Famous Ropeway in India : भारत के 19 फेमस रोपवे के बारे में जानें

Famous Ropeway in India : क्या आपने कभी गौर किया है कि कैसे देश के कुछ ऊंचे स्थानों पर केबल कार की सवारी तय की गई है जो लोगों को घाटी के एक तरफ से दूसरी तरफ ले जाती है? रोपवे एक ऐसी चीज है जिसका नाम सुनते ही हर किसी का मन एक्साइटमेंट से भर जाता है. रोपवे की सबसे अच्छी बात होती है कि आप कम समय में ज्यादा से ज्यादा चीजें देख सकते हैं. जिन जगहों को देखने के लिए वैसे आपको शायद 1 घंटा लगे, रोपवे की सवारी से वही चीज आप कुछ मिनटों में देख सकते हैं.

इसके अलावा आप घाटियों और पहाड़ों के ऊपर से गुजरने का एक्सपीरियंस ले सकते हैं. रोपवे की एक सवारी रोमांच के साथ-साथ बेहतरीन नजारों से भी सजी होती है. भारत में भी कुछ ऐसे रोपवे हैं जिनकी एक सवारी से आपका मन खुश हो जाएगा. इन 19 केबल कारों की सवारी करके औप अपनी जिंदगी के अनुभवों में कुछ यादगार पल जोड़ लेते हैं:

1-Auli Cable Car, Uttarakhand

स्कीइंग के साथ-साथ 4 किमी लंबी केबल कार औली में मुख्य आकर्षण है. यह जोशीमठ को औली से जोड़ता है और हिमालय के शानदार व्यू दिखाई देते हैं.  रोपवे का सबसे निचला टावर एमएसएल से 1906 मीटर की दूरी पर है और सबसे ऊपर वाला टावर 3016 मीटर पर है. 5 मीटर/सेकंड की गति से एक सवारी को पूरा करने में 15 मिनट का समय लेते हुए, यह एक रोमांचक औली टूर के लिए सबसे अच्छी शुरुआत है. चेयर-लिफ्ट और स्की-लिफ्ट भी उपलब्ध हैं और एक राउंड ट्रिप के लिए लगभग 400 रुपये खर्च होते हैं.

2-Manali Ropeway, Himachal Pradesh

मनाली से लगभग 15 किमी दूर सोलंग घाटी है, जो हिमाचल प्रदेश में विंटर स्पोर्ट का केंद्र है.मनाली रोपवे यहां का प्रमुख आकर्षण है क्योंकि यहां से पर्यटकों को बेहतरीन व्यू दिखाई देते हैं. सवारी सोलंग घाटी से शुरू होती है और माउंट फातरू (3200 मीटर) पर समाप्त होती है.

3-Raigad Ropeway, Maharashtra

रायगढ़ रोपवे रायगढ़ किले तक आने-जाने का एक महत्वपूर्ण साधन है. किला एक पहाड़ी पर स्थित है और भारतीय इतिहास में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है क्योंकि यह वह स्थान था जिसे महान शिवाजी महाराज ने अपनी राजधानी के रूप में चुना था जब उन्हें मराठा साम्राज्य के राजा का ताज पहनाया गया था. रोपवे की चढ़ाई 420 मीटर और रस्सी की लंबाई 760 मीटर है. एक एडल्ट के लिए सवारी की लागत रु. 286 और बच्चों के लिए 143 रुपये है.

4-Ropeway at Dhuandhaar, Madhya Pradesh

रोपवे जबलपुर में धुंधार वॉटरफॉल पर है, वॉटरफॉल  का मनोरम व्यू देखने  का सबसे अच्छा तरीका है. यह 1140 मीटर लंबा रोपवे है जो मुख्य प्रवेश बिंदु और नर्मदा नदी के बीच में ‘बंदर कोडिनी’ के नाम से लोकप्रिय वॉटरफॉल के नजारे दिखाता है. सवारी की लागत रु.55 प्रति व्यक्ति (आना-जाना) है.

5-Cable Car in Mussoorie, Uttarakhand

यह भारत में सबसे अच्छे रोपवे में से एक है क्योंकि यहां से मसूरी का शानदार व्यू दिखाई देता है. रोपवे मॉल के बीच से शुरू होकर गन हिल (2530 मी) तक जाता है. अगर दिन साफ हो तो, बंदरपूंछ सहित कई चोटियों को देखने का अवसर मिलता है. सवारी करने का परफेक्ट समय सनसेट से एक घंटा पहले होता है, जब सूरज ढलते हुए सबसे अच्छा व्यू दिखाई देता है. केबल राइड का चार्ज 50 रुपये से 100 रुपये के बीच है.

