Atal Tunnel के बाद Ropeway की सौगात, अब पूरे साल घूम सकेंगे Rohtang Pass

ropeway – हिमाचल प्रदेश का फेमस पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रे पर देश-विदेश के पर्यटक अब पूरे साल बर्फीली वादियों के नजारे देख सकेंगे. स्की हिमालय जल्द ही तीन चरणों में तीन-तीन किलोमीटर लंबे रोपवे का निर्माण करने जा रही है.

PM Narendra Modi inaugurated Atal Tunnel

हिमाचल सरकार के इस महत्वकांक्षी रोप-वे निर्माण प्रोजेक्ट के लिए लगभग सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं. कंपनी ने अटल टनल के लोकार्पण पर सोलंग आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रोपवे को लेकर तैयार किए मॉडल का प्रजेंटेशन भी दे दिया है.

चारधाम यात्रा मार्ग पर फ़ौलादी चट्टानें चीरकर तीन एडिट सुरंग तैयार, प्रोजेक्ट देख झूम उठे लोग

560 crores will cost

माना जा रहा है कि इसके जरिए 1 घंटे में 1000 से 1500 यात्री सफर कर सकेंगे. ये रोप वे करीब 8 किलोमीटर लंबा होगा. जिस पर से 21 मिनट में 13 हजार 200 फीट की ऊंचाई से कुदरत का नजारा दिखेगा. इसे तैयार करने में करीब 560 करोड़ रुपए की लागत आएगी और उम्मीद है कि 2024 तक लोग इसका लुत्फ उठाने लगेंगे. ये हर मौसम में पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र रहेगा.

10 साल का इंतजार खत्म, PM ने अटल टनल का किया उद्घाटन, जानिए खास बातें

रोपवे पर मुहर लगाने से पहले पीएम मोदी अटल टनल की सौगात दे ही चुके हैं. अटल टनल का हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था. रोहतांग में 9.02 किलोमीटर लंबी ये टनल मनाली को लाहौल स्फीति से जोड़ती है. इस टनल की वजह से मनाली और लाहौल स्फीति घाटी साल भर एकदूसरे से जुड़े रह सकेंगे. अटल टनल सामरिक दृष्टि से काफी अहम है. टनल के बन जाने की वजह से मनाली और लेह के बीच की दूरी 46 किलोमीटर कम हो गई है. यानी सफर में लगने वाला समय 4 से 5 घंटे कम हो गया है.

world’s longest highway, Atal Tunnel बनकर तैयार, जानें खासियतें

The atmosphere will be clean

वायु प्रदूषण व ग्लेशियरों पर शोध करने वाले जीबी पंत संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. जीसी कुनियाल ने कहा कि रोहतांग दर्रे में ग्लेशियरों का पिघलना व बर्फ की परत का काला पड़ने का कारण वाहनों की भारी आवाजाही ही थी. अब टनल बनने से ग्लेशियर के साथ वातावरण भी साफ-सुथरा होगा.

 

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे