेगी।

 

Araku Valley : भारत के Eastern Ghats पर है ये नायाब नगीना, यहां लीजिये Coffee Beans का मज़ा

 

 

ढेंकानाल में स्थित अन्य पर्यटन स्थल ( Place around Dhenkanal )

ढेंकानाल में आपको पर्यटकों की सैर के लिए कई खजाने देखने को मिलेंगें। ढेंकानाल में धर्म और संस्‍कृति का बोलबाला है। इसी कारण ढेंकानाल और उसके आसपास के क्षेत्रों में कई धार्मिक स्‍थल औए भव्य मंदिर स्थित हैं। इस स्‍थान पर स्थित सुंदर मंदिर यहाँ के हिंदूओं के देवी-देवताओं को समर्पित है। यहां बालभद्र मंदिर भी स्थित है जिसमें भगवान बालभद्र की पूजा-अर्चना भी की जाती है। यहाँ स्थित रघुनाथ मंदिर भगवान राम को समर्पित है। इसके अलावा ढेंकानाल पर्यटन में पर्यटक कपिलास में भी दर्शन कर सकते है ये मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक मंदिर है।

ढेंकानाल जाने का सबसे अच्‍छा समय ( Best time to visit in Dhenkanal )

ढेंकानाल की यात्रा के लिए सबसे अच्‍छा समय अक्‍टूबर का माना जाता है। यहाँ का मौसम बेहद सुहावना रहता है। वैसे आप यहाँ दिसम्‍बर, फरवरी और मार्च के महीने में भी जा सकते हैं।

कैसें जायें ढेंकानाल ( How to visit Dhenkanal )

अगर आप ढेंकानाल जाने की सोच रहे हैं तो यहां का सड़क मार्ग पूरे राज्‍य से अच्‍छी तरह जुड़ा हुआ है। ढेंकानाल से राष्‍ट्रीय राजमार्ग और हाइवे भी गुजरते है। यही कारण है कि ये शहर को पूरे राज्‍य से जोड़ देते है। ढेंकानाल का सबसे नजदीकी रेलवे स्‍टेशन, कटक में स्थित है। और यहां से भुवनेश्वर सबसे करीब एयरपोर्ट है। यहां पर आपको कई एसी टैक्‍सी और बसें भी चलती मिलेंगीं। इन बसों द्वारा पर्यटक ढेंकानाल की सुखद यात्रा कर सकते हैं। आपको सड़क मार्ग से ढेंकानाल तक की यात्रा आसानी से पूरी कर सकते हैं।

 

दोस्तों, आप भी Travel Junoon के संग जुड़ सकते हैं और अपने लेख हजारों लोगों तक अपनी तस्वीर के साथ पहुंचा सकते हैं. आप अपना लिखा कोई भी Travel Blog, Travel Story हमें भेजें – GoTravelJunoon@gmail.com पर. हम उसे आपकी तस्वीर के साथ वेबसाइट पर अपलोड करेंगे .

 

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है किमैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ,मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ,ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से,जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ।कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं।"कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोयेऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"