100 साल पहले ब्रिटिश सरकार ने आज ही के दिन ताजमहल पर लिया था बड़ा फैसला, अब दिख रहे नतीजे

Tajmahal fact: दुनिया के सात अजूबों में शुमार ताजमहल को संरक्षित स्मारक घोषित करने का प्रीलिमिनरी नोटिफिकेशन आज के ही दिन 100 वर्ष पूर्व हुआ था. ब्रिटिश काल में 18 नवंबर, 1920 को ताजमहल को संरक्षित स्मारक घोषित करने को पहला कदम उठाया गया था. (Tajmahal fact) सौ वर्षों के सफर में ताजमहल भारत के पर्यटन की पहचान तो बना ही, प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से आश्रित पांच लाख लोगों की आजीविका का जरिया भी बना.

Honeymoon in agra : प्यार के प्रतीक आगरा में मनाएं अपना हनीमून, यहां से लें पूरी जानकारी

ताजमहल को संरक्षित स्मारक घोषित करने को ब्रिटिश काल में उठाए गए कदम का उल्लेख डी. दयालन (आगरा में अधीक्षण पुरातत्वविद के पद पर तैनात रहे) ने अपनी किताब ताजमहल एंड इट्स कंजर्वेशन में किया गया है. दयालन लिखते हैं कि ताजमहल को राष्ट्रीय महत्व का संरक्षित स्मारक घोषित करने के लिए प्रीलिमिनरी नोटिफिकेशन 18 नवंबर, 1920 को हुआ था.

How to Travel in Tajmahal : क्या करना है, क्या नहीं करना है, 1 मिनट में जानें

दो दिन बाद 20 नवंबर, 1920 को यह प्रकाशित हुआ था. ताजमहल को संरक्षित स्मारक घोषित करने का प्रीलिमिनरी नोटिफिकेशन 22 दिसंबर, 1920 को कंफर्म किया गया था. ताज को संरक्षित स्मारक घोषित करने को ब्रिटिश काल में उठाए गए पहले कदम के सौ वर्ष बुधवार को पूरे होने जा रहे हैं.

अपने बजट में रहकर वीकेंड में घूमकर आएं ये पांच जगहें

ताजमहल आज भारतीय पर्यटन की शान है. काेराेना काल में इंटरनेशनल फ्लाइट और टूरिस्ट वीजा के अभाव में विदेशी पर्यटक यहां नहीं आ पा रहे हैं, लेकिन दूतावासों, नौकरी के सिलसिले में भारत आए विदेशी ताजमहल के दीदार को आगरा आ रहे हैं. कोरोना काल में लागू कैपिंग के बावजूद भारतीय पर्यटक भी प्रतिदिन अच्छी संख्या में आ रहे हैं.

Agra Tour Guide : आगरा में ताजमहल के अलावा ये 9 जगहें भी घूमें, यहां से लें Full Information

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे