कोराना के कारण गुजरात के सापुतारा हिल स्टेशन में पर्यटकों का आना हुआ कम

Saputara hill station : सापुतारा एक आकर्षक हिल स्टेशन है जो भारतीय राज्य गुजरात के डांग जिले में स्थित है. सपुतारा एक मंत्र मुग्ध करने वाले दृश्यों , शानदार झरने, प्राकृतिक पार्क और वन्यजीव अभयारण्य के लिए घने जंगल से गुजरात में सुंदर पर्यटन स्थल है. लेकिन कोरोना के चलते सापुतारा बंद हो गया था.

अब गुजरात के सापुतारा हिल स्टेशन में पर्यटकों का आना एक बार फिर शुरू हो गया है. कोरोना महामारी के कारण प्रतिबंधों के बीच यहां लोगों का बंद हो गया था, लेकिन अब एक बार फिर से लोगों का आना शुरू हो गया है. हालांकि, हर साल की तुलना में इस साल सापुतारा हिल स्टेशन में लोगों की भीड़ कम दिख रही है. नासिक के एक पर्यटक हेतल मकवाना कहते हैं, “मैं हर साल यहां आता हूं. कोविड-19 के कारण यहां लोगों की भीड़ पिछले सालों की तुलना में बहुत कम है.

Saputara Hill Station : Gujarat का एक मात्र Hill Station

बता दें कि यह गुजरात का इकलौता हिल स्टेशन है. सापुतारा सह्याद्रि पर्वतमाला के बीच करीब 1000 मीटर की ऊंचाई पर बसा एक शांत और मनोरम हिल स्टेशन है. सापुतारा हिल स्टेशन डांग जिले के जंगली क्षेत्र में स्थित है. यह हिल स्टेशन मानसून फेस्टिवल के लिए परफेक्ट माना जाता है. इसमें आप नायाब कुदरती नजारों के साथ-साथ मनोहारी गीत-संगीत, लोक संस्कृति और एडवेंचर एक्टिविटी का भी पूरा आनंद ले सकते हैं. इनका बंदोबस्त गुजरात टूरिज्म द्वारा किया जाता है.

Ghrishneshwar Jyotirlinga क्यों है शिव का अनोखा ज्योतिर्लिंग, इसके पीछे है दिलचस्प तथ्य

How to reach Saputara

सापुतारा एक पहाड़ी इलाके में स्थित है और सड़क मार्ग से महाराष्ट्र और गुजरात के शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. इसके पास एक हवाई अड्डा नहीं है लेकिन आप गांधीधाम से यहां पहुंच सकते हैं. सापुतारा तक पहुंचने का तरीका यहां है.

By Air

नजदीकी हवाई अड्डा गांधीधाम हवाई अड्डा है.

By Train

वाघई रेलवे स्टेशन सापुतारा से लगभग 50 किमी दूर है. यह स्टेशन मुंबई और गुजरात के अन्य शहरों से सीधे जुड़ा हुआ है. सपोटरा के लिए वाघई से टैक्सी उपलब्ध हैं. हालांकि, बिलिमोरा सबसे सुविधाजनक रेल प्रमुख होगा. बिलिमोरा सीधी बस सेवा द्वारा सापुतारा से जुड़ा हुआ है.

By Roa

सापुतारा एक पहाड़ी इलाके में होने के कारण महाराष्ट्र और गुजरात के पड़ोसी शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. सरकारी और निजी दोनों बसें पर्यटकों के लिए नियमित सेवाएं प्रदान करती हैं.

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे

error: Content is protected !!