https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

चारधाम यात्रा मार्ग पर फ़ौलादी चट्टानें चीरकर तीन एडिट सुरंग तैयार, प्रोजेक्ट देख झूम उठे लोग

Char Dham-चार धाम की यात्रा जल्द ही सुखद होने वाली है. दरअसल, उत्तराखंड में बॉर्डर रोड्स ऑर्गनाइजेशन (BRO) की टीम को बड़ी सफलता मिली है. बीआरओ की टीम ने उत्तर और दक्षिण पोर्टल्स से जुड़कर चंबा के नीचे 440 मीटर लंबी सुरंग बनाई है. इससे चार धाम परियोजना को बढ़ावा मिलेगा.

रेल मार्ग के बीच में पड़ने वाले पहाड़ का सीना चीरकर तीन एडिट सुरंग तैयार कर ली हैं. करीब 125 किलोमीटर लंबे रेल मार्ग पर ट्रेन 17 सुरंगों से होकर गुजरेगी. ऋषिकेश में हरिद्वार बाईपास मार्ग के किनारे ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के तहत नया योग नगरी रेलवे स्टेशन बनकर तैयार हो चुका है. ऋषिकेश से आगे पवर्तीय क्षेत्र को रेल लाइन के लिए चंद्रभागा नदी के ऊपर रेलवे पुल बनाया जा रहा है.

world’s longest highway, Atal Tunnel बनकर तैयार, जानें खासियतें

ऋषिकेश से आगे रेल मार्ग के बीच कई पहाड़ आ रहे हैं, लिहाजा पहाड़ के अंदर सुरंग बनाकर रेल यात्रा मार्ग तैयार किया जा रहा है. रेल विकास निगम ने टनल बनाने का जिम्मा कार्यदायी संस्था एप्को इंफोटेक प्राइवेट लिमिटेड को दिया है. कार्यदायी संस्था ने नीरगड्डू, शिवपुरी और गूलर दोगी तीन स्थानों पर सितंबर 2018 को तीन एडिट सुरंग बनाने का काम शुरू किया था.

इस सुरंग की सफलता से यातायात की गति को सुगम बनाने, भीड़भाड़ कम करने और चंबा शहर की दूरी कम करने और चारधाम यात्रा पर यात्रियों की आवाजाही को आसान बनाने और आर्थिक समृद्धि लाने में काफी मदद मिलेगी.  चंबा सुरंग के निर्माण में नवीनतम ऑस्ट्रियाई प्रौद्योगिकी का उपयोग किया गया सुरंग निर्धारित तिथि से लगभग तीन महीने पहले पूरी होगी.

Char Dham Yatra – क्या है Gangotri, Yamunotri, Kedarnath, Badrinath की पौराणिक कथा!

Neeragaddu, Shivpuri and Goolar dogee tunnel is

ready

एडिट टनल प्रथम नीरगड्डू, एडिट टनल द्वितीय शिवपुरी और एडिट टनल तृतीय गूलर दोगी में बनायी गई है. पहली टनल 201 मीटर, दूसरी 555 मीटर और तीसरी 770 मीटर लंबी टनल है.

Char Dham Yatra 2020 – Uttarakhand में शुरू हो गई चार धाम यात्रा, मगर पहले पढ़ें Guidelines

कर्णप्रयाग रेल परियोजना का रूट 125 किलोमीटर लंबा रूट है, इसमें 104 किलोमीटर पर 17 सुरंग बनेगी. 3 एडिट टनल बन चुकी है. शेष 14 टनल को बनाने का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे