Kolkata Airport : खत्म हुआ कॉन्ट्रैक्ट, कोलकाता एयरपोर्ट के पिक-अप जोन में UBER की ‘नो-एंट्री’

Kolkata Airport : कोलकाता एयरपोर्ट से एक नई खबर सामने आ रही ही. कोलकाता एयरपोर्ट पर यात्री कैब ड्राइवर्स की हरकतों से परेशान हो रहे हैं. वहीं, उबर ड्राइवरों का कहना है कि अगर कोई यात्री एयरपोर्ट में एंट्री करने के तीन मिनट के अंदर  नहीं निकलता है तो उन्हें दोबारा एंट्री के लिए  60 रुपये देने होंगे. दरअसल, एयरपोर्ट अथॉरिटी के साथ निजी ऐप-कैब कंपनी उबर का कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो गया है. निजी ऐप-कैब कंपनी उबर ने अभी तक एयरपोर्ट अथॉरिटी के साथ नया कॉन्ट्रैक्ट साइन नहीं किया है. नतीजतन ड्राइवर्स  आनन-फानन में टर्मिनल के सामने से यात्रियों को उठा रहे हैं. इसका सबसे बड़ा खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ता है.

ऐप-कैब कंपनियों को पिक-अप जोन अधिकार प्राप्त करने के लिए एक निश्चित शुल्क के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी के साथ एक समझौता करना होगा. उसके बाद कंपनी की कैब हवाई अड्डे के अंदर पार्क कर सकते हैं और यात्रियों को  पिक-अप जोन से उठा सकते हैं. कॉन्ट्रैक्ट को हर साल अपडेट करना होगा.

Lulu Mall Information: जानें क्या है लुलु मॉल की खासियत, कौन है इसका मालिक?

सूत्रों के मुताबिक पिछले फरवरी में उबर ने पुराने नियम और शर्तों के साथ कॉन्ट्रैक्ट को अपडेट के लिए आवेदन किया था. शर्तों में बदलाव के बाद जुलाई में उबर का आवेदन खारिज कर दिया गया था. उबर का कॉन्ट्रैक्ट पिछले बुधवार को समाप्त हो गया. तब से, कंपनी के कैब को कमर्शियल गाड़ी के आधार पर हवाई अड्डे पर संचालित करना पड़ता है.

उबर के हेल्प डेस्क को भी हाल ही में हटा दिया गया था. संगठन की ओर से एक लिखित बयान में कहा गया है कि भारतीय एयरपोर्ट अथॉरिटी के बदले नियमों और शर्तों के अनुसार फिर से कॉन्ट्रैक्ट के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया चल रही है. लेकिन, जब तक कॉन्ट्रैक्ट नहीं हो जाता, तब तक कैब ड्राइवर्स और यात्रियों को इस परेशानी का सामना करना पड़ेगा.

E-Highway Importance: इंडिया में बनने जा रहा है E-Highway, इन दो मेट्रो सिटी में दिखेगा पहला ई-हाईवे

 

 

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!