https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

Spread eagle falls शिलांग का सबसे चौड़ा झरना, इसकी खूबसूरती देखने लायक

Spread eagle falls-शिलांग एक ऐसा हिल स्टेशन है, जहां आप चारों ओर से पहुंच सकते हैं. यूं तो इसका नाम स्थानीय देवता यू-शिलांग के नाम पर रखा गया, लेकिन खूबसूरती के कारण ब्रिटिश इसे ‘पूर्व का स्कॉटलैंड’ कहा करते थे. समुद्र तट से शिलांग की ऊंचाई लगभग 1,491 मीटर है तो वहीं इसका उच्चतम बिंदु 6,449 फीट पर है. नार्थईस्ट का प्रवेश द्वार गुवाहाटी से मात्र 100 किलोमीटर की दूरी पर शिलांग में बादलों ने अपना घर बनाया है आइए जानते हैं कि शिलांग में स्थित स्प्रेड ईगल फॉल के बारे में कुछ रोचक तथ्य.

स्प्रेड ईगल फॉल शिलांग का सबसे चौड़ा झरना है. पोलो ग्राउंड से 3 किमी दूर स्थित इस झरने की ढाल काफी खड़ी है. यह झरना पहाड़ से दबे पांव निकलता है और धीरे-धीरे गति हासिल करने के बाद काफी ताकत के साथ नीचे गिरता है. यानी यह झरना शांत होने के साथ-साथ शोर व गुल वाला भी है. इसके साथ ही यहां का नजारा मंत्रमुग्ध कर देने वाला है.

Shillong Hill Station : Shillong छुट्टियां बिताने के लिए है बेस्ट ऑप्शन

इसका नाम स्प्रेड ईगल फॉल इस लिए पड़ा, क्योंकि देखने में यह झरना किसी पर फैलाए बाज की तरह लगता ह. स्थानीय खासी जनजाति इस झरने को उरकालियर झरना कहते हैं और उनका ऐसा मानना है कि यही वह जगह है जहां ‘का लियर’ सोए थे. अपने फिसलन भरे किनारों के कारण इस झरने का शुमार शहर के सबसे खतरनाक और जोखिमपूर्ण झरनों में होता है. इस झरने को सती झरना नाम से भी जाना जाता है. कुछ समय पहले इस झरने तक पहुंचने के लिए मुकम्मल सड़क मार्ग भी नहीं था. अब पर्यटन विभाग न सिर्फ इस झरने को प्रचारित कर रहा है, बल्कि बेहतर सड़कों का निर्माण भी हो रहा है.

शहर के सबसे खतरनाक और खतरनाक झरनों में गिने जाने वाले झरने अभी भी फिसलन वाले किनारों की वजह से गिने जाते हैं. स्प्रेड ईगल फॉल्स का एक और नाम है और इसे सती प्रपात के रूप में भी जाना जाता है. कुछ साल पहले तक स्प्रेड ईगल फॉल्स के लिए कोई उचित सड़क संपर्क नहीं था और यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल नहीं था. हालांकि, अब पर्यटन विभाग ने झरने को लोकप्रिय बनाने की पहल की है. बेहतर सड़कों का निर्माण किया जा रहा है और सुरक्षा उपायों पर काम चल रहा है.

स्थानीय खासी जनजाति इस झरने को उरकालियर झरना कहते हैं अब पर्यटन विभाग न सिर्फ इस झरने को प्रचारित कर रहा है, बल्कि बेहतर सड़कों का निर्माण भी हो रहा है.

Entry Fee

0 कोई प्रवेश शुल्क नहीं

Visit duration​

लगभग 30 मिनट से 1 घंटे
Timings

Popular for

सुबह 10:00 बजे – शाम 6:00 बजे
लोकप्रिय है
प्रकृति प्रेमी
फोटो

अनुभव करने वाले
फन लवर्स
एंजवेंचर

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे