Delhi Metro News – टिकट को लेकर होने वाला है बड़ा बदलाव, टोकन खरीदने का नहीं रहेगा झंझट

Delhi Metro News – कोरोना वायरस के कारण दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro Service) 22 मार्च से बंद पड़ी हुई है. उम्मीद की जा रही है कि केंद्र सरकार दिल्ली मेट्रो का परिचालन शुरू करने का फैसला जल्द कर सकती है. केंद्र सरकार से परिचालन की मंजूरी मिलने के बाद दिल्ली मेट्रो में यात्रियों का सफर और आरामदायक हो जाएगा. यात्रियों को टोकन खरीदने या स्मार्ट कार्ड (Metro Smart Card) रिचार्ज कराने के लिए लंबी-लंबी लाइनों में खड़ा नहीं होना होगा. दिल्ली मेट्रो में आने वाले समय में सफर करने के लिए आप डेबिट और क्रेडिट कार्ड का यूज कर पाएंगे. इससे स्मार्ट कार्ड रिचार्ज कराने की समस्या भी खत्म हो जाएगी.

Fair collection system will change

दरअसल, डीएमआरसी (DMRC) अपने ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम (Automatic fare collection system) को अपग्रेड करने जा रहा है. इस साल दिसंबर में इसका पायलट प्रोजेक्ट एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर शुरू किया जाएगा. (Delhi Metro)अगर यह सफल रहा तो अगले एक वर्ष के अंदर यह सुविधा दिल्ली मेट्रो में शुरू हो जाएगी. दिल्ली मेट्रो अपने पूरे फेयर कलेक्शन को मेट्रो फेज चार के तीन कॉरीडोर को ध्यान में रखकर अपग्रेड करने जा रहा है.

Bareilly Travel Guide : बरेली का झुमका ही नहीं, ये 10 Tourist Places भी हैं बहुत मशहूर

(Delhi Metro)  कॉन्टेक्टलेस सिस्टम के साथ डिजिटाइजेशन को बढ़ावा देने के मकसद से डीएमआरसी ने यह फैसला लिया है. इसके तहत पूरे फेयर कलेक्शन सिस्टम को प्वाइंट ऑफ सेल के साथ इंटीग्रेट किया जाएगा. इसके साथ ही टिकटिंग मशीन को भी पीओएस मशीन के साथ इंटीग्रेट किया जाएगा. इससे स्मार्ट कार्ड को डेबिट और क्रेडिट कार्ड से रिचार्ज कराने में भी आसानी होगी.

Facility to pay fine with metro card

दिल्ली मेट्रो में जुर्माने का भुगतान भी अब मेट्रो स्मार्ट कार्ड से कर पाएंगे. अभी तक स्मार्ट कार्ड में पैसा होने के बाद भी आपको कैश देकर ही जुर्माना होता था. दिल्ली मेट्रो ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम को अपग्रेड करने के साथ पुराने ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन गेट को भी बदल रही है. ऐसे 600 एएफसी गेट को चिन्हित किया गया है, जिसे बदला जा रहा है. ये गेट बहुत पुराने हैं या खराब हो चुके हैं. इसके अलावा दिल्ली मेट्रो ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम में अभी किराए के लिए 32 नेटवर्क जोन हैं जिसे दोगुना करने का तैयारी है. DMRC ने कहा कि कुल 64 नेटवर्क जोन बनाए जाने की तैयारी है. इसके अलावा मौजूदा सिस्टम में अभी 256 मेट्रो स्टेशन की क्षमता है. उसे बढ़ाकर 512 मेट्रो स्टेशन किया जा रहा है. पिछले साढ़े चार महीने से बंद दिल्ली मेट्रो एक बार फिर यात्रियों को सेवाएं देने के लिए तैयार है, लेकिन DMRC को केंद्र सरकार की मंजूरी मिलने का इंतजार है. 4महीने से लगभग बंद पड़ी मेट्रो सेवा से  DMRC को करोड़ों रुपये का नुकसान हो रहा है.

Trial will start from the airport line

मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली मेट्रो सबसे पहले डेबिट/ क्रेडिट कार्ड से किराया वसूलने की योजना एयरपोर्ट लाइन से शुरू कर सकती है. एक बार पायलट प्रोजेक्ट एयरपोर्ट लाइन पर सफल रही तो मेट्रो की सभी लाइनों में ये सेवा बहाल कर दी जाएगी.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे