https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

ट्रेनों से हटेंगे जनरल-स्लीपर कोच, AC में होगा सफर, इस रूट पर पैसेंजर्स की बल्ले-बल्ले

Indian Railway –भारत की पटरी पर दौड़ने वाली सामान्य सुपर फास्ट, एक्सप्रेस और मेल ट्रेनों में स्लीपर और एसी कोच को लेकर बड़े बदलाव की तैयारियां शुरू हो गई है. कुछ ट्रेनों को 100 प्रतिशत एसी कोच कर दिया जाएगा जबकि कुछ अन्य ट्रेनों में एसी कोच की संख्या बढ़ाई जाएगी. इसके साथ ही स्पीड भी बढ़ाई जाएगी लेकिन किराया नहीं बढ़ाया जाएगा.

भारतीय रेलवे अब यात्रियों के लिए यात्रा का सफर बदल देने की कवायद कर रहा है. इस कड़ी में एक नए क्रिएटिव आइडिया पर काम किया जा रहा है. एक ऐसी ट्रेन जिसके सभी कुछ एयर कंडीशंड होंगे, वह पटरी पर हाई स्पीड ट्रेन की तरह दौड़ेगी लेकिन किराया महंगा नहीं होगा. चुनिंदा रूटों पर 130 किलोमीटर प्रति घंटे या इससे ज्यादा रफ्तार वाली ट्रेनों में निकट भविष्य में सिर्फ वातानुकूलित (एसी) कोच होंगे.

पैसेंजर ने कराई डिलीवरी, फ्लाइट में हुआ बच्चे का जन्म, इंडिगो ने दिया लाइफटाइम फ्री टिकट का ऑफर

अपने नेटवर्क को अपग्रेड करने की योजना के तहत रेलवे यह तैयारी कर रहा है. रेल मंत्रालय के प्रवक्ता डीजे नारैन ने कहा कि इन ट्रेनों के टिकट सस्ते होंगे. हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि यह नहीं समझना चाहिए कि सभी गैर वातानुकूलित कोचों को एसी कोच से बदल दिया जाएगा. इस समय अधिकतर मार्गों पर मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की गति 110 किलोमीटर प्रति घंटे या इससे कम है. नारैन ने कहा कि 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाए जाने की स्थिति में वातानुकूलित डिब्बों का होना तकनीकी जरूरत है. भारतीय रेलवे ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने की बड़ी योजना पर काम कर रहा है.

Chardham Yatra -केदारनाथ जाना हुआ आसान, 17 साल में पहली बार हेलीकॉप्टर का किराया हुआ कम

Special coaches are being prepared in Kapurthala

रेल मंत्रालय के मुताबिक, बदलाव के साथ इस तरह के कोच रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला में तैयार किए जा रहे हैं और अगले कुछ सप्ताह में इस तरह की सब कुछ तैयार हो जाएंगे जो पहले चरण में दिल्ली मुंबई और दिल्ली हावड़ा रूट पर सेमी हाई स्पीड ट्रेनों में इस्तेमाल किए जाएंगे. अगले साल इस तरह के 200 कोच और तैयार हो जाएंगे. इन कुछ इसके प्रयोग के आधार पर आगे रेलवे बाकी ट्रेनों में बदलाव करेगा.

Atal Tunnel के बाद Ropeway की सौगात, अब पूरे साल घूम सकेंगे Rohtang Pass

Private Tejas trains will also start running from 17

October

17 अक्टूबर से प्राइवेट तेजस ट्रेनें भी दौड़ने लगेंगी. आईआरसीटीसी ने की घोषणा की है. तेजस ट्रेन के लिए टिकट बुकिंग की शुरुआत 8 अक्टूबर से हो गई है. बता दें कि कोरोना काल में तेजस एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन 7 महीने से बंद है. लेकिन अब इसे शुरू किया जा रहा है. कंपनी के मुताबिक 17 अक्टूबर से लखनऊ-नई दिल्ली और अहमदाबाद-मुंबई रूट पर इन ट्रेनों का परिचालन दोबारा शुरू होगा.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे