Mehandipur Balaji Mandir Tour Blog – मेहंदीपुर बालाजी में करें ‘जरा हट कर’ ये 5 काम

Mehandipur Balaji – मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ), हनुमान जी के अहम मंदिरों में से एक है. देशभर और ख़ासतौर से उत्तर भारत से लाखों लोग हर महीने मंदिर में हनुमान जी के बाल रूप के दर्शन करने पहुँचते हैं और अपने संकट को दूर करते हैं. मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) मंदिर के दर्शन के लिए जो भी लोग आते हैं, उन्हें यहाँ मंदिर की जानकारी तो होती है लेकिन आसपास और क्या क्या करना है इसके बारे में उन्हें कुछ भी पता नहीं होता है. हालाँकि, श्रद्धालु समाधि वाले बाबा, तीन पहाड़ी मंदिर आदि की जानकारी जुटाकर वहाँ भी दर्शन करने जाते हैं. लेकिन आज इस आर्टिकल में आपको मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) के बारे में कुछ अनोखी बातें पता चलने वाली हैं. आइए जानते हैं कि मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) मंदिर के दर्शन के लिए अगर आप यहाँ आते हैं तो कौन कौन सी चीज़ें आप कर सकते हैं-

Teen Pahadi Mandir ki Trekking at Mehandipur Balaji

तीन पहाड़ी मंदिर, मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) में एक बेहद अहमियत रखने वाला मंदिर है. यहाँ आते वक़्त आप कई और भी मंदिरों के दर्शन कर सकते हैं. हालाँकि, सबसे अडवेंचरस होता है इस मंदिर तक पहुँचने के लिए की जाने वाली ट्रेकिंग. तीन पहाड़ी मंदिर के ट्रेक से आप बालाजी मंदिर ( Mehandipur Balaji ) के आसपास के सुंदर नज़ारे देखते हैं. ये ट्रेक आपको रास्ते भर में संस्कृति की झलकियाँ भी प्रस्तुत करता है.

Shilajit aur Hing ki Kharidari at Mehandipur Balaji

तीन पहाड़ी मंदिर के रास्ते में, आप सिर्फ़ संस्कृति की झलकियाँ और सुंदर नज़ारे ही नहीं देखते हैं बल्कि यहाँ से शिलाजीत और हींग की ख़रीदारी भी कर सकते हैं. हालाँकि, असली और नक़ली का फ़र्क़ ज़रूर कर लें. मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) में ख़रीदने के लिए असली शिलाजीत की पहचान कैसे करें, इसकी जानकारी आप नीचे दिए गए वीडियो से ले सकते हैं.

Photography and Food at Mehandipur Balaji

अगर आप यहाँ वॉक या ट्रेक करते हैं तो स्मार्टफ़ोन का इस्तेमाल तो करेंगे ही. लेकिन आपको ये जानकारी ख़ुशी होगी कि मंदिर परिसर के पास और तीन पहाड़ी मंदिर के रास्ते में, आपको फ़ोटोग्राफ़ी के लिए कई मौक़े मिलते हैं. ये मौक़े छोटी छोटी शॉप के रूप में होते हैं जहां आपको असली ऊंट की सवारी करते हुए भी फ़ोटो खिंचवाने का मौक़ा मिलता है. इसके साथ ही, आप अलग अलग लिबास पहनकर भी तस्वीरें खिंचवा सकते हैं.

अब फ़ोटोग्राफ़ी है तो फ़ूड में क्यों पीछे रहें. मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) में मिलने वाले किसी भी भोजन में प्याज़ और लहसुन का प्रयोग नहीं किया जाता है. जरा इस खाने को खाकर तो देखिए, आप उंगलियां चाटते रह जाएँगे. क्या कमाल का भोजन मिलता है यहाँ आप जगह जगह स्ट्रीट फ़ूड का मज़ा भी ले सकते हैं.

Mehandipur Balaji Sides Photo Frame for Wall Hanging, Best Offer

Mehandipur Balaji Frame Painting

Drink Milk after Dinner at Mehandipur Balaji

मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) में दर्शन के बाद अगर आप रात यहीं रुकते हैं तो डिनर के बाद होटलों के बाहर मिलने वाले दूध का मज़ा ज़रूर लें. ये दूध कड़ाहे में लगातार पकता रहता है और जला हुआ पीला दूध, मिठास और मलाई के साथ आपका दिन बना देता है. हाँ, पीने से पहले कड़ाहा ज़रूर देख लें. जहां दूध कम बचा हो तो सीधा मतलब है कि वहाँ काफ़ी देर से कड़ाहा जल रहा है. वहीं दूध पीने का असली मज़ा है.

Village Tour at Mehandipur Balaji

दोस्तों, मेहंदीपुर बालाजी ( Mehandipur Balaji ) को जिस गाँव के नाम से जाना जाता है, उसका नाम मेहंदीपुर ही है. आप मेहंदीपुर गाँव में एक विलेज वॉक भी कर सकते हैं. शहर के पास ही गाँव मिलने का मज़ा ही अलग है. छोटे से टूर में अगर आप गाँव की संस्कृति को देखना चाहते हैं तो ये मौक़ा परफ़ेक्ट है. यहाँ से थोड़ी ही दूर टोडाभीम नाम का क़स्बा भी है. आप समय निकालकर छोटी सी ड्राइव में वहाँ भी जा सकते हैं.