Trek पर जाने से पहले, ये Trekking Tips जरूर जान लें, बहुत काम आएंगे

Trekking Tips – Trekking करना ट्रैवलर की चाहत होती है. कुछ शौक और जुनून के लिए तो कुछ कुदरत के साथ दो पल बिताने के लिए इस हुनर को जी लेना चाहते हैं. Trekking का शौक युवाओं में तेजी से बढ़ रहा है. इस शौक को कई बार यूथ कर लेना चाहते हैं. हालांकि हाल के दिनों में ऐसा भी देखने में आया है जब Trekking के दौरान कई हादसे भी हुए हैं. कई बार कुदरत तो कई बार इंसानी गलती इसकी वजह बनती है. ऐसा मालूम हुआ है कि जरा सी गलती या लापरवाही की वजह से ट्रैकर्स ने अपने सिर मुसीबत मोल ले ली. आइए आज हम आपको बताते हैं कि कैसे आप अपनी Trekking को सुगम और यादगार बना सकते हैं, वो भी आसाना Trekking Tips को अपनाकर…

How to make Trek Plan

जब भी आप ट्रैकिंग की योजना बनाएं, सिर्फ जगह के बारे में पता लगाकर ही वहां न पहुंच जाएं. Trekking Spot पहुंचकर चढ़ाई शुरू कर देना एक अच्छे ट्रैवलर की निशानी नहीं हो सकती है. Trekking पर जाने से पहले सबसे पहले आप उस जगह के बारे में जानकारी जुटाएं. वहां के लोकल पुलिस स्टेशन, आसपास के गांव, टूरिस्ट्स की संख्या, इत्यादी की जानकारी जुटा लें. ध्यान रहे, ये Trekking Tips आपकी ही मदद करेंगी.

Luggage to carry on Trek Routes

जब आप Trekking करने की प्लानिंग कर रहे हों तो जो दूसरा जरूरी काम आपको करना है, वह है सामान का फैसला करना. अगर आप भी फोटोज या टीवी शोज की देखादेखी कंधे पर मोटा बैग टांगकर Trekking पर निकल जाना चाहते हैं तो आपके लिए यह कतई मुनासिब नहीं होगा. आपको इस पॉइंट में Trekking Spot के मौसम की जानकारी जुटानी होगी. फला स्थल पर मौसम अगर सर्दी का है, तो उसके हिसाब से खुद को तैयार करना होगा और हां, अगर गर्मी है तो खुद को उसी तरह से ढालना होगा. बरसात में Trekking बिल्कुल न करें. Trekking के दौरान आप BagPack कैरी करें. इसके साथ ही जो सामना आपको जरूरी होगा, उसमें Trekking Pole, Windproof Jacket, Thermal Underwear, Hat-Pair of Gloves, Comfortable hiking trousers, 2 pair of warm socks, hiking shoes, running shoes, t-shirts हैं. इन सभी सामनों को मौसम के हिसाब से ही रखें. ये Trekking Tips भी आपके काम के हैं.

Best Trek Gear

Trekking Gear में pair of polarizing sun glasses, backpack and backpack cover, Trekking Area का Map, Head Tourch या Small Tourch को कैरी करें. इसके अतिरिक्त अगर आपको जरूरत हो तो आप Toiletries, एक Small Towel, Soap Bar, Earplug, First Ad Kit, Water Filter, कुछ Diamox Tablets और Toilet Papers भी साथ ले जा सकते हैं. साथ ही साथ, अगर आप फोटोग्राफी का शौक रखते हैं तो कैमरा, बैटरी लेकर जा सकते हैं. इसके अलावा कंपास, बुक्स, जीपीएस यूनिट, पॉकेट नाइफ, कैंडल्स, डायरी और नोटबुक भी लेकर Trekking के लिए जा सकते हैं.

Trekking and Camping

अगर आपकी प्लानिंग Trekking के साथ साथ Camping करने की भी है तो आपको Tent, Stove और Fuel, Cooking, Eating और Drinking utensils, sleeping mat, food और water भी लेकर जाने की जरूरत होगी.

How to do Solo Trek

वैसे तो हम आपको यही हिदायत देंगे कि आप Solo Trekking से दूर ही रहें लेकिन फिर भी अगर आप ऐसा करना चाहते हैं तो हमारी राय के हिसाब से आपको वही Trekking Spot चुनना चाहिए जिसपर अच्छी खासी संख्या में लोग Trekking के लिए आते हो. सुनसान Trekking Spots से आपको दूर रहना चाहिए. Solo Trekking के दौरान आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका मोबाइल नेटवर्क सही काम कर रहा हो. फोन में बैलेंस रहे. आपकी सेहत दुरुस्त रहे और आपके पास वह सभी सामान हों जो Trekking के लिए जरूरी होते हैं.

How to do Group Trek

Group Trekking के दौरान अच्छा यही रहता है कि सभी लोग आपके जानने वाले हों फिर भी अगर किसी ट्रैवल कंपनी के पैकेज से आपको पहली बार किसी ग्रुप के साथ Trekking का अवसर मिलने जा रहा है तो सभी सदस्यों के संग एक हेल्दी रिलेशन बनाकर चलें. एक-दूसरे में सामंजस्य पैदा करने की कोशिश करते हैं. दूसरों की मदद करने में परहेज न करें. वहीं, अगर ग्रुप आपके दोस्तों और फैमिली का है तो जोश में न आएं, संभलकर ही Trekking को पूरा करें.

ट्रैकिंग पर जाने से पहले अपना डॉक्टर से मेडिकल चेकउप भी करवा ले और जब आप शारीरिक तौर पर पूरी तरह से स्वस्थ हो तभी ट्रैकिंग पर जाए। वहीं जब भी आप किसी भी क्षेत्र में ट्रैकिंग के लिए जाते हैं तो वहां के मौसम की जानकारी भी आपके पास होनी चाहिए। मौसम विभाग से प्रतिकूल क्षेत्र के वातावरण की जानकारी आपको जरूर लेनी चाहिए। अक्सर लोग बिना मौसम की जानकारी के ट्रकिंग करने निकल पढ़ते है वही जब अचानक मौसम में परिवर्तन आता है तो अनचाही परेशानिया उनके सामने आ खड़ी होती है। जिस जगह पर आप ट्रैकिंग करने जा रहे है उस जगह का रोड मैप, होटल, धर्मशाला, स्थानीय बस्तियां, जगह का नाम, लोकल ऑथोर्टीज़ के हेल्पलाइन नंबर इत्यादि आपको पता होने चाहिए।

अपने साथ ट्रैकिंग स्टिक भी ज़रूर रखे। कुछ लोग ट्रैकिंग करते वक़्त अपने साथ ट्रैकिंग स्टिक नहीं रखते और वो लोग बाद में पछताते हैं ऐसा इसलिए करे क्योकि ट्रैकिंग करते समय आप पहाड़ के ऊपर के हिस्से में चढ़ रहे होते है और गुरुत्वाकर्षण का बल निचे की ओर होता है। वही चढ़ाई चढ़ने में परेशानी न हो इसी लिए हम ट्रैकिंग करते समय ट्रैकिंग स्टिक अपने साथ रखते है। जिसकी वजह से आप जल्दी नहीं थकते।

 

Taranjeet Sikka

एक लेखक, पत्रकार, वक्ता, कलाकार, जो चाहे बुला लें।