https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

Delhi Metro New Rules – ऑफिस समय पर पहुंचना है तो जान लें मेट्रो के ये नए नियम

Delhi Metro Rules – दिल्‍ली और आस-पास यानी गाजियाबाद, नोएडा के निवासी सोमवार से मेट्रो में एक नए अनुभव के लिए तैयार हैं. हालंकि मेट्रो को तीन चरण में शुरू किया जा रहा है और पहले चरण में सिर्फ समयपुर बादली से हुडा सिटी सेंटर तक के रूट पर मेट्रो चलाई जाएगी जो कि येलो लाइन मेट्रो है. अगर आपको ऑफिस समय पर पहुंचना है तो नॉर्मल टाइम में कम से कम आधा घंटा और जोड़ लें.

दिल्‍ली मेट्रो को कोरोना वायरस का सुपर स्‍प्रेडर बनने से रोकने के लिए कई कदम उठाए जाएंगे, जिनमें वक्‍त लगेगा. एंट्री पॉइंट्स पर ही थर्मल स्‍क्रीनिंग और हैंड सैनिटाइजेशन से गुजरना होगा. आपके बैग को भी डिसइन्‍फेक्‍ट किया जाएगा. भीड़ इकट्ठा नहीं होने दी जाएगी, ऐसे में सोशल डिस्‍टेंसिंग मेंटेन रखते हुए प्‍लेटफॉर्म तक पहुंचना होगा, इसमें और समय जाएगा.

Delhi Metro New Timings, Rules in Corona Time

अब जब फिर से मेट्रो शरू की जा रही है तो आप जान लीजिए पहले की तरह कुछ भी नहीं होगा. पहले जो ढाई मिनट में मेट्रो आती थी अब 7 मिनट के अतंराल पर मेट्रो आएगी.

सोमवार से ऑपरेशंस के लिए मेट्रो ट्रेनों और स्‍टेशन को तैयार किया जा रहा हैय कोच की सफाई हो रही है, उन्‍हें डिसइन्‍फेक्‍ट किया जा रहा है. स्टेशन पर सीआईएफ कर्मचारी आपको छुए बिना सुरक्षा जांच करेंगे. 45 बड़े स्टेशन पर ‘ऑटो थर्मल स्‍क्रीनिंग कम हैंड सैनिटाइजेशन मशीन’ लगाई गई हैं. बाकी मेट्रो स्‍टेशंस पर ‘ऑटो सैनिटाइजर डिस्‍पेंसर्स’ लगे होंगे. मेट्रो स्‍टेशन पर लिफ्ट के पास एक ‘पैडल स्विच’ लगा होगा. यानी लिफ्ट बुलाने के लिए आपको बस पैर से इस स्विच को धीरे से दबाना है. बटन पैनल फिलहाल बंद रहेगा ताकि कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो सके.खोले जाने वाले मेट्रो स्‍टेशंस पर बड़ी तेजी से काम चल रहा है.

हर स्‍टेशन के एंट्री पॉइंट पर थर्मल स्‍क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन से गुजरना होगा. 30ml से ज्‍यादा मात्रा में हैंड सैनिटाइजर नहीं रख सकेंगे. कम से कम सामान लेकर चलें. धातु की चीजें न रखें.

मेट्रो के स्‍टेशन पर आपके बैग को भी सैनिटाइज करने का इंतजाम होगा. यहां सुरक्षा अधिकारी आपके बैग पर डिसइनफेक्टर छिड़केंगे.

45 बड़े स्टेशन पर ‘ऑटो थर्मल स्‍क्रीनिंग कम हैंड सैनिटाइजेशन मशीन’ लगाई गई हैं. बाकी मेट्रो स्टेशन पर ‘ऑटो सैनिटाइजर डिस्‍पेंसर्स’ लगे होंगे. इसके अलावा थर्मल स्‍क्रीनिंग मैनुअली की जाएगी.

