https://business.facebook.com/settings/security/business_verification?business_id=361906945015389

Darjeeling Tour – जाने से पहले सरकार की नई गाइडलाइंस को एक बार ज़रूर पढ़ लें

Darjeeling एक फेमस टूरिस्ट डेस्टिनेशन है. दार्जिलिंग में एक से बढ़कर एक टूरिस्ट डेस्टिनेशंस हैं. दार्जिलिंग की चाय की भी अपनी एक कहानी है. अगर आप दार्जिलिंग जाने का प्लान बना रहे हैं तो आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए दार्जिलिंग की यात्रा ( Darjeeling Tour ) से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां देने जा रहे हैं.

देशभर में और दार्जिलिंग में भी, कोरोना की वजह से अभी तक होटल और रेस्तरां बंद चल रहे थे लेकिन कई जगह अब सरकार ने होटलों को खोलने के भी दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. इसी सिलसिले में, पश्चिम बंगाल सरकार ने होटल और रेस्तरां को एक बार फिर से खोले जाने की अनुमति दे दी है. पश्चिम बंगाल सरकार की प्रेस रिलीज में सेहत से जुड़े मानदंडों और स्वास्थ्य के प्रोटोकॉल को बनाए रखने के आदेश दिए हैं.

अब पर्यटक पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में घूमने ( Darjeeling Tour ) जा सकते हैं. दार्जिलिंग ( Darjeeling ) पर्यटकों की पंसदीदा जगहों में से एक है. कपल हनीमून के लिए ये एक बेस्ट डेस्टिनेशन है, तो चलिए अब हम आपको कराते हैं दार्जिलिंग (Darjeeling) की सैर. जानिए यहां कैसे जाना है, यहां पर कहां-कहां घूमना है, यात्रियों को क्या नए रूल्स फॉलो करने हैं. ये सब जानकारी आपको यहां मिलेगी.

देश का पहला GLASS SKYWALK यहां खुल गया है, आप गए क्या?

दार्जिलिंग (Darjeeling) अपने हरे-भरे चाय के बागानों के लिए दुनिया भर में जाना जाता है. ये जगह चाय प्रेमियों के लिए बहुत अच्छी है. दार्जिलिंग ( Darjeeling ) की जितनी तारीफ़ की जाये उतना ही कम होगा. यहां उगते सूरज के सुंदर नजारे के साथ ही बर्फ से ढके बादल हर तरफ देखने को मिल जाएंगे. आप अपनी नज़र यहां से हटा नहीं पायेंगे.

दार्जिलिंग ( Darjeeling ) में स्थित ‘कंचनजंघा’ और यहां के घने जंगल, पहाड़ियां, मंदिर, गुफा व रहस्यमयी झीलों से घिरा ये बेहद ख़ूबसूरत शहर पर्यटकों के लिए हमेशा से ही आकर्षण का प्रमुख केंद्र रहा है.

Types of Tea in India : आप किस चाय के दीवाने हैं ? पढ़कर बताइए

दार्जिलिंग ( Darjeeling ), भारत के ख़ूबसूरत शहरों में से एक है. इसकी खूबसूरती के चर्चे हर जगह सुनने को मिल जाएंगे. वहीं, दार्जिलिंग ( Darjeeling ) में आपको घूमने के लिए बहुत सी जगह मिलेंगी. उनमें से कुछ खास जगह हैं – घूम रॉक, टाइगर हिल, बतासिया लूप, संदक्फू, विक्टोरिया वाटरफॉल, लेबांग रेसकोर्स, सेनथल झील, रॉक गार्डन, सिंगला, घूम मठ, तादाख, मजितार, लायड वनस्पति उधान, जापानी मंदिर, नेचुरल हिस्ट्री म्युजियम, हिमालय पर्वतारोहण, शाक्या मठ, चाय के बागान, रोपवे, श्रवरि, गर्ग वर्ल्ड एम्यूज़मेंट पार्क, हिमालय हिन्दी भवन व सुखिया पोखरी.

ये जगहें आपकी यात्रा को और भी मज़ेदार बना देंगी. अगर आप इन सभी सुंदर और शांत स्थलों को देखना चाहते हैं तो एक बार आपको दार्जिलिंग घूमने ( Darjeeling Tour ) का प्लान ज़रूर बनाना चाहिए. अगर आप दार्जिलिंग जाने का प्लान ( Darjeeling Tour ) बना रहे हैं तो सरकार द्वारा दी गईं गाइडलाइंस को एक बार ध्यान से पढ़ लीजिये.

– होटलों की स्वच्छता और कामकाज के लिए बनाई गई प्रक्रिया

  • सभी होटलों को सख्त नियमों का पालन करते हुए सफाई का पूरा ध्यान देना चाहिए. नियमों का पालन न करने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई हो.

 

  • एक की गलती बहुत से लोगों को प्रभावित कर सकती है और सभी के लिए खतरा बन सकती है. – सभी कर्मचारी अच्छे ढंग से काम कर सके इसके लिए उनकी शॉर्ट कॉउंसलिंग की जाए.

 

  • रिसेप्शन / फ्रंट डेस्क / ट्रेवल डेस्क गेस्ट और होटल के कर्मचारियों के बीच जहां भी बातचीत हो वहां स्क्रीन प्रोटेक्टर लगाना ज़रूरी है. हमें गेस्ट से कम से कम कॉन्टेक्ट में आना चाहिए.

 

  •  सभी कर्मचारियों को डेली टेम्परेचर चेकिंग के साथ टफ रूटीन फॉलो करना होगा.

 

  • निम्नलिखित सभी गाइडलाइंस को उनके आईडी प्रूफ की चेकिंग के समय गेस्ट को भेजा जाना चाहिए. सभी नियमों और गाइडलाइंस का पालन करने की मंजूरी. होटल के पास एंट्री को रेस्ट्रिक्ट करने का अधिकार है, अगर गेस्ट होटल के नियमों का पालन नहीं करते हैं.

 

  • हर टैक्सी / टैक्सी को हर बार बैठने के साफ किया जाए. ये सिक्युरिटी के हिसाब से हो

 

  • सभी ड्राइवरों / गेस्ट / होटल के कर्मचारियों / मालिकों के लिए Sanitizers और नए स्पेयर मास्क टैक्सी में प्रोवाइड कराए जाएंगे. गेस्ट / पर्यटकों को बिना मास्क के जाने की अनुमति नहीं है.

 

  • इसके अलावा, मास्क वाहनों में हर समय उपलब्ध होना चाहिए.

 

  • एडवांस चेक-इन को एनकरैज किया जाए. प्रॉपर गवर्नमेंट की फोटो आईडी सभी व्यक्तियों से बुकिंग के समय या गेस्ट अराइवल से पहले ले ली जानी चाहिए. जिससे होटल कर्मचारियों से संपर्क कम करना पड़े. सभी चेकिंग फॉर्मेलिटी गेस्ट अराइवल से पहले पूरी की जानी चाहिए.

 

  • गेस्ट अराइवल से पहले जीआरसी को भी तैयार किया जाना चाहिए. उनके अराइवल से पहले गेस्ट्स को रूम एलोकेट किए जाएं. गेस्ट्स को रिसेप्शन / लॉबी / सामान्य जगहों पर कम से कम समय रुकना चाहिए. यात्रा के समय गेस्ट की डिटेल्स जैसे हिस्ट्री, मेडिकल हिस्ट्री, अन्य, बुकिंग के समय नोट की जानी चाहिए.

 

  • जीआरसी के लिए उपयोग में लाई जा रही स्टेशनरी को सैनिटाइज़ किया जाना चाहिए.

 

  • फैमिली / ग्रुप का केवल एक प्रमुख चेक-इन करे. हर समय सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें.

 

  • गेस्ट के कमरे की चाबियों को सौंपने से पहले उन्हें सैनिटाइज़ किया जाए और चाबियों होटल से मिल जाने के बाद एक बार फ़िर सैनिटाइज़ करें. हमें कम से कम नए गेस्ट को रूम एलोकेट करने की कोशिश करनी चाहिए.

 

  • पुराने गेस्ट को चेक-आउट के 48-72 घंटे का समय दिया जाएगा.

 

  • होटल में एंट्री करते समय गेस्ट, कर्मचारियों, मालिकों, के साथ ही साथ हर व्यक्ति के टेम्परेचर की जाँच होगी.गेस्ट के अराइवल पर, उनके कपड़े, जूते और सामान को अच्छी तरह से साफ होने चाहिए.

 

  • जरूरत पड़ने पर गेस्ट को मास्क प्रोवाइड कराएं. रिसेप्शन और फ्रंट डेस्क पर हर समय मास्क उपलब्ध होना चाहिए. Sanitizers होटल द्वारा सभी कमरों और सुविधाजनक स्थान पर उपलब्ध कराएं.

 

  • फ्लोर मार्कर और दिशानिर्देश सभी महत्वपूर्ण और सुविधाजनक स्थानों पर लगाएं जिससे गेस्ट को नियमों की जानकारी आसानी से मिल सके.-
  • सभी कॉमन एरिया / सोफे / आम बैठने की जगह को बंद कर दिया जाना चाहिए. जिससे हर समय गेस्ट उपयोग न कर सकें. ये सभी कर्मचारियों और गेस्ट की की सुरक्षा के संबंधित है.

 

  •  सभी कर्मचारियों के लिए मास्क और ग्लव्स ज़रूरी हैं. ग्लव्स को डेली बदला जाए.

 

  • अगर होटल में कोई भी कर्मचारी / मालिक / संबंधित व्यक्ति अच्छा ना महसूस करे, तो उन्हें घर पर रुकना चाहिए और काम पर नहीं जाना चाहिए. इस तरह उन्हें खुद को और दूसरों को सुरक्षित रखना चाहिए. अगर बहुत ज़्यादा तबियत खराब है, तो डॉक्टर से सलाह लें.

 

  •  सभी कॉमन एरिया और सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली जगहों जैसे दरवाजे और खिड़की के हैंडल, लिफ्ट बटन, लिफ्ट्स को डेली सैनिटाइज्ड किया जाना चाहिए. एक समय में लिफ्ट में 2 से ज़्यादा लोगों को यूज़ करने की अनुमति ना दी जाए.

 

  •  गेस्ट चेक-आउट के बाद कमरे में, सभी बिजली के सॉकेट, टेलीफोन रिसीवर, टेलीविजन रीमोट, बाथरूम फिटिंग और चीजों को पूरी तरह से हाउसकीपिंग द्वारा साफ़ किया जाना चाहिए.

 

  • स्प्रे कीटाणुनाशक का उपयोग डेली कमरे कीटाणुरहित करने में लिए किया जाना चाहिए.

Monsoon Travel in India – इस मानसून घूम लें भारत की टॉप-30 जगहें

 

  • – चाय बनाने वाले, चाय / कॉफी के पाउच, कप, ऐशट्रे ये  सभी आइटम हो सकते हैं. इन सभी आइटम जिनपर हाँथ लगते हैं उन्हें बाहर निकालें, जिससे वायरस के ट्रांसफर होने का ख़तरा कम हो सके.

 

  • अगर रेस्तरां का उपयोग किया जाता है, तो सोशल डिस्टनसिंग के मानदंडों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए. और सैनिटाइज़ेशन के पूरा ध्यान रखना चाहिए.

 

  •  डिजिटल मेनू तैयार किये गए हैं जिन्हें हर गेस्ट के कमरे में फ़ूड आर्डर करने के लिए भेजा जा सकता है क्योंकि किसी तरह के बुफे की अनुमतु नहीं है.

 

  • कम से कम लोगों से कांटेक्ट में आने का प्रयास करें। न्यूनतम संपर्क रखने और कांटेक्ट लेस डिलीवरी चुनकर रूम में ही फ़ूड आर्डर करें.

 

  • अगर रेस्तरां खुला और काफी बड़ा है, तो हर टेबल को कम से कम 6 फीट के डिस्टेंस में रखना चाहिए.

 

  •  गेस्ट को एक दूसरे से दूर टेबल एलोकेट कराई जानी चाहिए. जिससे अन्य गेस्ट से दूरी बनाई जा सके.

 

  •  सभी सीट्स, टेबल और कटलरी को पहले और यूज़ करने के बाद में साफ किया जाना चाहिए. कटलरी और प्लेट्स को टेबल पर नहीं रखना चाहिए, और
    ज़रूरत पड़ने पर ही एक इस्तेमाल करना चाहिए.

 

  • सभी प्रीपेड बुकिंग और पेमेंट के साथ फ्लेक्सीबल रहें, क्योंकि यह सभी के लिए एक कठिन समय है. ना कि गेस्ट्स के लिए / के साथ परेशानी पैदा करने का. अगर कोई कैंसलेशन हो तो कृपया उसका रिफंड करें और फ्लेक्सिबल कैंसलशन पॉलिसी को अपनाएं.

 

  • समस्याओं और विभिन्न अप्रत्याशित कारणों के कारण पर्यटकों को यात्रा करने में परेशानी हो सकती है. ऐसे में घबराएं नहीं कूल रहें और गेस्ट,कर्मचारी, होटल से संबंधित लोग जैसे किराने, कपड़े धोने की सेवाएं, लोकल दुकान के मालिक, आदि सभी के साथ अच्छे संबंध बनाए रहें. ये समझते हुए कि हम सब अभी गंभीर स्थिति में हैं. हम सभी को एक हेल्थी वर्क एनवायरनमेंट की ज़रूरत है. अगर कोई परेशानी है, तो हमें अपने करीबी से बात करनी चाहिए और समस्या से कैसे बाहर आया जाये इस पर बात करनी चाहिए.

 

भारत में 10 Best Honeymoon डेस्टिनेशन, जहां आपका हमीमून बन जाएगा यादगार

 

Best Time to Visit Darjeeling?

गर्मियों का महीना यानी की अप्रैल से जून के बीच दार्जिलिंग ( Darjeeling Tour ) जाने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि इस समय दार्जिलिंग (Darjeeling) में बहुत ज्यादा गर्मी नहीं पड़ती औऱ मौसम भी बहुत अच्छा रहता है. बात दें गर्मी के मौसम में भी दार्जिलिंग (Darjeeling) का औसत तापमान 25 डिग्री के आसपास रहता है. दिनभर यहां अच्छी हवा चलती है और शाम को मौसम भी मस्त होता है. ऐसे में आप दार्जिलिंग (Darjeeling) जाकर वहां की साइटसीइंग के साथ ही कई दूसरी आउटडोर ऐक्टिविटीज का मज़ा उठा सकते हैं.

Darjeeling Hill Station : Darjeeling भारत के सबसे खूबसूरत शहरों में से एक

How to visit Darjeeling?

अगर आप दार्जिलिंग (Darjeeling) जाने की योजना बना रहे हैं तो यहाँ पर पहुंचने के लिए सबसे नजदीकी एयरपोर्ट बागडोगरा है. जो यहां से करीब 67 किलोमीटर दूर है और वहीं सड़क मार्ग के जरिए जाना चाहते हैं तो ढाई घंटे में आप एयरपोर्ट से दार्जिलिंग (Darjeeling) पहुंच सकते हैं. वहीं रेलवे स्टेशन न्यू जलपाइगुरी है जो यहां से करीब 70 किलोमीटर दूर है और ढाई से तीन घंटे में रेलवे स्टेशन से दार्जिलिंग (Darjeeling) आसानी से पहुंचा जा सकता है. अगर आप चाहें तो गंगटोक, कलिम्पोंग, सिलिगुरी जैसे शहरों से सड़क मार्ग से भी दार्जिलिंग जा सकते हैं.

Anchal Shukla

मैं आँचल शुक्ला कानपुर में पली बढ़ी हूं। AKTU लखनऊ से 2018 में MBA की पढ़ाई पूरी की। लिखना मेरी आदतों में वैसी शामिल है। वैसे तो जीवन के लिए पैसा महत्वपूर्ण है लेकिन खुद्दारी और ईमानदारी से बढ़कर नहीं। वो क्या है किमैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखती हूँ,मैं बातें भूल भी जाऊं तो लहज़े याद रखती हूँ,ज़रा सा हट के चलती हूँ ज़माने की रवायत से,जो सहारा देते हैं वो कंधे हमेशा याद रखती हूँ।कुछ पंक्तिया जो दिल के बेहद करीब हैं।"कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हँसे हम रोयेऐसी करनी कर चलो, हम हँसे जग रोये"