Uttarakhand Travel Guide- Long Weekend Tour के लिए निकल जाइए उत्तराखंड, अब कोई नियम नहीं बाकी

Uttarakhand Travel Guide- उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के चलते पर्यटन पर लगाए गए प्रतिबंध हटने के बाद उत्तराखंड (Uttarakhand Travel Guide) के नैनीताल और इसकी आस पास की जगहों पर सैलानियों की भीड़ देखी गई. लोग अपनी फैमिली के साथ एन्जॉय करते दिखे. सरकार ने पर्यटन से रोक हटाकर एक बार फिर सैलानियों के चेहरे पर मुस्कान बिखेर दी है. इसी के साथ कई समय से बंद चल रहे पर्यटन के लिए भी अब अच्छे दिन आ गए हैं. दो अक्तूबर से लगातार तीन दिनों की छुट्टी होने की वजह से नैनीताल के कई होटलों में सैलानियों ने एडवांस में ही बुकिंग करा ली है. जिससे की कोई परेशानी ना उठानी पड़े. इस वजह से अक्टूबर महीने के फर्स्ट वीक के लिए कई होटल अभी से पैक हो गए हैं.

 

Nainital Full Travel Guide 2020 : कम बजट में ऐसे करें झीलों के शहर की यात्रा

 

 

बीते शनिवार को उत्तराखंड के नैनीताल (Uttarakhand Travel Guide) में सैलानी उमड़े तो कोरोना काल में पहली बार नो पार्किंग का बोर्ड नजर आया. होटल कारोबारियों की मानें तो, अब वीकेंड पर भीड़ बढ़ने लगी है. और लोगों ने आना जाना शुरू कर दिया है. आपको बता दें अक्टूबर के पहले हफ्ते में शुक्रवार को गांधी जयंती की छुट्टी है और उसके बाद शनिवार और फ़िर रविवार की छुट्टी. इस तरह लगातार तीन दिन अवकाश होने की वजह से सैलानियों ने नैनीताल में एडवांस बुकिंग करानी शुरू कर दी है.

 

पर्यटकों के लिए खुल गया है Uttarakhand, सरकार ने पाबंदियों को किया ख़त्म

 

 

उत्तराखंड (Uttarakhand Travel Guide) के नैनीताल होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष दिनेश साह का कहना है कि अक्टूबर से एक बार फ़िर सीज़न चल निकलेगा. एसोसिएशन के जनसंपर्क अधिकारी आलोक साह ने कहा कि अभी तक सैलानी इसलिए घूमने नहीं आ रहे थे क्योंकि उन्हें अपने साथ कोरोना जांच प्रमाण पत्र लाने पड़ते थे या फ़िर बॉर्डर पर जांच करानी पड़ती थी. लेकिन इन सबसे चीजों से राहत मिलने के बाद एक बार फिर सैलानियों ने घूमना फिरना शुरू कर दिया है.

अब रोक हटने की वजह से सैलानी खुशी-खुशी घूमने आ रहे हैं. साह का कहना है कि जब से प्रतिबंध हटाया गया है तभी से होटलों में बुकिंग को लेकर पूछताछ एक बार फिर से बढ़ गई है. जिसके चलते यूपी, एनसीआर, हरियाणा और दिल्ली के सैलानी यहां अपने लिए कमरे बुक करा रहे हैं.

 

[youtube https://www.youtube.com/watch?v=V07c9mBWmwo]

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है किमैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ,मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ,ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से,जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ।कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं।"कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोयेऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"