Baba ka Dhaba : बाबा के खाते में आए 40 लाख से ज्यादा रुपये, नया घर और ढाबा लेने की तैयारी

Baba ka Dhaba : बाबा के खाते में आए 40 लाख से ज्यादा रुपये, नया घर और ढाबा लेने की तैयारीबाबा के ढाबा के मालिक कांता प्रसाद और उन्हें सोशल मीडिया पर मशहूर करने वाले यू-ट्यूबर गौरव वासन की लड़ाई अब कानून तक पहुंच गयी है, पर सच्चाई कुछ और ही सामने आ रही है, बाबा अब लखपति हो चुके हैं, उनके खाते में 40 लाख रुपये से ज्यादा आये हैं। गौरव ने ही बाद में बाबा का बैंक खाता भी सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

Baba took a new house

बाबा शुक्रवार शाम तक कहते रहे थे, कि उन्हें पता नहीं है, कि उनके पास कितना पैसा आया, बाबा ने नया मकान ले लिया, अब बताया जा रहा है कि वो नया ढाबा खोलने जा रहे हैं, इसके लिये जगह भी देख ली गई है। इस मामले की जाँच चल रही है,और एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि यू-ट्यूबर गौरव वासन ने शुरु में सोशल मीडिया पर अपना बैंक खाता साझा किया था, लेकिन बाद में उन्होंने बाबा का अकाउंट नंबर दे दिया था और जब उसमे 20 लाख से ज्यादा पैसे आए तो अकाउंट फ्रिज हो गया, जिसके बाद गौरव वासन ने कहा था कि अब बाबा की मदद करना बंद करें अब दुसरों को देखें इनकी काफी मदद हो चुकी है.

Baba ka Dhaba – बाबा ने सुनाई अपनी Love Story, फिर छा गए

यूट्यूबर ने कहा कि शुरू में उसने अपना अकाउंट नंबर और अपने पत्नी PAYTM नंबर दिया था, जिसमे से उन्होंने 2 लाख बाबा के अकाउंट में ट्रांफर कर दिए थे, हालांकि 30 से 40 हजार रुपये अब भी उनके बैंक खाते में है, ये बात मालवीय नगर थाना पुलिस की बैक खातों की जांच में सामने आई है, पुलिस जांच में पता चला है कि गौरव वासन ने कुछ समय बाद बाबा का बैंक खाता अपने सोशल मीडिया हैंडल से शेयर किया था.

Baba ka Dhaba : पोस्टर-बैनर से ढका ढाबा, बस नहीं दिख रहे बाबा

Ceased the bank account of Gaurav and Baba

सूत्रों के अनुसार पुलिस ने फिलहाल गौरव और बाबा के बैंक खाते को सीज किया हुआ है,क्यूंकि बाबा के बैंक खाते में कुल 40 लाख रुपये आये हैं, पुलिस ने बाबा के बैंक खाते की डिटेल खंगाल ली है, दक्षिण जिला पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि गौरव वासन को एक दो दिन में पूछताछ के लिये मालवीय नगर थाने बुलाया जाएगा, उनसे पूछाताछ किया जाएगा, कि शुरु में ही कांता प्रसाद का बैंक खाता और मोबाइल नंबर क्यों शेयर नहीं किए, उनके बैंक खाते में जो पैसा है, वह बाबा के खाते में क्यों ट्रांसफर नहीं किया.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे