अब यूपी में भी चलेगी Personal Rapid Transit, बदल जाएगी तस्वीर

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को जल्द ही दिल्ली से कनेक्टिविटी के लिए अल्ट्रा पीआरटी पर्सनल रैपिड ट्रांजिट ( Personal Rapid Transit ) को चलाने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं. यमुना प्राधिकरण ने इसकी रिपोर्ट दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) से तैयार कराने का फैसला लिया है. अल्ट्रा पीआरटी का इस्तेमाल लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर यात्री परिवहन सेवा के लिए किया जा रहा है. वहीं, अगर लागत की बात करें तो यह मेट्रो व रैपिड ट्रेन की तुलना में काफी सस्ती है. जेवर एयरपोर्ट को मेट्रो से कनेक्टिविटी देने पर करीब सात हजार और रैपिड ट्रेन से 18 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

वहीं, अल्ट्रा पीआरटी ( Personal Rapid Transit ) को शुरू करने में लगभग 35 सौ करोड़ रुपये खर्च होंगे. इसके एक कैप्सूल (टैक्सी) में बीस लोग एक साथ बैठ कर सफर कर सकते हैं. ये प्रत्येक स्टेशन पर रुकने के अलावा एक्सप्रेस सेवा की तरह बिना किसी स्टेशन में रुके सीधे गंतव्य तक पहुंचाएगी.

Delhi Metro Rules – दिल्ली में शुरू हो रही है मेट्रो, सफ़र से पहले नियम भी जान लें

अभी मेरठ से सराय काले खां दिल्ली के बीच रैपिड ट्रेन का काम चल रहा है. यह ट्रैक गौतमबुद्धनगर की सीमा पर अशोक नगर से होकर गुजर रहा है. यहीं, से जेवर एयरपोर्ट के लिए रैपिड ट्रेन की कनेक्टिविटी देने की योजना बनाई जा रही है. जिसको नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे व यमुना एक्सप्रेस वे के समानांतर इसे एयरपोर्ट तक ले जाने की योजना है. जेवर एयरपोर्ट से आइजीआइ पहुंचने के लिए अल्ट्रा पीआरटी ( Personal Rapid Transit )  से अशोक नगर पहुंचकर आगे रैपिड ट्रेन लेनी होगी.

यहां से एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी के लिए मेट्रो का भी विकल्प है. एयरोसिटी से तुगलकाबाद के लिए मेट्रो रूट का निर्माण किया जारी है. प्राधिकरण द्वारा इस योजना को आगे बढ़ाते हुए नोएडा सेक्टर 142 तक जोड़ने की है. एक्वा मेट्रो के नॉलेज पार्क को दो स्टेशन यमुना एक्सप्रेस वे के समानांतर जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो ट्रैक बनाये जाने की तैयारी है. इससे बाद से ही आइजीआइ दिल्ली से जेवर एयरपोर्ट के बीच भी मेट्रो सेवा उपलब्ध हो जाएगी.

Delhi Metro News – टिकट को लेकर होने वाला है बड़ा बदलाव, टोकन खरीदने का नहीं रहेगा झंझट

इसमें होगीं ये सब खूबियां

अगर मेट्रो, रैपिड ट्रेन की तुलना में अल्ट्रा पीआरटी ( Personal Rapid Transit ) से करें तो इसकी लागत काफी कम है.

लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर यात्री परिवहन सेवा के लिए अल्ट्रा पीआरटी ( Personal Rapid Transit ) का उपयोग किया जा रहा है.

लागत  की बात की जाए तो यह मेट्रो व रैपिड ट्रेन की तुलना में काफी सस्ती है.

करीब करीब 6 गुना तक सस्ती पड़ेगी. पर्सनल रैपिड ट्रांजिट ( Personal Rapid Transit )

वहीं पीआरटी ( Personal Rapid Transit ) की रफ्तार की बात करें तो इसकी अधिकतम रफ्तार सौ किमी प्रति घंटा तक होगी.

इसके संचालन पर लागत खर्च दो रुपये प्रति किमी होगा.

सीईओ यमुना प्राधिकरण एवं नोएडा एयरपोर्ट इंटरनेशनल लिमिटेड द्वारा ये जानकारी मिली है कि प्रदेश सरकार ने जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट व आइजीआइ दिल्ली को जोड़ने के लिए एलिवेटेड रोड बनाने का प्रस्ताव भी केंद्र को भेज दिया है. लेकिन अभी इस पर पूरी तरह से फैसला लेना बाकी है.

 

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है किमैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ,मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ,ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से,जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ।कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं।"कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोयेऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"