लातेहार में Sunrise point से लेकर कई और जगहें हैं घूमने के लिए बेहतर

Latehar- लातेहार एक शहर है जो झारखंड राज्य के लातेहार जिले का मुख्यालय है, यह अपने प्राकृतिक पर्यावरण, वन, वन उत्पादों और खनिज भंडार के लिए जाना जाता है. लातेहार 1924 से एक उप-विभाग के रूप में पलामू जिले का एक हिस्सा बना रहा.  लातेहार झारखंड के उत्तर-पश्चिम कोने पर पलामू कमिश्नरी में स्थित है. यह छत्तीसगढ़ राज्य के अलावा रांची, लोहरदगा, गुमला, पलामू और चतरा जिले से घिरा हुआ है.

यह मुख्य रूप से जनजातीय जिला है, जिसमें लगभग 45.54% आबादी अनुसूचित जनजातियों की है और कुल जनसंख्या के 66% से अधिक लोगों में एससी और एसटी शामिल हैं. जिले का कुल क्षेत्रफल 3,622.50 किमी 2 है और ब्लॉक मुख्यालय में से एक जिला मुख्यालय से 200 किमी दूर है.

Pakur tour : पाकुड़ घूमने के लिहाज से है एकदम परफेक्ट Place

नेतरहाट झारखंड राज्य के Latehar जिले में स्थित एक खूबसूरत पहाड़ी पर्यटन स्थल है. नेतरहाट पर्यटन स्थल अपने अंदर इतनी खूबसूरती समेटे हुए है कि जिसके कारण नेतरहाट को झारखंड का मसूरी भी कहा जाता है. झारखंड की राजधानी रांची से लगभग 144 किलोमीटर दूर समुद्रतल से लगभग 3700 फुट की ऊंचाई पर स्थित नेतरहाट “छोटा नागपुर की रानी” के नाम से भी सैलानियो में बहुत प्रसिद्ध है.

भाग दौड़ भरी जिंदगी में कुछ सकून भरा समय बिताने और थकान मिटाने के लिए नेतरहाट पर्यटन एक उपयुक्त स्थान है. यहा के शांत और आकर्षक नजारे बेहद खूबसूरत है. आइए अपने इस लेख में हम नेतरहाट पर्यटन के इन्हीं कुछ प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलो के बारे में विस्तार से जानते हैं

Sunrise point

सनराइज प्वाइंट से उगते हुए सूरज का दृश्य चलचित्र की तरह प्रतीत होता है. हरियाली से आच्छादित घाटियो और सघन पेड़ो के झुरमूट से उगते सूरज की किरणो को देख पर्यटक प्रभावित हुए बिना नहीं रह पाते इस दृश्य को देखने के लिए लयलित पर्यटन सुबह सवेरे ही यहां पहुंच जाते हैं.

Chatra tour- झारखंड के चतरा में है घूमने के लिए कई बेहतरीन जगहें, यहां लें पूरी जानकारी

Mongolia Point

नेतरहाट से मंगोलिया प्वाइंट की दूरी लगभग 10 किलोमीटर है यहा सनसेट का बेहद खूबसूरत नजारा दिखाई पडता है. डूबते सूरज के अद्भुत नजारे और उसकी सुनहरी रोशनी से सुनहारा होता असमान के सुंदर नजारै को देखने के लिए पर्यटक सनसेट टाइम से पहले ही यहा जमा होने शुरू हो जाते है. यह प्वाइंट एक ब्रटिश लडकी मंगोलिया की प्रेम कहानी के लिए भी जाना जाता है. जो एक चरवाहे की बासुरी की धुन से प्रेरित हैकर उसके प्रेम करने लगी थी. पिता के विरध करने पर उसने यहा से कूद कर आत्महत्या कर ली थी. उसी प्रेमदिवानी के नाम पर इस सनसेट प्वाइंट का नाम मंगोलिया प्वाइंट पड़ा.

Upper Ghaghri Fall

यह एक खूबसूरत झरना है. नेतरहाट पर्यटन स्थलो में काफी प्रसिद्ध है. नेतरहाट से अपर घघरी झरने की दूरी लगभग लगभग 4 किलोमीटर है. यहा पानी की एक मोटी धारा ऊंचाई से गिरती है. हरे भरे वातावरण के बीच स्थित यह वाटर फॉल एक खूबसूरत पिकनिक स्थल है.

Lower Ghaghri Water Fall

लोअर घघरी झरना एक घने जंगल में स्थित है. नेतरहाट से लोअर घघरी झरने की दूरी लगभग 10 किलोमीटर है. यहां पर पानी लगभग 32 फिट की ऊंचाई से गिरता है. और एक छोटी नदी के रूप में जंगल के बीच से गुजरता है.

Netarhat Dam

4 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला नेतरहाट बांध मनोरंजन की दृष्टि से एक खूबसूरत पिकनिक स्थल है.यहां पर फोटोग्राफी कर सकते हैं.

Betla National Park

लातेहार जिले में स्थित, 8 किलोमीटर का आवारा बरवाडीह 979 के क्षेत्र में फैला हुआ है. सितंबर 1989 में बेतला नेशनल गार्डन घोषित किया गया था. यह पार्क छोटानागपुर पठार के पश्चिमी भागों में स्थित है और 1960 में हजारीबागनेशनल गार्डन के विस्तार के रूप में गठित किया गया था. बरवाडीह को जंगल होने का गौरव प्राप्त है जहां 1932 में दुनिया की पहली बाघ जनगणना की गई थी. 1974 में ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ के तहत भारत में पार्क 9 शुरुआती बाघों में से एक बन गया.

यह भारत के सबसे पुराने टाइगर रिजर्वों में से एक माना जाता है. बेतला राष्टीय पार्क, झारखंड में है. पहले इसे पलामू टाइगर रिजर्व के नाम से जाना जाता था. यहां बड़ी संख्या में बाघ, तेंदुआ, जंगली भालू, बंदर, सांभर, नीलगाय, मोर और चीतल आदि जानवर पाए जाते हैं। इस वन में 174 प्रजातियों के पक्षी, 39 स्तनधारी, 180 प्रजाति के औषधीय पौधे पाए जाते हैं.

How to reach Netarhat

नेतरहाट रांची से 144 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. रांची के लिए देश के सभी प्रमुख शहर से रेल व वायु सेवाए निरंतर उपलब्ध रहती है. रांची से नेतरहाट के लिए बस या टैक्सी द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे