https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

Delhi Metro – अब शिव विहार से मजलिस पार्क जाने के लिए मिलेगी सीधी मेट्रो

दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) की सेवाएं शुरू कर दी गयी हैं इसी के साथ ही दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) की पिंक लाइन को 289 मीटर के साथ 2 हिंसों में बांट दिया है. बता दें ऐसे में पिंक लाइन (शिव विहार-मजलिस पार्क) पर त्रिलोकपुरी से मयूर विहार पाकेट-1 के बीच के खाली हिस्से पर मेट्रो कॉरिडोर के लिए अभी भी लोगों को करीब एक साल तक का इंतजार करना होगा.

जानकारी के अनुसार इस कॉरिडोर का निर्माण शुरू हो गया है, लेकिन कोरोना की वजह से निर्माण अभी निर्माण कार्य धीमी गति से चल रहा है. साथ ही यहां चल रहा जमीन का विवाद भी अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है. दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) ने जानकारी देते हुए बताया है कि पिंक लाइन के बीच के खाली हिस्से पर निर्माण कार्य जारी है. उम्मीद लगाए जा रही है कि अगले साल तक ये बनकर तैयार हो जाएगा. इसके बाद यात्रियों को पिंक लाइन पर शिव विहार से मजलिस पार्क तक जाने की सीधी मेट्रो सेवा उपलब्ध होगी.

Char Dham Yatra 2020 – Uttarakhand में शुरू हो गई चार धाम यात्रा, मगर पहले पढ़ें Guidelines

आपको बता दें करीब 58.59 किलोमीटर लंबी पिंक लाइन दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) का सबसे लंबा कॉरिडोर है. लेकिन मयूर विहार पाकेट-1 मेट्रो स्टेशन से त्रिलोकपुरी पूरी के बीच की बात करें तो यहाँ का 289 मीटर हिस्सा अभी तक पूरा नहीं बन पाया है. यही वजह है की पिंक लाइन अभी दो हिस्सों में बँटी हुई है.

पिंक लाइन पर मार्च से दिसंबर 2018 के बीच चार चरणों में इसका ऑपेरशन शुरू किया गया था. जिसमें सबसे पहले मजलिस पार्क से साउथ कैंपस के बीच इसे शुरू किया गया था. वहीं इसके बाद साउथ कैंपस से लाजपत नगर और फिर त्रिलोकपुरी से शिव विहार कॉरिडोर पर मेट्रो की आवाजाही को शुरू किया गया था.

दिसंबर 2018 में मयूर विहार पाकेट-1 से मजलिस पार्क के बीच दिल्ली मेट्रो चलना (Delhi Metro) शुरू हुई थी. लेकिन बता दें मयूर विहार पाकेट-1 से त्रिलोकपुरी के बीच कई झुग्गी कॉलोनी आ रही थीं. जिसकी वजह से मेट्रो कॉरिडोर के रास्ते में करीब 104 घर भी आ रहे थे.

जिसके बाद ही दिल्ली हाई (Delhi Metro) कोर्ट के आदेश पर वहां पर ज्यादातर लोगों को फ्लैट बनाकर दिए जा चुके हैं. लेकिन वहां पर रहने वाले 17 परिवार अभी भी हटने को तैयार नहीं हैं. इसलिए ये मामला अभी भी कोर्ट में चल रहा है. हालांकि इस मामले से अब कॉरिडोर के निर्माण पर ज्यादा कोई फर्क तो नहीं पड़ेगा लेकिन फिर भी इसे सुलझाना जरूरी है.

Kolkata की ये 21 जगहें घूमने के लिहाज से हैं बेस्ट ऑप्शन

मौजूदा समय में पिंक लाइन पर मयूर विहार पाकेट-1 से मजलिस पार्क और दूसरे हिस्से में त्रिलोकपुरी से शिव विहार तक मेट्रो (Delhi Metro) की आवाजाही शुरू है. वहीं बीच का हिस्सा अभी भी तैयार ना होने की वजह से शिव विहार से सीधा मजलिस पार्क तक जाने के लिए मेट्रो (Delhi Metro) की सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाई है.

इस वजह से यात्रियों को आने जाने में काफ़ी दिक्कत उठानी पड़ रही है. इसीलिये लोग दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC)से सवाल कर रहे हैं कि ये कॉरिडोर कब तक बनकर तैयार होगा. दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) ने अपने जवाब में कहा है कि मेट्रो (Metro) पिलर की नींव ढालने का काम पूरा हो चुका है. यहां पिलर का काम भी चल रहा है. करीब 10 महीनों में ये बनकर तैयार हो जाएगा.

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है किमैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ,मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ,ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से,जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ।कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं।"कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोयेऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"