कौन है वो लड़की, जिसे अकेले बैठकर 500 किलोमीटर से ज्यादा दौड़ी ट्रेन

Indian Railway News – कभी आपने ये सोचा होगा की एक यात्री को लेकर ट्रेन सफर कर सकती है, पढ़कर थोड़ा अजीब लगा न किसी को भी लग सकता है. लेकिन ऐसा वाक्या हाल ही में सामने आया है. जब रेलवे प्रशासन ने एक युवती की जिद्द के सामने अपने घुटने टेक दिए. दरअसल दिल्ली से रांची आ रही राजधानी एक्सप्रेस में 930 यात्री सवार थे. टोरी में टाना भगत के रेलवे ट्रैक पर चल रहे आंदोलन की वजह से राजधानी एक्सप्रेस को डाल्टनगंज रेलवे स्टेशन पर रोका गया.

पहले तो रेलवे के अधिकारियों ने सोचा कि टाना भगत का आंदोलन खत्म हो जाएगा तो राजधानी रांची पहुंचा दी जाएगी. मगर, जब आंदोलन खत्म नहीं हो पाया तो रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को इसकी जानकारी दी गई. तब रेलवे बोर्ड ने राजधानी से मुसाफिरों को उतार कर बसों से रांची भेजने का आदेश दिया. रेलवे बोर्ड ने निर्देश दिया कि राजधानी एक्सप्रेस को डाल्टनगंज में ही खड़ा रखा जाए और जब आंदोलन खत्म हो तो इसे नियमित रूट से रांची भेज दिया जाए. इसके बाद 929 मुसाफिरों को रांची बस से ले जाया गया. मगर राजधानी में बैठी एक युवती बस से जाने के लिए तैयार नहीं हुई

Paragliding Tips – पैराग्लाइडिंग करते समय किन बातों का रखना होता है ख्याल

इसके बाद रेलवे के अधिकारियों ने युवती से कहा कि उसके पास अब रांची जाने का कोई चारा नहीं है. क्योंकि, अधिकारियों को रेलवे बोर्ड से जो आदेश मिला था उसके अनुसार राजधानी एक्सप्रेस को डाल्टनगंज में खड़ा रखा जाना था और इसे टाना भगत के आंदोलन के बाद ही रांची लाया जाना था. अधिकारियों ने युवती से कहा कि अगर वो चाहे तो उसे कार के जरिए रांची भेज दिया जाए मगर युवती इस जिद पर अड़ी रही कि वो राजधानी से ही रांची जाएगी.

देश की Best Luxury Train में 2 दिन का ‘फ्री सफर’, ये है तरीका

इसके बाद रेलवे के अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए. आनन-फानन रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को ये बात बताई, युवती की जिद की बात सुन कर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन भी सकते में आ गए और थोड़ी देर बाद निर्देश देने की बात कही. बाद में रेलवे बोर्ड ने डीआरएम को निर्देश दिया कि युवती को राजधानी में बैठा कर ट्रेन को गया ले जाकर वहां से गोमो व बोकारो के रास्ते रांची ले जाया जाए. इसके बाद राजधानी एक्सप्रेस देर शाम डाल्टनगंज से रांची के लिए रवाना हुई.

Vaishno Devi Online Prasad – अब घर बैठे मंगाए मां वैष्णो देवी का प्रसाद, ऐसे करें ऑर्डर

बीएचयू की छात्रा है लड़की

रांची के धुर्वा इलाके की निवासी अनन्या बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में क़ानून की छात्रा हैं. उनके पिताजी हैवी इंजीनियरिंग कॉरपोरेशन (एचईसी) में काम करते हैं. छोटी उम्र में ही उन्होंने अपनी माँ को खो दिया. ग्रेजुएशन तक रांची में पढ़ने के बाद कानून की पढ़ाई के लिए बीएचयू जाने का निर्णय लिया.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे