https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

जोधपुर में करें हनीमून की प्लानिंग, रॉयल फीलिंग का होगा एहसास

Honeymoon travel – आज के बदलते समय में लोगों प्लानिंग शादी की करते हैं, उसे ज्यादा प्लानिंग होती है हनीमून डेस्टिनेशन की. आज के समय में कपल्स थका देने वाली शादी के बाद फ़ौरन हनीमून पर निकल जाते हैं, शादी के बाद हनीमून की जगह का चुनाव करना कोई इजी टास्क नहीं होता है. वैसे भी हर कपल के लिए उनका हनीमून का समय काफी स्पेशल होता है, ये पल प्राइवेसी के होते हैं इसलिए हनीमून की जगह ऐसी होनी चाहिए जहां कपल परिवार और दोस्तों से दूर कुछ खूबसूरत पलों को एक साथ बिता सकें और एक दूसरे को बेहतर तरीके से समझ सके.

गौरतलब है कि एक व्यक्ति के पूरे जीवन काल में हनीमून का अपना एक विशेष महत्त्व है. व्यक्ति के जीवन का ये एक वो अंश है जिसे वो यादगार बनाना चाहता है. ये भी कह सकते हैं कि व्यक्ति अपने हनीमून के दौरान भीड़ भाड़ से अलग अपने साथी की पसंद और नापसंद को कहीं बेहतर ढंग से समझ सकता है. राजस्थान के खूबसूरत हनीमून स्थलों से एक है जोधपुर .

Jodhpur is one of the most romantic honeymoon

destinations in India

जोधपुर भारत के सबसे रोमांटिक हनीमून स्थलों में से एक है, यहां आप सामान्य पहाड़ो और समुद्री तटों से दूर राजसी अनुभव को हासिल कर सकते हैं. अपनी अनूठी विशेषताओं के कारण इस शहर को दो उपनाम ‘सन सिटी’ और ‘ब्लू सिटी’ मिले हैं.’सन सिटी’ नाम जोधपुर के चमकीले धूप के मौसम के कारण दिया गया है, जबकि ‘ब्लू सिटी’ नाम शहर के मेहरानगढ़ किले आसपास स्थित नीले रंग के घरों के कारण दिया गया है. यहां आने वाले पर्यटक राजस्थानी ग्रामीण जीवन को देख और समझ सकते हैं..साथ ही रात की रोशनी में कैमल सफारी का मजा भी लिया जा सकता है. कपल्स यहां यहां मेहरानगढ़ का किला, उम्मेद भवन पैलेस, जसवंत थडा, घंटा घर, कल्याण सागर झील आदि देख सकते हैं

भीलवाड़ा ( Bhilwara ) की वो 11 जगहें, जहां आपको जाना चाहिए

हिल स्टेशन, बीच से अलग हटकर किसी ऐसी जगह हनीमून की प्लानिंग कर रहे हैं जहां रॉयल फीलिंग आए तो इसके लिए विदेश जाने की जरूरत नहीं. इंडिया में ऐसी जगहों की कमी नहीं और उनमें से ही एक है जोधपुर का उम्मेद भवन.

समृद्ध विरासत और संस्कृति के धनी राजस्थान में राजसी महलों की शान अद्भुत है. जोधपुर का शाही महल उम्मेद भवन पैलेस हर राजसी परंपरा से आपका परिचय कराता है.  इसके मालिक हैं महाराजा गज सिंह. उनके पिता महाराजा उम्मेद सिंह ने इसे बनवाया था. इसके संग्रहालय में राजसी हवाई जहाज के मॉडलों, हथियारों, प्राचीन वस्तुओं, घडि़यों, बर्तनों, कटलरी, तस्वीरों और शिकार की ट्रॉफियां तक संजोयी गई हैं.

प्राचीन वस्तुओं का यह अनूठा संग्रह जोधपुर के शाही वैभव का एहसास कराता है. आज यह महल बड़े बिजनेस घरानों की शाही शादियों और बॉलीवुड फिल्मों के लिए रॉयल डेस्टिनेशन है. साल 1929 में महाराजा उम्मेद सिंह ने इसका निर्माण शुरू कराया था. इसका डिजाइन ब्रिटेन के हैनरी लैंचेस्टर ने करीब पांच साल में तैयार किया था.

Unique design of Unmed Bhawan

उम्मेद भवन साल 1943 में बनकर तैयार हो गया था. इसमें कुल 347 कमरे और हॉल हैं. आजादी के बाद साल 1978 में इसे होटल में बदल दिया गया. हालांकि आज भी इसके एक भाग में पूर्व नरेश का परिवार रहता है. जोधपुर के मशहूर चित्तर पत्थर से बना होने के कारण स्थानीय लोग इसे चित्तर पैलेस के नाम से भी जानते हैं. महल को तराशे गए बलुआ पत्थरों को जोड़कर बनाया गया है. मजे की बात यह है कि पत्थरों को बांधने के लिए किसी मसाले का उपयोग नहीं किया गया. उम्मेद भवन पैलेस जोधपुर रेलवे स्टेशन से करीब 5 किलोमीटर और मेहरान गढ़ किले से छह किलोमीटर की दूरी पर है. जोधपुर जाकर महल में ठहरना किसी यादगार लम्हे से कम नहीं होगा.

Jaipur Tour Guide – पिंक सिटी में घूमने लायक 12 जगहें, यहां के Forts की दुनिया है दीवानी

Best time to visit jodhpur

अक्टूबर से मार्च तक सर्दियों का महीना जोधपुर जाने का सबसे अच्छा समय है. तापमान इस समय के दौरान सुखद है, तापमान के साथ 24 डिग्री सेल्सियस से 7 डिग्री सेल्सियस तक की सीमा होती है. जोधपुर का सबसे अच्छा अनुभव करने के लिए यह एक अद्भुत मौसम है. हालांकि दिन सुखद हैं, रातों को थोड़ा मिर्च मिल सकता है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप कुछ गर्म कपड़े पैक करते हैं. पूरी तरह से विपरीत, जोधपुर के ग्रीष्मकाल कठोर और जलती हुई हैं. इसलिए, अधिकांश पर्यटक सर्दियों के मौसम के दौरान शहर की यात्रा करना पसंद करते हैं.

Ajmer Sharif Dargah Tour – जानें अजमेर दरगाह के Rules, यहां अकबर के कढ़ाहे में बनती है बिरयानी

How to reach Jodhpur

By Air

जोधपुर हवाई अड्डा एयर इंडिया और जेट एयरवेज के माध्यम से दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू से उड़ानों के साथ एक घरेलू हवाई अड्डा है. भारत के अन्य शहरों के साथ-साथ विदेशों में भी पर्यटक, जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उपयोग कर सकते हैं, जो कि 342 किमी दूर है. इस हवाई अड्डे पर पुणे, कोयम्बटूर, हैदराबाद, आदि जैसे अन्य प्रमुख शहरों जैसे शारजाह, दुबई, मस्कट और अबू धाबी जैसे कुछ अंतरराष्ट्रीय शहरों को नियमित उड़ानें हैं. यहां संचालित कुछ घरेलू एयरलाइंस एयर इंडिया, जेट एयरवेज, एयर कोस्टा, इंडिगो, स्पाइसजेट, गोएयर आदि अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस एयर अरेबिया, एतिहाद एयरवेज और ओमान एयर हैं. जयपुर से जोधपुर पहुंचने के लिए बसों, टैक्सी और गाड़ियों का आसानी से लाभ उठाया जा सकता है. नजदीकी हवाई अड्डाजोधपुर हवाई अड्डा जोधपुर शहर में स्थित है. इसकी एक सिविल एन्क्लेव है और भारतीय वायु सेना के हवाई अड्डे का एक हिस्सा है.

By road

जोधपुर सड़क से राजस्थान के प्रमुख शहरों और दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश आदि के पड़ोसी राज्यों में भी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम (आरएसआरटीसी) मुख्य परिवहन प्रदाता है और ए / सी, गैर -ए / सी, डीलक्स, सेमी-डीलक्स और वोल्वो बसें नियमित रूप से तीन राष्ट्रीय राजमार्ग और दस राज्य राजमार्ग हैं जो जोधपुर के माध्यम से गुजरती हैं, जो अच्छी कनेक्टिविटी प्रदान करते हैं. एनएच 62, एनएच 112 और एनएच 114, राष्ट्रीय राजमार्ग हैं. जोधपुर में कुछ निजी परिवहन सेवाएं हैं, स्वगत ट्रेवल्स, जैन ट्रेवल्स, लक्ष्मी ट्रैवलर, श्रीनाथ ट्रैवल एजेंसी आदि.

By train

जोधपुर रेलवे स्टेशन भारत, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद जैसे प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. कई ट्रेन इस जंक्शन से नियमित रूप से गुजरती हैं. इनमें से कुछ ट्रेनों में हावड़ा जोधपुर एक्सप्रेस, जोधपुर दिल्ली मंदोर एक्सप्रेस, जोधपुर इंदौर जंक्शन रणथंभौर एक्सप्रेस आदि शामिल हैं.  जोधपुर, पैलेस ऑन व्हील्स और रॉयल राजस्थान ऑन व्हील्स जैसे लक्जरी ट्रेनों का एक लोकप्रिय गंतव्य है.

 

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे