Thane Best Place To Visit: ठाणे शहर में ये 5 जगहे हैं घूमने के लिए Best

Thane Best Place To Visit : ठाणे भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक शहर है, जो मुंबई के ठीक बाहर स्थित है. इसे ‘झीलों के शहर’ के रूप में जाना जाता है, और इसकी 30 से अधिक झीलों में से एक उपवन झील है जो एक पसंदीदा टूरिस्ट प्लेस है. कोपिनेश्वर मंदिर, भगवान शिव को समर्पित एक गुंबददार हिंदू मंदिर, तलाओ पाली झील के बगल में स्थित है. पश्चिम में संजय गांधी नेशनल गार्डन के सागौन के जंगल और बांस के बाग, तेंदुओं, बंदरों और तोते का घर हैं.

ठाणे शहर, महाराष्‍ट्र राज्‍य में मुम्‍बई के उत्‍तरी-पूर्वी भाग में स्थित है. यह शहर सालसेटे द्धीप पर बसा हुआ है.  समुद्र तल से 11 मीटर की ऊंचाई पर बसा ठाणे, चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा हुआ है. इस शहर को श्री सथांनक के नाम से भी जाना जाता है.

Nehru Kund Travel Blog: जानें, जवाहरलाल नेहरू के नाम पर क्यों रखा है मनाली में स्थित इस कुंड का नाम

ठाणे का इतिहास || History of Thane

भारतीय इतिहास के पन्नों पर ठाणे का महत्‍वपूर्ण स्‍थान है.  ठाणे की उत्‍पत्ति और खोजकर्ता के बारे में कुछ खास पता नहीं चला.  135 ई. से 159 ई. के दौरान ग्रीक के जियोग्राफर पोटेलेमी द्वारा लिखे गए पत्रों में इस जगह को चेरसोनिसस कहा गया था. कुछ अन्‍य पेपर के अनुसार, 1321 ई. से 1324 ई. तक ठाणे को मुस्लिम साम्राज्‍य के अधीन बताया गया. इसके बाद पुर्तगालियों ने ठाणे में बसेरा बसाया. मराठों ने पुर्तगालियों को भगाकर खुद को वहां का शासक बना लिया लेकिन ब्रिटिश शासकों ने ठाणे पर कब्‍जा करके इसकी रूपरेखा ही बदल दी. 1863 में ठाणे को पहला नगर परिषद मिला.

ठाणे में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें || Best Places to visit in Thane

मालशेज घाट || Malshej Ghat

मॉनसून में आसमान से बरसाती रिमझिम फुहारों के बीच पुणे शहर से कुछ ही दूरी पर बसा मालशेज घाट बेहतरीन पिकनिक स्पॉट है. यहां की खूबसूरत वादियां आपकी सारे तनाव और थकान को भुला देंगी.  वैसे तो मालशेज घाट हर मौसम में पर्यटकों को लुभाता है लेकिन मॉनसून में इसकी खूबसूरती और भी बढ़ जाती है. यहां पहाड़ से जंगल और वादियों का बेहद सुंदर नजारा दिखता है. आस-पास कई झरने गिरते दिखेंगे.

Lulu Mall Information: जानें क्या है लुलु मॉल की खासियत, कौन है इसका मालिक?

हाजी मलंग गढ़ || Haji Malang Garh

हाजी मलंगगढ़, कल्याण से लगभग 15 किलोमीटर दूर ठाणे जिले में एक किला है. यह एक पवित्र स्थान है जिसे मलंग या हाजी मलंग के नाम से जाना जाता है. शिलाहार राजा ने मलंगगढ़ किले का निर्माण करवाया था. इसे किला में मच्छिंद्रनाथ के प्राचीन मंदिर हैं. हाजी मलंग एक मुस्लिम साधु की कब्र है. बाबा मलंग समाधि ठाणे और रायगढ़ जिलों के बॉॉर्डर पर स्थित है. किले पर एक बहुत ऊंचा पहाड़ है. किले पर पानी के तालाब और मीनारें हैं. किले के ऊपर से कुर्ला-मुंबई क्षेत्र, पनवेल का प्रवेश द्वार और माथेरान क्षेत्र को देखा जा सकता है.

सिद्धिविनायक महा गणपति मंदिर – टिटवाला || Siddhivinayak Maha Ganapati Temple – Titwala

कल्याण-कसारा मार्ग पर टिटवाला में श्री महागणपति जागृत मंदिर है, जो कालू नदी के तट पर स्थित है. वसई में पुर्तगालियों को हराने के बाद चिमाजिअप्पा ने इस श्री महागणपति मंदिर का निर्माण कराया. सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षणों में से एक महागणपति मंदिर और विट्ठल मंदिर है. टिटवाला का गणपति मंदिर महाराष्ट्र के आठ प्रसिद्ध गणपति मंदिरों में से एक है. पहले यहां ऋषि कण्व आश्रम था. शकुंतला के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने इस महागणपति की पूजा की थी, इसलिए उन्हें ‘विवाह विनायक’ भी कहा जाता है.

अंबरनाथ शिव मंदिर || Ambernath Shiva Temple

चित्रराजययानी ने इस मंदिर का निर्माण 1060 के आसपास करवाया था. यह मंदिर शहर का सबसे पुराना और सबसे ऐतिहासिक मंदिर है. पौराणिक कथा यह है कि यह एक पत्थर से पांडवों द्वारा बनाया गया था. अंबरनाथ का शिवमंदिर भारत का पहला कलात्मक रूप से डिजाइन किया गया मंदिर है. महा शिवरात्रि के अवसर पर एक भव्य मेला आयोजित किया जाता है और हजारों भक्त यहां आते हैं. महा शिवरात्रि मेला 3–4 दिनों तक चलता है. मंदिर श्रावण के महीने में काफी भीड़ देखने को मिलती है. मंदिर दिनभर दर्शन के लिए खुला रहता है.  .

वज्रेश्वरी || Vajreshwari

देवी वज्रेश्वरी का मंदिर महाराष्ट्र के पालघर जिले में वसई और सोपारा के ऐतिहासिक शहरों के पास है. मंदिर वडावली गांव में है, जिसे पूर्ववर्ती देवता के बाद वज्रेश्वरी के नाम से भी जाना जाता है, जहां मंदिर तनासा नदी के तट पर स्थित है. यह मंदिर योगनी वज्रेश्वरी देवी को समर्पित है. जिन्हें शिव की पत्नी पार्वती का अवतार माना जाता है. पर्यटकों के लिए मंदिर के अलावा अकोली और गणेशपुरी में गर्म पानी के झरने हैं जिन्हें वे देख सकते हैं. कहा जाता है कि ये फव्वारे गर्म पानी से भरे होते हैं जिनसे बीमारियां भी दूर होती हैं.

कैसे पहुंचें ठाणे ||How To Reach Thane

सड़क के रास्ते कैसे पहुंचें || How To Reach Thane By Road

ठाणे बसों के माध्यम से देश के बाकी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है. महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम पब्लिक ट्रांसपोर्ट  (MSRTC) उपलब्ध कराता है. ठाणे में एक केंद्रीय बस टर्मिनल है जो सभी भारतीय शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है. शहर में कई निजी कंपनियां भी हैं जो विभिन्न स्थानों पर विभिन्न प्रकार की बस सेवाएं उपलब्ध कराती हैं.

ट्रेन से कैसे पहुंचे ठाणे ||  How To Reach Thane By Road

ठाणे देश में कहीं से भी ट्रेन द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है. ठाणे में भारत के सभी प्रमुख शहरों के लिए नियमित ट्रेनें हैं, और इसे यहां परिवहन का सबसे सुविधाजनक साधन माना जाता है.  यह मुंबई का सबसे बिजी स्टेशन है.

फ्लाइट से कैसे पहुंचे ठाणे || How To Reach Thane By Flight

ठाणे का अपना हवाई अड्डा नहीं है.  ठाणे मुंबई के छत्रपति शिवाजी हवाई अड्डे से 23 किलोमीटर दूर है. हवाई अड्डा भारत के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है.

ठाणे में घूमने का सबसे अच्छा समय || Best time to visit Thane

अक्टूबर और मार्च के बीच ठाणे का सबसे अच्छा दौरा किया जा सकता है.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!