Delhi International Airport Latest Update : अब DIGI Yatra के जरिए इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर चेक-इन आसान

Delhi International Airport Latest Update : क्या आप हवाई अड्डों पर लंबी चेक-इन प्रक्रिया से थक चुके हैं? चिंता न करें! अब आप दिल्ली हवाईअड्डे पर तुरंत चेक-इन प्रोसेस का फायदा लेकर अपना समय बचा सकते हैं. दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) ने एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर DIGI Yatra ऐप का बीटा वर्शन लॉन्च किया है. इसकी मदद से यात्रियों को इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 पर जल्दी से चेक-इन करने की सुविधा मिलेगी.

डायल ने सोमवार को यह सुविधा (Delhi International Airport Latest Update) शुरू की है, जिसके तहत यात्री अब बोर्डिंग पास से जुड़ी पहचान को वेरिफाई करने के लिए चेहरे की विशेषताओं का उपयोग करके कागज रहित और कॉन्टैक्टलेस प्रोसेसिंग के जरिए से हवाई अड्डे पर चेक-इन से गुजरेंगे.

एक आधिकारिक बयान के साथ DIAL ने कहा, “हमने दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के टर्मिनल 3 पर आवश्यक सुविधा स्थापित की थी और पहले से इसका DIGI Yatra परीक्षण किया था. परीक्षण सत्र के दौरान इस नई सुविधा का उपयोग करने के बाद लगभग 20,000 यात्रियों को सहज और सुरक्षित यात्रा का अनुभव था। ”

पीटीआई के हवाले से बयान में कहा गया है कि इन 20,000 यात्रियों ने अपनी खास उड़ानों के लिए टर्मिनल 3 पर कियोस्क के माध्यम से अपना बायोमेट्रिक और अन्य विवरण जमा किया.

इसके बाद, उन्हें इस ऐप के जरिए अपने बायोमेट्रिक्स और अन्य विवरण जमा करने होंगे जो उन सभी उड़ानों के लिए संग्रहीत (archived) रहेंगे, जिनके माध्यम से वह दिल्ली हवाई अड्डे के टर्मिनल 3 पर यात्रा करेंगे. टर्मिनल 3 पर उन्हें हर उड़ान से पहले ये सभी विवरण जमा करने की आवश्यकता नहीं है.

DIAL ने कहा कि DigiYatra ऐप का बीटा वर्जन एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया गया है और कुछ ही हफ्तों में IOS पर भी उपलब्ध हो जाएगा. इस एप्लिकेशन का इस्तेमाल यात्री स्वयं उड़ानों के माध्यम से यात्रा करने के लिए अपना कंप्लीट बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन करने के लिए करेंगे.

एक बार जब यात्री ऐप डाउनलोड कर लेता है, तो उसे अपना फोन नंबर और आधार कार्ड विवरण दर्ज करना होता है, फिर एक सेल्फी लेनी होती है, टीकाकरण विवरण जोड़ना होता है और बोर्डिंग पास को स्कैन करना होता है.

DIGI Yatra क्या है

‘डिजीयात्रा’ फेशियल रिकग्निशन टेक्नोलॉजी पर आधारित बायोमेट्रिक इनेबल्ड सीमलेस ट्रैवल एक्सपीरियंस (बेस्ट) है. इसका उद्देश्य यात्रियों को पेपर रहित यात्रा अनुभव प्रदान करना है.

सीईओ-डायल विदेह कुमार जयपुरियार ने कहा “डिजियात्रा भारत सरकार की एक अनूठी पहल है, जिसे नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा समन्वित किया गया है. यह देश को डिजिटल रूप से सशक्त समाज में बदलने के लिए प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप है.

किन अन्य हवाई अड्डों पर होगी DIGI Yatra?

सलाहकार समिति की बैठक में, यह प्रस्तावित किया गया था कि पहले चरण में वाराणसी और बेंगलुरु में और अगले साल मार्च तक पांच हवाई अड्डों-पुणे, विजयवाड़ा, कोलकाता, दिल्ली और हैदराबाद में DIGI Yatra शुरू की जाएगी. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) उन हवाई अड्डों की पहचान करेगा जहां डिजीयात्रा चरणबद्ध तरीके से लागू की जाएगी.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!