Ganga Expressway : महज 5 घंटे में पहुंच सकेंगे मेरठ से प्रयागराज

Ganga Expressway: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि सरकार के अधिकारी अगले साल तक मेरठ से इलाहाबाद तक जाने वाले 36,410 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले गंगा एक्सप्रेसवे पर काम शुरू करें.

पूर्वांचल और बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के बाद निर्माण की तैयारियों की समीक्षा करते हुए योगी आदित्यनाथ ने ग्रीनफील्ड परियोजना शुरू करने के लिए “मिशन मोड” में काम करने के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिया है.

जानिए दरभंगा से दुबई तक की यात्रा अब कैसे होगी आसान

आदित्यनाथ ने एक बयान में कहा, ‘594 किलोमीटर लंबे छह लेन के एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास, जो आठ-लेन तक विस्तृत है, जून 2021 में किया जाएगा और तब तक भूमि अधिग्रहण का 90 प्रतिशत पूरा हो जाना चाहिए.’

Honeymoon in Haflong : भीड़भाड़ से दूर प्रकृति की गोद में मनाए हनीमून, जिंदगीभर याद रहेगा सफर

अनुमानित 9,255 करोड़ अधिग्रहण के लिए खर्च किए जाएंगे, जबकि 22,145 करोड़ नागरिक कार्यों के लिए जाएंगे. बयान के अनुसार राजमार्ग मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और इलाहाबाद के बारह जिलों से होकर गुजरेगा.

एक देश जहां नहीं है कोई Mosque और ना ही इसे बनाने की है अनुमति

आदित्यनाथ ने इन सभी जिलों में औद्योगिक क्षेत्रों की स्थापना करने के लिए कहा कि बुनियादी ढांचा विकास उनकी सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में से एक है. फंडिंग के लिए राज्य सरकार को बैंकों से ऑफर के अलावा कुछ विदेशी प्रस्ताव भी मिले हैं. बयान में कहा गया है कि सभी विकल्प जांच की प्रक्रिया में हैं.

 

Komal Mishra

मैं कोमल... तो चलिए अपनी लेखनी से आपको घुमाती हूं... पहाड़ों की वादियों में और समंदर के किनारे