6-Gangtok Ropeway, Sikkim

यह पर्यटकों के लिए गंगटोक शहर के प्रमुख आकर्षणों में से एक है. रोपवे 1 किमी लंबा है और देवराली बाजार से शुरू होता है. पूरे खंड में तीन स्टेशन हैं, पहला देवराली है, दूसरा नामनांग है और आखिरी ताशीलिंग है. कंचनजंगा बर्फ की चोटी, घाटियों और लगभग 3500 फीट नीचे बहने वाली नदी का व्यू देखा जा सकता है.

Delhi nearby destinations for Monsoon Tour : मॉनसून में दिल्ली के आस-पास घूमने की ये 7 जगह है बेस्ट

7-Ropeway of Rajgir, Bihar

बिहार के सबसे खूबसूरत शहरों में से एक में स्थित यह रोपवे पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है. रोपवे शहर से लगभग 5 किमी दक्षिण में है और रत्नागिरी पहाड़ी की चोटी और इसके ऊंचे सफेद 40 मीटर ऊंचे विश्वशांति स्तूप तक जाता है.  यह एक सिंगल व्यक्ति रोपवे है, जिसका अर्थ है कि एक समय में केवल एक ही व्यक्ति इस सवारी का मजा ले सकता है.

8- Glenmorgan Ropeway, Tamil Nadu

3 किमी का रोपवे ऊटी में एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण है. रोपवे दो चरणों की सवारी है जो सिंगारा में एक पावर हाउस से ग्लेनमॉर्गन तक शुरू होती है, जो जर्मन प्वाइंट नामक एक सेक्शन के पास है. एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचने में लगभग एक घंटे का समय लगता है और चाय बागानों के आस-पास के व्यू को देखने का मौका मिलता है.

9-Darjeeling Ropeway, West Bengal

रंगीत वैली केबल कार परियोजना के रूप में भी जाना जाता है, यह रोपवे सिंगमारी और सिंगला बाजार के बीच फैला है. घने जंगलों, पहाड़ की चोटियों, झरनों, बहती नदियों, हरी-भरी घाटियों और चाय बागानों के व्यू देखने का अवसर मिलता है. शुरुआत में 1968 में एक केबल कार से शुरुआत हुई थी, आज यहां करीब 16 कारें हैं.

10-Srisailam Ropeway, Telangana

श्रीशैलम में रोपवे पहाड़, नदी और इसके चारों ओर हरे भरे जंगल का सुंदर व्यू दिखाई देता है. श्रीशैलम एक पवित्र स्थान है और भ्रामराम्बा मल्लिकार्जुन स्वामी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है, जो भगवान शिव को समर्पित 12 ज्योतिर्लिंग मंदिरों में से एक है. केबल कार की सवारी बहुत लंबी नहीं है. वास्तव में इसे चढ़ने और उतरने में मुश्किल से 5 मिनट लगते हैं.

11- Malampuzha Udan Khatola, Kerala

मालमपुझा गार्डन में उड़न खटोला दक्षिण भारत में अपनी तरह का एक रोपवे है.  रोपवे में 64 टू-सीटर कुर्सियां हैं, और स्पष्ट कांच की दीवारें हैं ताकि कोई बाहर का नज़ारा ले सके. यह 20 मिनट में लोगों को जमीनी स्तर से 60 फीट की ऊंचाई तक ले जाती है. यहां बगीचों का व्यू मिलता है.

12-Ropeway at Maihar, Madhya Pradesh

यह रोपवे शारीरिक रूप से अक्षम और बुजुर्ग भक्तों को मैहर देवी मंदिर तक पहुंचने में मदद करने के लिए स्थापित किया गया था. पवित्र हिंदू मंदिर त्रिकुटा पहाड़ी पर स्थित है, रोपवे की स्थापना से पहले भक्तों को मंदिर के द्वार में प्रवेश करने के लिए 1000 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती थीं. केबल कार अब केवल 45 रुपये की कीमत पर भक्तों को ले जाती है.

13-Ropeway at Mahakali Pavagadh, Gujarat

इस रोपवे को मां महाकाली का उड़न खटोला के नाम से भी जाना जाता है और भक्तों को गुजरात के पावागढ़ में कालिका माता मंदिर तक कुछ ही समय में पहुंचने में मदद करता है. यह भक्तों को मंदिर तक सीढ़ियां चढ़ने की परेशानी से बचाता है. केबल कार छह मिनट के समय में माछी में पहाड़ के आधार से मंदिर तक भक्तों को ले जाती है.

14- Chandi Devi Udan Khatola, Haridwar

जैसा कि नाम से पता चलता है कि यह रोपवे हरिद्वार में मां चंडी देवी मंदिर से जुड़ता है. चंडी मंदिर हरिद्वार के तीन महत्वपूर्ण मंदिरों में से एक है, अन्य दो मनसा देवी मंदिर और माया देवी मंदिर हैं.  टिकट पहाड़ी के निचले हिस्से में मिलती है. अगर आप चंडी देवी और मनसा देवी दोनों की यात्रा करना चाहते हैं, तो कॉम्बो टिकट भी उपलब्ध हैं. मनसा देवी मंदिर के लिए भी अलग से रोपवे की सुविधा है.

15- Dongargarh Ropeway, Chhattisgarh

यह रोपवे भक्तों को मां बम्बलेश्वरी मंदिर तक आसानी से पहुंचने में मदद करने के लिए स्थापित किया गया है.  यह मंदिर छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ में एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है.  यह छत्तीसगढ़ राज्य में स्थापित एकमात्र रोप-वे यात्रा है. बम्लेश्वरी देवी का आशीर्वाद लेने आने वाले भक्तों के लिए ऊपर से भव्य व्यू दिखाई देता है.

16-Salkanpur Ropeway, Madhya Pradesh

सलकनपुर रोपवे सलकनपुर देवी मंदिर को पहाड़ी की तलहटी से जोड़ता है. मंदिर मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में एक पहाड़ी पर स्थित है और केबल कार इस महत्वपूर्ण हिंदू मंदिर तक पहुंचने का सबसे आसान तरीका है. केबल कार में सवारी करने से आसपास के हरे-भरे जंगल का सुंदर  व्यू दिखाई देता है.

17- Karni Mata Ropeway, Rajasthan

इसे उदयपुर रोपवे के रूप में भी जाना जाता है, यह केबल कार परियोजना करणी माता मंदिर को दूध तलाई से जोड़ती है. करणी माता उदयपुर में एक प्रमुख हिंदू मंदिर है; इसलिए यहां बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं. भक्तों को आसानी से और जल्दी से मंदिर तक पहुंचने में मदद करने के लिए इस रोपवे प्रणाली की स्थापना की गई थी.

18-Ropeway to Mansa Devi, Uttarakhand

भक्तों को सुविधा प्रदान करने वाला यह रोपवे प्रतिदिन बड़ी संख्या में तीर्थयात्रियों को ले जाता है.  हरिद्वार, उत्तराखंड में मनसा देवी मंदिर एक लोकप्रिय मंदिर है और शिवालिक पहाड़ियों पर बिल्वा पर्वत की चोटी पर स्थित है.  केबल कार की कांच की खिड़कियों के माध्यम से आप शहर का मनोरम दृश्य देख सकते हैं, जो वास्तव में शानदार है.

IRCTC Tour Packages 2022 : आईआरसीटीसी के रामेश्वरम, मदुरै, केरल टूर पैकेज के बारे में जानें डिटेल में

19- Guwahati Ropeway

असम की राजधानी गुवाहाटी में देश का सबसे लंबा रिवर रोपवे बनाया गया है. रोपवे तारों के जरिये नदी पार कराने वाली एक ट्रॉली होती है. इसे उड़न खटोला भी कहते हैं. रोपवे ब्रह्मपुत्र नदी के दो किनारों को आपस में जोड़ता है. इससे राजधानी गुवाहाटी और उत्तर गुवाहाटी आपस में मिल जाते हैं. लगभग 56 करोड़ की लागत से बना यह रोपवे 1.8 किलोमीटर की दूरी तय करता हौ . इससे उत्तरी गुवाहाटी और शहर के मध्य हिस्सों के बीच यात्रा का समय घटकर आठ मिनट रह जाता है.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!