पर्यटकों के लिए खुल गया है Uttarakhand, सरकार ने पाबंदियों को किया ख़त्म

कोरोना की वजह से सरकार ने सभी पर्यटन स्थलों को बंद करने के आदेश जारी किए थे. लेकिन उत्तराखंड ( Uttarakhand Tours ) के पर्यटकों के लिए अच्छी ख़बर आई है. तो अब अगर आप उत्तराखंड ( Uttarakhand Tours ) घूमने की योजना बना रहे हैं, तो खुश हो जाइए क्योंकि उत्तराखंड (Uttarakhand) में पर्यटकों के लिए कोरोना के चलते लगाई गयी पाबंदियां को ख़त्म कर दिया गया है.

पर्यटक अब उत्तराखंड (Uttarakhand) राज्य में कोरोना की जांच कराए बिना ही कई दिनों के लिए आ सकेंगे. यही नही अब से पयर्टकों को बॉर्डर पर कोरोना की 96 घंटे पुरानी नेगेटिव रिपोर्ट भी नहीं दिखानी होगी. इसी के साथ ही पर्यटकों के लिए अब होटल में दो रात के स्टे की अनिवार्य शर्त को भी हटा दिया गया है. जो कि उत्तराखंड ( Uttarakhand Tours ) पर्यटन के लिए अच्छी ख़बर है.

उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने मंगलवार को ये आदेश जारी किया है. अब उत्तराखंड (Uttarakhand) सरकार द्वारा जारी किए गए नए दिशा-निर्देशों के बाद पर्यटक बिना किसी रोक टोक के आ सकेंगे. पर्यटकों को उत्तराखंड (Uttarakhand) आने पर क्वारंटाइन भी नहीं होना पड़ेगा. इससे पर्यटकों की गतिविधि बढ़ने की उम्मीद लगाई जा रही है.

Uttarakhand Full Travel Guide : यहां लें उत्तराखंड के 41 Best Hill Station की पूरी जानकारी

जानकारी के अनुसार उत्तराखंड (Uttarakhand) सरकार ने दो दिन पहले ही यहां बाहर से आने वाले लोगों के लिए बॉर्डर पर जांच की व्यवस्था को खत्म कर दिया था. लेकिन पर्यटकों को बॉर्डर पर कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना या फ़िर कोरोना की जांच कराना ज़रूरी था. यही नहीं उत्तराखंड (Uttarakhand) में आने वाले पर्यटकों के लिए होटल या फ़िर होम स्टे में कम से कम दो रातों के स्टे की शर्त थी. लेकिन उत्तराखंड (Uttarakhand) सरकार ने अब इन शर्तों को खत्म कर दिया है.

उत्तराखंड (Uttarakhand) में घूमने के लिए अब पर्यटकों को उत्तराखंड (Uttarakhand) आने से पहले स्मार्ट सिटी पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा. पर्यटकों को होटल में आने पर चैक-इन करने के दौरान भी उन्हें कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट नहीं दिखानी होगी. इसी के साथ ही साथ थर्मल स्क्रीनिंग और सेनेटाइजेशन किया जाएगा. अगर होटल में ठहरने के दौरान किसी पर्यटक की तबीयत ख़राब होती है तो पर्यटक की कोरोना जांच कराई जाएगी और ऐसे में अगर रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो होटल प्रशासन को इसकी जानकारी स्थानीय प्रशासन को देनी होगी.

Uttarakhand Tours : पर्यटकों के लिए खुल गया उत्तराखंड, घूमने के लिए करना होगा ये काम

इस बेहतरीन मौसम में आप उत्तराखंड (Uttarakhand) की सैर की योजना बना सकते हैं. यहां का सुहावना मौसम और हिरयाली आपकी यात्रा के आनंद को कई गुना बढ़ा देगी. उत्तराखंड में आप ऋषिकेश, नैनीताल और मसूरी जैसी शानदार जगहों पर घूमने जा सकते हैं. आइए जानते हैं क्या कुछ खास है उत्तराखंड (Uttarakhand) में.

Rishikesh Tours

बात करते हैं ऋषिकेश की जो उत्तराखंड (Uttarakhand) राज्य में स्थित एक बहुत ही खूबसूरत पर्यटन स्थल हैं, यह आपको गंगा के दर्शन के साथ-साथ हिमालय की तलहटी में कई प्राचीन और भव्य मंदिर देखने को मिल जाएंगे. जो अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं, यही नही इसके अलावा यहां कई लोकप्रिय कैफे, योग आश्रम भी है. आपको ऋषिकेश में कई एडवेंचर स्पोर्ट्स जैसे व्हाइट वाटर राफ्टिंग, फ्लाइंग फॉक्स, माउंटेन बाइकिंग, बंजी जंपिंग आदि के साथ शानदार एक्टिविटीज भी देखने को मिल जाएंगी.

Nainital Full Travel Guide 2020 : कम बजट में ऐसे करें झीलों के शहर की यात्रा

Nainital Tours

नैनीताल जो अपनी सुंदरता की वजह से हर पर्यटक की पहली पसंद है. ये उत्तराखंड (Uttarakhand) राज्य के सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों में से एक है. जो पहाड़ियों के बीच में बसा है. इसे ‘नैनी झील’ के नाम से भी जाना जाता है. यहां कई सारी झीलें होने की वजह से ये झीलों की नगरी के रूप में जाना जाता है. उत्तराखंड (Uttarakhand) का नैनीताल बर्फ से ढकी पहाड़ियों और शांत झीलों के साथ-साथ अपनी हरियाली और सुहावने मौसम की वजह से पयर्टकों द्वारा बहुत पसंद किया जाता है.

Massourie Tours

मसूरी जहां आपको हर तरफ सुहावना मौसम और पहाड़ देखने को मिल जाएंगे. ये अपनी खूबसूरती से दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करता है. इसीलिये मसूरी को “क्वीन ऑफ द हिल्स” के नाम से भी जाना जाता है. उत्तराखंड (Uttarakhand) स्थित मसूरी की ऊंचाई समुद्र तल से लगभग 7000 फीट है. मसूरी पर्यटकों के घूमने के लिए एक शांत और मनोरम स्थल है.


 

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है किमैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ,मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ,ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से,जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ।कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं।"कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोयेऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"