Delhi Metro Rules – दिल्ली में शुरू हो रही है मेट्रो, सफ़र से पहले नियम भी जान लें

ऑटो थर्मल स्‍क्रीनिंग कम हैंड सैनिटाइजेशन मशीन’ पैसेंजर के सामने आते ही तापमान नाप लेगी. अगर टेम्‍प्रेचर ज्‍यादा हुआ तो यात्री को मेट्रो में सवार होने नहीं दिया जाएगा. उसे नजदीकी मेडिकल सेंटर जाने को कहा जाएगा. मेट्रो स्टेशन पर लिफ्ट के पास एक ‘पैडल स्विच’ लगा होगा. यानी लिफ्ट बुलाने के लिए आपको बस पैर से इस स्विच को धीरे से दबाना है. बटन पैनल फिलहाल बंद रहेगा ताकि कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो सके.

सोशल डिस्‍टेंसिंग का करना होगा पालन

यात्रियों को एक-दूसरे से हमेशा 1 मीटर की दूरी बनाए रखनी होगी. फ्रिस्किंग पॉइंट्स, कस्‍टमर केयर, एफएस गेट्स समेत सभी जगहों पर निशान बनाए गए हैं, ताकि सोशल डिस्‍टेंसिंग मेंटेन हो सके. पूरी गाइडलाइंस पढ़ने के लिए क्लिक करें इंसान के संपर्क में आने वाली हर चीज चाहे वह लिफ्ट हो या एस्‍केलेटर की हैंड रेट्स, एफएस गेट्स के टच पॉइंट्स हों या कस्‍टमर हैंडलिंग पाइंट्स, हर जगह को हर 4 घंटे पर डिस्‍इन्‍फेक्‍ट किया जाएगा.

Ajmer Tour Guide in Hindi – अजमेर में ये 16 जगहें हैं बेहतरीन, जरूर घूमने जाएं

ध्‍यान दें

कम से कम सामान लेकर चलें. टोकन फिलहाल नहीं चलेंगे. सिर्फ स्‍मार्ट कोर्ड होल्‍डर्स (एयरपोर्ट लाइन पर QR कोड) को एंट्री मिलेगी. स्‍टेशन पर रिचार्ज भी सिर्फ कैशलेस मोड में होगा. फीडर बस सर्विस नहीं मिलेगी। स्‍टेशनों पर ट्रेन के रुकने का समय बढ़ा दिया गया है. पैसेंजर्स को एक सीट छोड़कर बैठना होगा. सीटों पर ‘यहां मत बैठिए’ के स्टिकर्स लगाए गए हैं. अगर खड़े हैं तो बाकी यात्रियों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनानी होगी.

सीसीटीवी रखेगा आप पर नजर

दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने बकायदा ‘क्‍या करें और ‘क्‍या न करें’ की लिस्‍ट जारी की है. स्‍टेशन और मेट्रो में भी समय-समय पर एनाउंसमेंट होती रहेगी.  शुरू में हर स्‍टेशन पर एक या दो गेट्स के जरिए ही एंट्री होगी. स्‍टेशन और ट्रेन में लगे सीसीटीवी कैमरों के जरिए मॉनिटरिंग होती रहेगी कि भीड़ ज्‍यादा तो नहीं हो रही. फ्रिस्किंग पॉइंट्स, कस्‍टमर केयर, एफएश गेट्स समेत सभी जगहों पर निशान बनाए गए हैं, ताकि सोशल डिस्‍टेंसिंग मेंटेन हो सके. इंसान के संपर्क में आने वाली हर चीज चाहे वह लिफ्ट हो या एस्‍केलेटर की हैंड रेट्स, एफस गेट्स के टच पॉइंट्स हों या कस्‍टमर हैंडलिंग पाइंट्स, हर जगह को हर 4 घंटे पर डिसइन्फेक्ट किया जाएगा.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे